Hindi

10 संकेत की आपके पति का भावनात्मक प्रेम प्रसंग चल रहा है

हाल फिलहाल के आंकड़ेबताते हैं की आजकल जोड़ों में चाहे शारीरिक चीटिंग न हो, मगर भावनात्मक अफेयर ज़रूर बढ रहे हैं. आइए पड़े उन संकेतों को जिससे आप जान सके की कहीं आपके साथी भी तो ऐसे किसी सम्बन्ध में नहीं हैं.
Emotional-affairs-in-marriege

किसी भी संबंध की सफलता ना केवल शारीरिक अंतरंगता पर बल्कि भावनात्मक सहयोग और स्थिरता पर भी निर्भर करती है। हालांकि, आज के जीवन की हलचल में, विवाहित जोड़े इस तथ्य को भूल रहे हैं जिसके परिणामस्वरूप भावनात्मक बेवफाई बड़े पैमाने पर हो रही है।

आंकड़े बताते हैं कि 20 वर्ष की आयू के आसपास के जोड़े भावनात्मक धोखे के शिकार हो जाते हैं। लगभग 60 प्रतिशत संबंध कार्यस्थल पर उत्पन्न होते हैं, चाहे वे शारीरिक हो या भावनात्मक।

ये भी पढ़े: दो पुरुषों के बीच उसे एक को चुनना था

एक भावनात्मक प्रेम प्रसंग क्या है?

शारीरिक और भावनात्मक प्रेम प्रसंग में अंतर करना वास्तव में कठिन है क्योंकि इनमें से पहला वाला दूसरे की ओर ले जा सकता है और दूसरा वाला पहले की ओर। सरल शब्दों में, एक भावनात्मक संबंध दो लोगों के बीच एक अंतरंग संबंध होगा जिसमें शारीरिक अंतरंगता का होना अनिवार्य नहीं है लेकिन दिल से दिल का संपर्क ज़रूर होता है। कई लोगों को यह गलत नहीं लगेगा, लेकिन एक विवाह मे, भावनात्मक सहयोग किसी बाहरी व्यक्ति की बजाए अपने साथी से मिलना चाहिए। विवाहित जोड़ों को अच्छे या बुरे समय में एक-दूसरे के साथ होना चाहिए। और यही कारण है कि भावनात्मक संबंधों को भी विवाह में ‘धोखे’ के रूप में देखा जाता है।

Emotional-affairs
Image Source

यदि आप उत्सुक हैं कि भावनात्मक संबंधों की शुरूआत होती कैसे है, तो यहां एक छोटी सी जानकारी है कि भावनात्मक संबंध किन चरणों से गुज़रता है –

  • सबसे पहले, दो लोग मित्र बन जाते हैं और एक दूसरे के बारे में जानते हैं।
  • उसके बाद, वे एक दूसरे के साथ घूमने फिरने लगते हैं और एक दूसरे के साथ अपने जीवन का हर छोटा विवरण साझा करते हैं।
  • बाद में, वे इस नवनिर्मित संबंध पर ध्यान केंद्रित करना शुरू कर देते हैं और अपने विवाहित जीवन से बाहर निकलने लगते हैं।
  • आखिरकार, वे इस संबंध में लिप्त होने लगते हैं, जो विवाह को बुरी तरह खत्म कर सकता है।

ये भी पढ़े: धोखा देने के बाद इन 6 लोगों ने स्वयं के बारे में क्या सीखा

कार्यस्थल पर भावनात्मक प्रेम प्रसंग

कार्यस्थल पर भावनात्मक प्रेम प्रसंग की आवृत्ति का वर्णन करने के लिए ‘आम’ बिल्कुल सही शब्द है। चूंकि पति-पत्नी और प्रेमियों को एक-दूसरे के साथ केवल साप्ताहांत में अच्छा समय बिताने का अवसर मिलता है, इसलिए कार्यस्थल लगाव के लिए आदर्श स्थान बन जाता है क्योंकि सहकर्मी काम की चुनौतियों, गपशप और समारोहों के दौरान करीब आ जाते हैं। कार्य का वातावरण बेहद सामाजिक होता है और हम बहुत भिन्न लोगों से मिलते हैं। इसके साथ ही, यह तनावपूर्ण है, और ऐसे किसी व्यक्ति का होना जिसके साथ काम से संबंधित तनाव, यादें और विचार साझा कर सकें, उपयुक्त हो सकता है। आमतौर पर यह व्यक्ति आपका साथी नहीं होता है क्योंकि आप दोनो केवल शाम को मिलते हैं। और अगर परिवार की ज़िम्मेदारियों को भी जोड़ लें, तो दिन साथ में बिताने की बात तो लुप्त ही हो जाती है।

emotional_affair_at-office
Image Source

लेकिन मनुष्य के रूप में हमें हर रोज़, हर समय, प्यार, सराहना और देखभाल की ज़रूरत होती है।

ये भी पढ़े: मेरी बीवी गुस्से में मुझ पर हाथ उठती है

तो आप ऑफिस की फालतू गपशप इस व्यक्ति के साथ बांटने लगते हैं और धीरे-धीरे, आपको अहसास तक नहीं होता और वह आपके जीवन का एक महत्त्वपूर्ण अंग बन जाता है।

कभी-कभी इस व्यक्ति की वजह से, आपको अपने कार्यस्थल में आनंद आने लगता है, और आपको पता भी नहीं चलता कि आपका भावनात्मक संबंध चल रहा है।

खैर, सीमाओं को पार नहीं किया जाना चाहिए और कार्य संबंध सीमा में ही होना चाहिए। विवाहित जोड़ों के बीच भावनात्मक प्रेम प्रसंग के पनपने का स्थान होने की बजाए, कार्यस्थलों को दीर्घकालिक और वास्तविक दोस्ती का आधार होना चाहिए।

भावनात्मक संबंध अधिक पीड़ादायक क्यों हैं?

जैसा पहले उल्लेख किया गया, भावनात्मक संबंध दो दिलों के संपर्क से संबंधित है। इसका अर्थ है कि जब व्यक्ति इसमें सम्मिलित हो जाता है, इसे छोड़ना उसके लिए मुश्किल हो जाता है। भावनात्मक बेवफाई गुप्त, पहचानने और सुलझाने में कठिन है। इस वजह से, भावनात्मक संबंध अधिक निष्ठुर और तकलीफदेह है। चूंकि धोखे का यह रूप विवाहित जोड़ों के बीच परस्पर समर्थन और विश्वास का उल्लंघन होता है, यह वास्तव में घातक है।

10 संकेत की आपके पति का भावनात्मक प्रेम प्रसंग चल रहा है

signs-for-emotional-affairs
Image Source

रोमांचक और साहसी होने के बावजूद भी, भावनात्मक बेवफाई को धोखा ही माना जाता है। ऐसा भी हो सकता है कि आपका साथी भावनात्मक संबंध में शामिल हो और उसे पता भी नहीं हो। हो सकता है कि वह इस व्यक्ति का आदी हो और इस पूरे प्रकरण को हानिरहित छेड़छाड़ मानता हो क्योंकि शारीरिक पहलू अब तक शामिल नहीं हुआ है। यदि आपको संदेह है कि आपका साथी एक भावनात्मक संबंध में शामिल है, तो यहां कुछ निश्चित संकेतों की सूची है जो आपको तय करने में मदद करेगी।

1. गोपनीयता आपके संबंध को घेरे रहती है

मूल रूप से इसका मतलब है कि आपका पति उसकी गोपनीयता को सुरक्षित रखने के उपाय अपनाता है जैसा वह पहले कभी नहीं करता था। वह अपने दिन के बारे में आपको विवरण देना बंद कर देगा; वह आपसे अपना फोन, पासवर्ड और भी बहुत कुछ छुपाएगा। वह फोन पर बात करने के लिए कमरे से बाहर जा सकता है और आधी रात को किसी को मैसेज भेजता हुआ देखा जा सकता है।

ये भी पढ़े: जब आप विवाह में सुखी हों और किसी और से प्यार हो जाए

2. आपकी आलोचना या अपमान करना उसकी नियमित आदत बन जती है

जब दोनो साथी एक दूसरे की आलोचना करते हैं और एक दूसरे को बेहतर बनने में सहायता करते हैं तो यह एक स्वस्थ संबंध होता है। लेकिन जब आलोचना निरंतर हो जाए तो निश्चित रूप से कुछ गलत है।

3. आपका पति सोशल मीडिया का अत्यंत आदी हो गया है

अगर अचानक आपका पति फेसबुक, इंस्टाग्राम और स्नैपचैट जैसे सोशल मीडिया एैप का उपयोग करना शुरू कर देता है, तो आपका उसपर संदेह करना उचित है। इसके पीछे यह तर्क हो सकता है कि वह हर समय दूसरे व्यक्ति के संपर्क में रहने के लिए सोशल मीडिया का इस्तेमाल करेगा।

4. दूसरे व्यक्ति का नाम लिए बिना उसका दिन पूरा नहीं होगा

तो अगर आप किसी चीज़ के बारे में बात कर रहे हैं और आपका पति कहता रहे कि किस तरह उसके दोस्त ने कुछ शानदार किया या बहुत सुंदर दिख रहा था। कई बार आप देखेंगे कि दूसरे व्यक्ति का नाम लेने की बजाए, आपका पति बार बार इसका उल्लेख करना जारी रखेगा।

5. जब दूसरे व्यक्ति की बात आती है, तो आपका पति बहुत रक्षात्मक हो जाएगा।

यदि आप या कोई और उस दूसरे व्यक्ति की बुराई करेंगे तो आपका पति उसका पक्ष लेगा और उसके बारे में अतिरिक्त रक्षात्मक हो जाएगा। वह उसकी एक बार से अधिक और आवश्यकता से ज़्यादा मदद करने की हद तक भी जा सकता है।

6. सोचे समझे बगैर उस दूसरे व्यक्ति के साथ आपकी तुलना करना

एक साथी के रूप में, आप अपेक्षा करते हैं कि आपका पति आपको पूरी तरह स्वीकार करे। हालांकि, अगर आपको ऐसा लगता है कि आपका पति ऐसा करने में विफल रहता है, और दूसरे व्यक्ति के साथ आपकी तुलना करता रहता है, तो यह चिंता का विषय है।

ये भी पढ़े: मैं एक वेश्या के पास क्यों गया

7. आपका पति नए शौक पाल लेता है

यह आपके लिए एक अग्रिम चेतावनी है कि आपका पति दूसरे की सलाह पर नए शौक पाल रहा है।

8. उसकी राय पूरी तरह बदल जाती है

आपके पति के सबसे करीबी व्यक्ति के रूप में, ज़ाहिर है कि आप उनके विचारों से अवगत रहेंगे। लेकिन उनके विचारों में कोई भी बड़ा परिवर्तन निश्चित रूप से उनके जीवन में अन्य व्यक्ति के अत्यधिक प्रभाव के कारण होगा।

9. आपके पति का रूप रंग बदल जाता है

आप देखेंगे कि आपके पति की कपड़े पहनने की शैली या प्राथमिकता बदल गई है या फिर वह स्वस्थ होने का प्रयास करने लगा है। वह अपने रूप रंग पर अधिक तवज्जो देने लगता है और हो सकता है कि वजन कम करने का भी प्रयास करने लगे। इसका कारण भावनात्मक बेवफाई हो सकता है।

10. आप दोनों के बीच शारीरिक अंतरंगता नगण्य हो जाती है

क्या आपके पति के साथ अंतरंग होने के प्रयास रोज़ाना असफल हो रहे हैं? क्या वह अधिक समय टीवी या मोबाइल पर बिताता है? वह आपके साथ अंतरंग होने में संकोच करता है? यदि हां, तो बहुत हद तक संभव है कि उसका किसी के साथ भावनात्मक संबंध है।

जिस क्षण आपको लगता है कि आपका संबंध भावनात्मक प्रेम प्रसंग का शिकार हो सकता है, तब आपको शांत रहना चाहिए। अपने पति से बात करें और दो तर्कसंगत व्यक्तियों के रूप में इसे सुलझाने का प्रयास करें। अपने पति की बात पर भरोसा कीजिए, आखिरकार वह वही व्यक्ति है जिसके साथ आपने अपना पूरा जीवन बिताने का निर्णय लिया है। हार ना माने और अपने विवाह को भावनात्मक संबंध जैसी विनाशकारी घटना से बचाने का प्रयास करें।

प्रेमी से कम, दोस्त से ज़्यादा

पुनर्विवाह कर के आये पति का स्वागत पहली पत्नी ने कुछ ऐसे किया

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also enjoy:

Yes No