अभी जब मैं माँ को खोने के गम से उबर रही हूँ, तुम क्या मेरा इंतज़ार करोगे?

प्रिय, कल मैंने अपनी माँ को खो दिया. उन्होंने कैंसर से एक लम्बी दर्दनाक लड़ाई लड़ी मगर फिर कल वो चल बसीं और पीछे रह गई उनकी चार बेटियां। मगर वो हारी नहीं थी. वो लड़ते हुए ही गई. और उनकी इस निरंतर चलती लड़ाई में मैं उनके साथ ही थी. हॉस्पिटल के अनगिनत चक्कर … Continue reading अभी जब मैं माँ को खोने के गम से उबर रही हूँ, तुम क्या मेरा इंतज़ार करोगे?