Hindi

आप विश्वास नहीं करेंगे कि हमारे गोवा-गुजरात प्रेम विवाह को तोड़ने की कोशिश किसने की थी

छोटी अजीब घटनाएं हो रही थीं जो उनके नए प्रेम विवाह को डरा रही थीं और वे तब तक परेशान थे जब तक उन्होंने तहकीकात करने का फैसला नहीं किया
Couples being separated

मुझे लगता है कि विवाह, एक क्रिकेट मैच की तरह है, पति और पत्नी क्रीज पर बाउंसर छोड़ते हैं और ऑड बॉल को बाउंड्री पर हिट करते हैं। यदि उनमें से कोई भी लापरवाह है, तो वे रन आउट हो जाते हैं या इससे भी बदतर, हिट विकेट हो जाते हैं। मेरा एक अंतरधार्मिक विवाह है, मैं एक गुजराती जैन हूँ और मेरे पति गोवा के एक रोमन कैथोलिक हैं (भारत-पाक श्रृंखला से कम कुछ नहीं, गौर कीजिए, केवल एक मैच नहीं)। हमारी एक साधारण शादी थी जिसके बाद हमने हमारे सम्मानित रिश्तेदारों के विभिन्न तालुओं को दो रिसेप्शन दिए गए, जहाँ जिज्ञासा प्रबल थी और लोग बोली लगा रहे थे कि यह 20-20 मैच (किसी भी समय में) साबित होगा। प्रतिपक्षी, अगर कोई होता, तो अब करोड़पति होता।

ये भी पढ़े: जब बच्चों के नन्हें हाथ एक शादी को बांधे रखते हैं

हम शादी के तुरंत बाद हमारे किराए के अपार्टमेंट में चले गए। जगह छोटी थी और एक छत संलग्न थी, जो इसकी यूएसपी थी। दलाल ने किराया कम करने के लिए मकान मालकिन को तैयार किया, क्योंकि हम अभी अपना विवाहित जीवन (दिल से मैं असली ब्लू बंगाली रोमांटिक हूँ) शुरू कर रहे थे।

couple home
Image source

नए घर में पहले कुछ सप्ताह बस दोस्तों, परिवार, ज़रूरतों के लिए खरीदारी, और साप्ताहिक बजट और अन्य कामों में गायब हो गए। धीरे-धीरे हम अपनी दिनचर्या में सेट हो गए। मैं काम के लिए थोड़ा जल्दी चली जाती और मेरा पति थोड़ी देर बाद। वह देर से घर लौटता, क्योंकि वह एमबीए भी कर रहा था, इसलिए हम रात के खाने पर दिन की घटनाओं पर बातचीत करते। सभी महत्वपूर्ण संदेश फ्रिज पर चिपका दिए जाते थे, रंगीन पोस्ट के भार के साथ- ’इलेक्ट्रिक बिल का भुगतान’ या ’टोस्टर खराब हो गया है, प्लीज़ सैंडविच ले लेना’ जैसे संदेश दिए जाते थे।

कौतुहल से भरी घटनाएँ

कुछ महीने बाद, छोटी न बताने लायक घटनाएँ गायब बिल, छत से लापता कपड़े, कपड़ों के कुछ टुकड़े गहरे नीचे फंसे होने के कारण नालियों का जाम होना आदि बातें हमारे बीच झगड़े का कारण बनने लगीं। एक शाम मेरा पति रात के खाने के लिए एक दूर चाचा के साथ घर आया, और बोला कि उसने मकान मालकिन से मुझे सूचित करने के लिए कहा था, क्योंकि हमारा फोन काम नहीं कर रहा था। मुझे ऐसा कोई संदेश नहीं मिला था। हालांकि, सड़क के कोने पर चाइनीज टेकअवे को एक त्वरित कॉल और मुख्य द्वार पर अत्यधिक गर्म खाने की डिलीवरी से मैंने सबकुछ संभाल लिया। अंकलजी ने हमारे आतिथ्य से प्रसन्न होकर गए, लेकिन फिर आरोप प्रत्यारोप के साथ स्लोग ओवर शुरू हो गए। अगली सुबह मैं आवेश में गई और पाया कि मकान मालिक का नोट मेरे पति के संदेश के साथ दरवाजे के ग्रिल पर चिपका हुआ था। मैं इसे कैसे भूल गई?

ये भी पढ़े: जब बच्चों के नन्हें हाथ एक शादी को बांधे रखते हैं

arguing couple
Image source

एक रविवार की रात जब हम एक फिल्म देखकर वापस आए, तो हमने पाया कि मेरे माता-पिता छत पर घूम रहे हैं। एक सदमे ने हमें झझोड़ दिया जब उन्होंने मुझसे उनके साथ वापस जाने के लिए कहा, क्योंकि किसी ने उन्हें कॉल कर के यह कहा था कि मुझे पति द्वारा पीटा जा रहा था और यातना दी जा रही थी। हम हक्के-बक्के रह गए।

हालांकि, हमने उनके डर को शांत किया और हम सभी सहमत हुए कि यह जरूर किसी शरारती तत्व का मजाक होना चाहिए। इस घटना ने हमें परेशान किया, क्योंकि हमने यह अनुमान लगाने की कोशिश की कि मजाक करने वाला कौन हो सकता है, मौके की बात है तभी एक मित्र द्वारा बताया गया कि ’ग्रह शांति पूजा’ हमें वापस सही रास्ते पर सेट कर सकती है।

ये भी पढ़े: जिस दिन मेरे पति ने हमारे दूसरे बच्चे को जीवन दिया

प्यार, दुर्व्यवहार और धोखाधड़ी पर असली कहानियां
षड्यंत्रकारी मकान मालकिन का मामला

हमने हमारे बीच हुई असहमति, दुर्घटनाओं पर ध्यान देना शुरू कर दिया और आखिर में उस नौकरानी को पकड़ने का फैसला किया जो हमारी मकान मालकिन के घर भी जाती थी। अगली सुबह, सत्र शुरू हुआ, लेकिन नौकरानी ने सभी बाउंसर छोड़ दिए। एक आखिरी प्रयास के रूप में, मैंने एक गुगली फैंकी और जानकारी के बदले में उसे मेरी पुरानी मिक्सी की पेशकश की। वह आउट हो गई और हमारे पास हमारे अपराधी थे – वह शांत रहने वाली और हमेशा मुस्कुराने वाली मकान मालकिन थी। उनका एकमात्र बेटा संयुक्त राज्य अमेरिका में बस गया था और ब्राह्मण परिवार में पालन-पोषण के बावजूद उसने वहाँ एक अफ्रीका-एशियाई से शादी कर ली थी। इसलिए वह अंतरजातीय विवाहों को स्वीकार नहीं करती थी। उसने हमें फ्लैट किराये पर दिया ताकि वह हमें परेशान कर सके। हम उसके पंचिंग बैग थे।

हमने जल्द से जल्द बाहर निकलने का फैसला किया। आज हम सभी बेवकूफी भरी गलतियों, झगड़ों और लगभग हो चुके ब्रेक-अप के बारे में हँसते हैं। हम इसमें विनोद को याद रखना चुनते हैं और पुरानी मकान मालकिन और उसके दोषों को माफ कर देते हैं।

पीएसः इसके बाद हमने जल्द ही एक फ्लैट खरीदा। कोई और अजीब मकान मालकिन नहीं चाहिए!

बिमारी और दर्द में हम साथ हैं

कैसे एक बेटी ने अपने परिवार को शादी के बाद भी संभाला

पिता ने नयी पीढ़ी को मतलबी कहा मगर जब बात खुद पर आई

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also enjoy:

Yes No