Hindi

वर्जिनिटी खोने के बाद एक लड़की का शरीर किस तरह बदलता है?

losing virginity changes

क्या आपने आलिंगन और किस से आगे बढ़ने का फैसला किया है? क्या अंततः आपके मन में सेक्स आ चुका है? अगर आपका उत्तर एक बड़ा सा आत्मविश्वास भरा ‘हाँ’ है तो आप वर्जिनिटी क्षेत्र से दूर लस्ट की ज़मीन पर जाने के लिए तैयार हैं जहां आपके शरीर के साथ समीकरण बदलने की संभावना है। सेक्स करना आपको कई तरीकों से बदल सकता है, और भावनात्मक प्रभाव काफी हद तक व्यक्तिपरक हो सकता है लेकिन वर्जिनिटी खोने के बाद आपका शरीर कई तरीकों से बदलता है।

अपनी वर्जिनिटी खोना एक बड़ी बात है। हममें से अधिकांश के मन में एक निश्चित विचार रहता है कि हमारी पहली बारी कैसी होगी। चाहे यह योजना के मुताबिक हो या ना हो, यह फिर भी हमेशा के लिए यादों में अंकित हो जाएगा। और फिर बहुत सारे संदेह और मिथक हैं। वर्जिनिटी खोने के आफ्टर इफेक्ट्स के बारे में प्रश्नों की पूरी एक सूची है जो आपके दिमाग में घूमेगी। रूढ़िवादी धारणा को अब अलग रखा जा सकता है कि पहली बार बहुत दर्द होता है। दिलचस्प बात यह है कि जर्नल ऑफ सेक्स रिसर्च द्वारा 6000 युवा वयस्कों के बीच किए गए एक अध्ययन में पाया गया कि आज पहले की तुलना में काफी ज़्यादा महिलाएं यौन संभोग के पहले शॉट का आनंद ले रही हैं।

वर्जिनिटी खोने के बाद आपके शरीर में होने वाले शारीरिक परिवर्तन

जब आप अपना पहला यौन कार्य करेंगी तो आपके शरीर में कुछ बदलाव आएंगे। ये बदलाव बहुत चकित करने वाले नहीं होंगे लेकिन ऐसे होंगे जो आपको मीठी सी चुभन वाला दर्द देंगे। यहां यह भी जोड़ा जा सकता है कि पहली बार सेक्स करने के बाद विभिन्न लोगों को अलग-अलग बदलावों का अनुभव होता है, और नीचे दिए गए परिवर्तन आपको एक आइडिया देने के लिए है। जब बात सेक्स की आती है तो सबका अनुभव समान नहीं होता है। अब जब आप यौन रूप से सक्रिय हो गई हैं, तो ऐसी कुछ अनुभूतियां हैं जिन्हें आप अनुभव करने लगेंगी। उनमें से कुछ ये हैं:

1.अपने स्तनों को बड़ा और ठोस होते हुए देखने के लिए तैयार रहें

यौन संभोग के बाद आपके स्तन का आकार उत्तेजना के स्तर के आधार पर 25 प्रतिशत तक या उससे अधिक बढ़ सकता है। आपको अपने सामान्य साइज़ से थोड़ी बड़ी ब्रा खरीदनी पड़ सकती है। बड़े, ठोस और कड़े स्तन किसे पसंद नहीं होते? इसलिए सेक्स का आनंद लें और वर्जिनिटी खोने के बाद के प्रभावों का लुत्फ उठाएं।
लेकिन चिंता ना करें, वे हमेशा के लिए बड़े नहीं रहेंगे। उनका आकार आपकी उत्तेजना के स्तर के अनुसार बदलता रहेगा। हालांकि कुल मिलाकर वे पहले से बड़े और ठोस दिखाई दे सकते हैं।[restrict]

2.निप्पल अचानक से कुछ ज़्यादा ही संवेदनशील हो जाते हैं

आपके निप्पल्स आपकी सबसे बड़ी संपत्ति है और वे शरीर के कामोत्तेजक क्षेत्रों में से एक हैं। यौन मिलन के बाद, निप्पल में सिहरन और दर्द होने लगता है जो संवेदनशीलता को बढ़ाता है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि सेक्स स्तन, इरोला और निप्पल में ज़्यादा रक्तप्रवाह को ट्रिगर करता है। एक हल्के से स्पर्श और एक कामुक स्वप्न के बाद आप देखेंगी कि वे प्रतिक्रिया में कठोर हो रहे हैं।

तो हर बार आपके उत्तेजित होने पर रौंगटों का खड़ा होना और वह कठोरता हमेशा के लिए है।

3.आपका वजाइनल क्षेत्र लचीला हो जाता है

वजाइनल वॉल्स और क्लिटोरिस अपने आसपास कम गतिविधि के कारण तनावग्रस्त रहती हैं। यौन गतिविधि के बाद, आपकी वजाइनल वॉल्स फैलती हैं और यहां तक की आपकी क्लिटोरिस का आकार भी बढ़ जाता है। दोहराया गया सेक्स इसे और ज़्यादा लोचदार बना देगा और यह धीरे-धीरे फैलती जाएगी ताकि सेक्स कम पीड़ादायक बन सके। कुछ समय बाद, महिलाएं सेक्स का आनंद ले सकेंगी और प्रवेश इतना पीड़ादायक नहीं रहेगा। जब आप अपनी वर्जिनिटी खो देती हैं तो वजाइना लोचदार हो जाता है और क्लिटोरिस यौन कार्यों के लिए अच्छी प्रतिक्रिया देती है।

4.आपका खून बह सकता है

हालांकि सभी औरतों का खून नहीं बहेगा, लेकिन वे जिनका हाइमेन बरकरार है उन्हें हल्के से रक्तस्त्राव का अनुभव हो सकता है। और हो सकता है यह भी एक बार में ना हो लेकिन कुछ बार यौन मिलन के बाद हो क्योंकि आपका हाइमेन धीरे-धीरे टूटता है। आमतौर पर इसे हाइमेन के फटने के रूप में जाना जाता है, यह दुनिया की कुछ संस्कृतियों में एक वर्जिनिटी परीक्षण है।

हो सकता है कि कई महिलाओं को पहली बार रक्तस्त्राव ना हो क्योंकि हाइमेन प्रवेश से पहले ही टूट चुका हो।

5.आपके पीरियड के आने में देर हो सकती हैः

सेक्स के बाद हार्मोन में वृद्धि महसूस करना स्वाभाविक है, और यह आपके सामान्य मासिक चक्र को एक या दो दिन तक बधित कर सकता है, अगर देरी एक सप्ताह से अधिक समय तक हो तो यह गर्भधारण का संकेत हो सकता है।
अगर आपने असुरक्षित सेक्स किया है और आप मतली, सिरदर्द जैसे लक्षणों का भी अनुभव करती हैं, तो गर्भावस्था के लिए स्वयं परीक्षण करें। पीरियड में किसी भी तरह की देरी चिंता का कारण हो सकती है इसलिए बाद में पछताने की बजाए पहले ही सुरक्षित रहें और प्रोटेक्शन का इस्तेमाल करें।

emotional changes
Image source

पहली बार सेक्स करने के बाद भावनात्मक परिवर्तन

पहली बार किसी के लिए एक विशेष व्यक्ति होना एक लड़की को भावनात्मक रूप से प्रभावित करता है। चूंकि आपका शरीर कुछ बदलावों से गुज़रता है, आप भावनात्मक रूप से भी कुछ बदलाव महसूस कर सकती हैं। कुछ आम संकेत हैं –

1.आप ज़्यादा स्नेही होंगी
इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप कब से डेटिंग कर रही हैं या आपकी शादी को कितना समय हुआ है, पहली बार सेक्स करने के बाद आप स्वयं को अपने साथी की ओर ज़्यादा आकर्षित महसूस करेंगी। आपका स्नेह बढ़ जाएगा और आप और ज़्यादा केयरिंग और लविंग बन सकती हैं।

2.आप खुश रहेंगी
अपने पहले यौन कृत्य के बाद भावनात्मक खुशी का आनंद लेने के लिए तैयार रहें। यह ओर्गेज़म की बदौलत है जो ऐसा हार्मोन रिलीज़ करता है जो आपको खुश करता है – ऑक्सीटॉसिन। अगर आपने अपने साथी के साथ पूर्ण रूप से तल्लीन सेक्स किया है, तो आप खुश और संतुष्ट महसूस करेंगी और सातवें आसमान पर पहुंच जाएंगी।

3.आत्मविश्वास भरपूर होगा
आपका शरीर ना सिर्फ ऑक्सिटॉसिन बल्कि डोपामाइन भी रिलीज़ करता है जो आत्मविश्वास बढ़ाता है और साथ ही अच्छे सामाजिक व्यवहार को भी प्रोत्साहित करता है। सेक्स के बाद टेस्टोस्टेरोन भी रिलीज़ होता है जो आपको जीवन के अन्य क्षेत्रों में भी स्वयं के लिए आवाज़ उठाने में मदद करता है। आप हँसमुख महसूस करेंगी और दुनिया आपको एक खुशनुमा जगह प्रतीत होगी भले ही सबकुछ पहले जैसा हो।
लेकिन आप पहले जैसी नहीं हैं, है ना?

4.आप उत्साहित भी होती हैं और घबराई हुई भी
कभी-कभी सेक्स किसी को अपराधबोध भी महसूस करवाता है – क्या यह सही था? क्या वही लड़का मेरे लिए बना है? कहीं ऐसा तो नहीं कि वह सिर्फ मज़ा ले रहा था? ये प्रश्न हर लड़की के दिमाग में घूमते हैं। और निश्चित रूप से, अगली बार के बारे में प्रत्याशा और उत्साह रहता है।

5.आपकी त्वचा पहले से कहीं ज़्यादा चमकने लगती है
सेक्स करने का एक और अच्छा कारण! चूंकि अच्छे हार्मोन बुरे हार्मोन की जगह ले लेते हैं और आप खुश, आत्मविश्वासी और उत्साहित महसूस करते हैं, तो त्वचा भी चमकने लगती है और बहुत अच्छी दिखती है। आपका रिलेक्स्ड शरीर स्वस्थ और चमकीली त्वचा के लिए मार्ग प्रशस्त करता है।
खुशी और आत्मविश्वास बढ़ाने वाले ये हार्मोन आपको हमेशा की तुलना में कहीं ज़्यादा उत्साहित और खुशहाल बनाते हैं। मन की प्रसन्न स्थिति का लुत्फ उठाएं और यौन रूप से सक्रिय होने की आशा करें।

पहली बार सेक्स करने के बाद पीरियड्स कैसे प्रभावित होते हैं?

जहां सेक्स मज़ेदार और आनंददायक हो सकता है, एक अनचाही गर्भावस्था असली खराबी हो सकती है। हर किसी द्वारा पूछा जाने वाला सबसे बड़ा सवाल यह है कि क्या वर्जिनिटी खोने के बाद मेरे पीरियड्स में देरी होगी या मेरा साइकिल बदल जाएगा। उत्तर हर किसी के लिए समान नहीं हो सकता है।

o सेक्स के दौरान, आपके होर्मोन सक्रिय हो जाते हैं और अस्थायी रूप से आपके पीरियड में देरी कर सकते हैं। देरी बहुत ज़्यादा नहीं होगी, लेकिन अगर समय से थोड़ा ज़्यादा विस्तार होता है तो निश्चित होने के लिए गर्भावस्था परीक्षण करना सबसे अच्छा होता है।

o देरी का एक अन्य कारण निरंतर तनाव और डर है जो ज़्यादातर महिलाएं पहली बार सेक्स करने के बाद अनुभव करती है। कई डरती है कि प्रोटेक्शन सही नहीं था और इस प्रकार गर्भवती होने से डरती हैं। रिलेक्स्ड रहना और देरी से आए पहले पीरियड्स के बारे में चिंतित नहीं होना ही सबसे अच्छा है।
इसलिए अपने डरों को दूर रखें और पहले सेक्स का मज़ा लें!

o पहला संभोग प्रोटेक्शन के साथ करना सबसे अच्छा है। इस तरह आप सुनिश्चित करती हैं कि यह सुरक्षित है और आप पहली ही बार में गर्भधारण नहीं कर बैठती हैं। लस्ट और प्यार की खुशी का अनुभव करने के लिए इसे उचित कोंडोम और लूब्रीकेशन के साथ करने पर ज़ोर दें।
याद रखें सेक्स हर बार एक अलग अनुभव होगा। हर सत्र आपको इसके बारे में जानने में मदद करेगा और इसमें भी कि आप अपने बॉयफ्रैंड के साथ कितना अच्छा सेक्स कर सकती हैं। ज़िद्दी होने की बजाए स्वयं को मुक्त छोड़ दें और उस सवारी का आनंद लें जो परफेक्शन तक पहुंचती है।
[/restrict]
 

Facebook Comments

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also enjoy:

Yes No