५ लोग बताते हैं की कैसे प्यार ने उन्हें बेहतर बनाया

क्योंकि प्यार सिर्फ एक भावना नहीं है, वो हमारे बहुत सारे सवालों के जवाब भी है.

प्यार के अगर सांस्कृतिक अर्थ के बारे में नहीं सोचे, तो ये एक बहुत ही खूबसूरत जगह है अपने सुकून के लिए और अपनी कल्पनाओं को नयी उड़ान देने के लिए. मगर हम जैसा प्यार खुद के लिए ढूँढ़ते है, वो इस टिंडर के अजीबोगरीब प्रोफाइल और उससे भी अजीब डेट्स के बीच मिलना अक्सर मुश्किल ही है.

चाहे प्यार कैसे भी हो, एक बात जिससे हम इंकार नहीं कर सकते, वो ये है की प्यार में कोई शर्तें नहीं होती और न होते हैं कोई तर्क और कारण. प्यार सहनशील होता है और प्यार दयालु होता है. प्यार हमें हज़ारों टुकड़ों में बिखेर देता है और फिर हमें जोड़ कर हमें हमारा बेहतर रूप बनाता है. मगर इस पूरी प्रक्रिया को समझने के लिए सही चश्मे चाहिए, और अगर चश्मे सही न हो तो कुछ साफ़ दिख नहीं पायेगा.

P Banner

ये भी पढ़े: हमने दस साल, तीन शहर और एक टूटे रिश्ते के बाद एक दुसरे को पाया

पांच लोग बताते है की कैसे प्यार ने उन्हें बेहतर इंसान बनाया

Table of Contents

“प्यार ने मुझे उड़ने के लिए पंख दिए. प्यार ने मुझे एक बेहतर, आत्मविश्वासी और स्वतंत्र इंसान बनने में मेरी मदद की की है.”
पांचाली

सच्चा प्यार आपको सशक्त बनाता है और आपको आज़ाद और उन्मुक्त करता है. ये सिर्फ एक भावना नहीं रहता, बल्कि एक शक्ति बन जाता है जो आपको और बेहतर करने के लिए उकसाता है.

आइये साथ में समझे की आखिर ये रिश्ते होते कैसे हैं_

“यह मुझमे एक ऐसी शक्ति भर देता है जो कोई किसी तरह से तोड़ नहीं सकता.”
-मैत्री

कभी कभी ये तो शक्ति है, ये कहीं बाहर से नहीं आती. यह प्रभाव आपके अंदर से ही प्रज्वलित होता है. ये आपकी क्षमता होती है की आप किसी को इस तरह और इस हद तक प्यार करो की कोई तर्क, कोई बाहरी ताकत आपको इस प्रेम से डगमगा नहीं सके. और यही वो शक्ति है जो हमें अपने अंदर से ही एक उत्साह और उमंग देती है.

ये भी पढ़े: कैसे उसकी परफेक्ट शादी उसके “मोटापे” के तानों के नीचे दबने लगी

“प्यार करके ही मैंने जाना की मेरी सीमाएं कितनी विस्तृत हैं और मैं कितना कुछ करने में सक्षम हूँ.”
सोनम

प्यार आपमें आत्मविश्वास भरता है.

हमारा दिमाग हमेशा ही हमारे लिए एक चक्रव्यूह रच हमें परेशां करता है मगर प्यार हमें इस सालों से बने चक्रव्यूह से निकालता है और एक ऐसी जगह ले जाता है जहाँ हम जाने की कल्पना भी नहीं कर सकते थे. यह हमें प्रेरित करता है, जीने की नहीं राह दिखाता है, क्योंकि जो हमें प्यार करता है, वो हमें और बेहतर होने के लिए प्रेरित करता है और सचमुच मानता है की हम सितारे तक तोड़ लाने की काबलियत रखते हैं.

ये भी पढ़े: वो मुझसे बड़ी थी और उसके प्यार में मैं बदल गया

“वो मुझे आसमान से जमीन पर ले कर आया और यकीन मानिए, यहाँ से नज़ारा कहीं ज़्यादा अच्छा है.”
-अमलन

हम यह सोच समझ कर बड़े हुए की प्यार एक गर्म हवा के बैलून सा हमें ऊपर आसमान की सैर कराता है. मगर ये सच नहीं है. सच्चा प्यार जब व्यवहारिक होता है और ज़िन्दगी के असली चश्मों से देखा जाता है, तो जादू वहां आसमान में नहीं, यहीं ज़मीन पर ही दीखता है. प्रेम फिल्मों सा फिल्मी नहीं होता, वो तो असली ज़िन्दगी सा असल होता है.

“मैं जितना प्यार में डूबता जाता हूँ, उतनी ही चोटें खाता हूँ. और मैं जितनी चोटें खाता हूँ, उतना ही शक्तिशाली बनता जाता हूँ.”
-सौमिता

कई बार प्यार बहुत क्रूर भी होता है. वो हमसे प्यार का भ्रम, जो हमने किस्से कहानियों में पढ़ा था, छीन लेता है. मगर ज़रूरी नहीं है की जैसा प्रेम हमें मिले हम उसे भी वैसी ही वापस करें. कई बार जो प्यार जो आम फ़िल्मी प्यार सा चमकीला नहीं होता, वो भी हमें बहुत कुछ सीखा कर चला जाता है. टूटा हुआ दिल जब वापस जुड़ना सीख जाता है तो हमें पता चलता है की हमारी असली क्षमता क्या है.

प्यार हर किसी के लिए एक अलग एहसास है और वो हर किसी को कुछ अलग देता है. मगर चाहे प्यार वापस प्यार दे या तकलीफ, ख़ुशी दे या बहुत सारी नाउम्मीदगी, प्यार हमें हमेशा बेहतर ही बनाता है. तभी तो टेड मॉस्बी ने कहा है, “प्यार वो सबसे श्रेष्ठ चीज़ है जो हम करते हैं.”

https://www.bonobology.com/baatein-jo-har-ladki-sun-na-chahti-hai-lekin-purush-kabhi-kahte-nahi/https://www.bonobology.com/kya-sikhate-hain-devi-devta-hamein-dampatya-jeewan-ke-baare-main/
Tags:

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

This website uses cookies to ensure you get the best experience on our website.