8 बार फिल्मों की सास आपकी वास्तविक सास से बदतर थीं

भारत में, लगभग हमेशा ही हर लड़की का कैरियर मार्ग पूर्व निर्धारित होता हैः थोड़ी ठीक-ठाक शिक्षा प्राप्त कर लो, फिर चाहे नौकरी करो या ना करो, विवाह कर लो और अपने पति के घर रहने चली जाओ और घर संभालने में अपनी सास की सहायक बन जाओ। यदि यह एक एकल परिवार है तो बहू ही घर संभालती है, लेकिन केवल ब्रांच मैनेजर की तरह जिसे अंततः जनरल मैनेजर उर्फ सास को फोन पर नियमित रूप से रिपोर्ट करना होता है। और कई बार जनरल मैनेजर निरीक्षण यात्राएं भी करती है।

हर कोई सोचता है कि उसका अफसर सबसे बुरा है, तो एक बहू के रूप में आप कैसे अपवाद हो सकती हैं? खासतौर पर जब आपके कार्यस्थल पर हर दिन सोमवार हो। यहाँ आपको राहत देने के लिए कुछ फिल्में हैं जो यह दर्शाती है कि आपकी स्थिति कितनी बदतर हो सकती है।

ये भी पढ़े: क्यों बंगाल में नवविवाहित जोड़े अपनी पहली रात साथ में नहीं बिता सकते

1. सौ दिन सास के

ललिता पँवार एक सर्वोत्कृष्ठ फिल्मी सास है। इस फिल्म में वह एक तानाशाह सास की भूमिका निभाती है जो गर्म धातू का इस्तेमाल कर अपनी बहू के पैर पर जलने के निशान बना देती है।
आपको खैर मनाना चाहिए कि आपकी सास आपको केवल आलोचना और व्यंग्य के शब्दों से ही जलाती है।

ललिता पँवार एक सर्वोत्कृष्ठ फिल्मी सास है। इस फिल्म में वह एक तानाशाह सास की भूमिका निभाती है
Image Source – Shemaroo

2. ये वादा रहा

कुछ फिल्मी माँए केवल जलाने से भी ज़्यादा बुरा कर सकती हैं। इस फिल्म की सास ने उसकी होने वाली बहू को जान से मारने की कोशिश की। खुशकिस्मति से वह असफल हो गई और उसकी बदकिस्मति से वही लड़की उसकी बहू बन गई।
और आप सोचती थीं कि आपकी सास की निरीक्षण यात्राएं अत्यंत दुखदायी हैं!

3. बेटा

सास हमेशा ही ज़ाहिर तौर पर खतरनाक नहीं होती। कुछ शातिर होती हैं और शतरंज के खिलाड़ी की तरह चाल चलती हैं। उन्हें हराने का एकमात्र तरीका है शांत रहना और जीतने के लिए शतरंज खेलना जारी रखना।
आप सोच सकती हैं कि आपका पति माँ का लाडला है, लेकिन कम से कम वह लाडला बेटा अर्ध-साक्षर और पागल तो नहीं है।

कुछ शातिर होती हैं और शतरंज के खिलाड़ी की तरह चाल चलती हैं।
Image Source – Shemaroo

ये भी पढ़े: मैं अपनी पत्नी से प्रेम करता हूँ क्योंकि वह भिन्न है

4. बाहुबली 2

कई बार लाख कोशिश करने के बावजूद, सास अपना अत्यंत समर्पित लाडला बेटा खो देती हैं। इसने शिवगामी जैसी अनुभवी रानी को भी पागल बना दिया था। उसने हर उस वस्तु को नष्ट कर दिया जो उसकी बहू को प्रिय थी और इसी प्रक्रिया में अपना जीवन भी नष्ट कर दिया।
अगर उन्हें आपके पति द्वारा आपकी तुलना में कम तवज्जो प्राप्त होता है, तो आपको अत्यधिक आभारी होना चाहिए क्योंकि फिर वह युद्ध शुरू करने की बजाए केवल नाराज़ ही रहती है।

क्रोधित क्योंकि उसने अपना लाडला बेटा खो दिया
Twitter – Dharma Production

5. घर जमाई

क्योंकि ऐसा सोचना लैंगिकवादी (सेक्सिस्ट) होगा कि केवल स्त्रियां ही सास के क्रोध को सहन करती हैं। कई बार पुरूष भी अपनी पत्नी को प्यादे के रूप में इस्तेमाल करते हुए, अपनी सास के साथ युद्ध कर रहे होते हैं।
शुक्र है कि आपका इस्तेमाल कभी प्यादे की तरह नहीं किया गया, क्योंकि आपका पति और आपकी माँ एकमात्र युद्ध तभी लड़ते हैं जब आपकी माँ जबरदस्ती उन्हें पाँच रसगुल्ले खिलाती हैं।

ये भी पढ़े: जब मेरे पति ‘मूड’ में होते हैं

6. मैंने प्यार किया

सभी बॉस या सास बुरी नहीं होती हैं, फिल्मों में भी नहीं। इस फिल्म में सास अपने बेटे को प्रोत्साहित करती है कि धन, प्रतिष्ठा और परिवार के स्थान पर अपने प्यार को चुने।
इससे शायद आपको आपकी स्थिति बेहतर प्रतीत ना हो, लेकिन यह आपको एक उम्मीद देता है।

Image Source – Shemaroo

ये भी पढ़े: 7 जीआईएफ जो हर सास की सलाह पर सबसे सही प्रतिक्रिया है!

7. कोई मिल गया

एक अच्छी सास ठीक है, लेकिन अगर सास कुछ ज़्यादा ही अच्छी हो तो समझ लीजिए कि बेटे के साथ कुछ गड़बड़ ज़रूर है और वह उसे आपके सर मढ़कर खुश है। आप अपनी सास के बहुत ज़्यादा अच्छी ना होने के लिए बहुत ज़्यादा आभारी नहीं हो सकते।

8. अस्तित्व

कभी-कभी सास को गैर-आलोचनात्मक सहयोग की भी आवश्यकता होती है, खासतौर पर जब उनके अतीत के कर्म उन्हें डराने के लिए उनके सामने आ जाएं। क्या आप इसके लिए तैयार हैं?

https://www.bonobology.com/vivah-ke-bad-ek-aurat-ke-jivan-me-hone-wale-15-parivartan/
https://www.bonobology.com/hum-santan-chahte-hain-par-asamarth-hain-aur-hum-dono-nirash-hain

Spread the love
Tags:

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

This website uses cookies to ensure you get the best experience on our website.