अफेयर की वजह से मुझे महसूस हुआ कि मुझे धोखा दिया गया है, इस्तेमाल किया गया है और मैं असहाय हूँ

Depress woman

जैसा डॉ संजीव त्रिवेदी को बताया गया
(पहचान छुपाने के लिए नाम बदल दिए गए हैं)

मेरा नाम रिंकी है। ना सिर्फ मेरे पास एक अदभुत पति धीर और प्यारा बेटा प्रांजल है, बल्कि लोगों ने हमेशा से कहा है कि मैं एक खुशकिस्मत लड़की हूँ। अच्छे माता-पिता, अच्छे ससुराल वाले, सफल पति, आरामदायक जीवन, मेरे जीवन में कभी कोई कमी महसूस नहीं हुई।

तो जब मैं पहली बार रियान से मिली, मुझे लगा जैसे मैं उसकी तरफ खिंची चली जा रही हूँ, मैं इतनी लालची क्यों हो रही हूँ? एक नए क्रश के लिए आरामदायक और सूकून भरे जीवन को कौन बिगाड़ना चाहेगा? रियान की शादी दीपशिखा से हुई थी और उनकी एक प्यारी सी बेटी भी थी। उनका विवाह भी हमारे जितना ही परिपूर्ण लगता था और इसीलिए मैं अपनी भावनाओं को संभाल रही थी और उन्हें व्यक्त करना नहीं चाहती थी।

ये भी पढ़े: विवाहेतर संबंधों के अब और अधिक ओपन होने के 5 कारण

हालांकि प्यार अपना रास्ता ढूंढ ही लेता है और इसलिए जब मेरे फोन में रियान का मैसेज आया जिसमें उसने अपने प्यार का इज़हार किया था, उसे देखकर मेरा दिल धड़क उठा। इससे पहले की मैं ना कहने का मन बनाती, मैंने पाया कि मुझे रियान से बहुत ज़्यादा भावनात्मक लगाव हो गया है।

हम बार-बार मिलने लगे और हर पल का आनंद लेते थे। हर बार मैं धीर के बारे में गिल्टी महसूस करती थी जो पति के रूप में पूरी तरह एक सज्जन था, और मैं संबंध से पीछे हट जाना चाहती थी। मेरे बेटे प्रांजल का मासूम चेहरा भी मेरे अपराधबोध को बढ़ा देता था।

ये भी पढ़े: लोग अफेयर करने के लिए ये 6 कारण देते हैं

लेकिन हर बार जब मैं अफेयर खत्म करने की कोशिश करती थी, रियान कहता था, ‘‘हमारे परिवारों को बीच में क्यों लाती हो?’’

अच्छा समय जारी रहा और भावनात्मक और शारीरिक पूर्ति के लिए रियान पर मेरी निर्भरता बढ़ती रही।

Woman thinking
Sad woman

जब धीर, प्रांजल और मैं छुट्टियों से लौटे, तो मैंने देखा कि रियान मेरा फोन नहीं उठाता था और ना ही मेरे मैसेज का रिप्लाए करता था। मुझे लगा कि कुछ गड़बड़ है और मैं बेचैन होने लगी और मुझे जल्द ही रियान का एक संक्षिप्त फोन आया और उसने कहा कि अफेयर को खत्म करना होगा। मैं उसकी भावरहित और काम जैसी आवाज़ सुनकर बहुत हैरान रह गई थी। वह इतना असंवेदनशील कैसे हो सकता है? मैं उसे झंझोड़ना चाहती थी, बहुत सी गालियां देना चाहती थी। लेकिन वह उपलब्ध नहीं था।

कुछ दिनों बाद उसने फिर से फोन किया और रोते हुए कहा कि अगर मैंने उसका सहयोग नहीं किया तो उसे आत्महत्या भी करनी पड़ सकती है। और मेरे सहयोग से उसका मतलब था कि यह भूलना कि हमारे बीच कोई संबंध था। उसे बहुत ज़्यादा अपराधबोध था और वह अपनी बेटी के भविष्य और परिवार की छवि के बारे में चिंतित था।

ये भी पढ़े: मैं जानती थी कि मेरा पति मुझे धोखा दे रहा है फिर भी मैं चुप रही

मुझे महसूस हुआ कि मैं पूरी तरह बिखर चुकी हूँ। मेरा दिमाग सुन्न हो गया। दुनिया में मेरी रूचि ही खत्म हो गई। धीर और मेरी सास मुझे मनाते थे और पूछते थे कि क्या हुआ है लेकिन मेरे पास बोलने के लिए शारीरिक ताकत नहीं थी। मानसिक रूप से मैं बर्बाद होती जा रही थी। मैं बस उस आदमी के अचानक बदले हुए व्यवहार का कारण जानना चाहती थी जिसे मैं दुनिया में सबसे ज़्यादा प्यार करती थी। लेकिन रियान कुछ नहीं कहता था। वह बस अपने शब्द दोहराता रहता था कि परिवार और सबकी खुशी के लिए इस संबंध को खत्म होना ही था।

जब मैं उसे अपने अपराधबोध के बारे में बताया करती थी, तो वह उसे टाल देता था। अब वह पूरी तरह बदल चुका है और वह भाषा बोलने लगा है जो मैं कहा करती थी। मैं यह झूठ बरदाश्त नहीं कर सकती थी। मैंने उसे धमकी दी कि चाहे जो भी हो जाए मैं उसे नहीं छोडूंगी। उसने अचानक फोन काट दिया और मुझे ब्लॉक कर दिया।

मैंने पाया कि ऐसी कोई चीज़ जो नैतिक रूप से सही नहीं है, वह भी आपमें विनाश की सीमा तक इच्छा और लालसा उत्पन्न कर सकती है। मैं उसके बारे में जितना ज़्यादा सोचती हूँ, उसके प्रति मेरी इच्छा उतनी ही ज़्यादा बढ़ती जाती है।

मैं असहाय हूँ, मुझे धोखा दिया गया और मेरा इस्तेमाल किया गया| अचानक एक दिन उसने फोन किया और कहा कि उसकी पत्नी हमेशा के लिए उसके माता-पिता के घर चली गई है और उनकी बेटी को भी अपने साथ ले गई है।

ये भी पढ़े: क्या होता अगर मुझे अपने पति के धोखे के बारे में पता ही नहीं चलता?

रियान को पता चला कि उसकी पत्नी दीपशिखा का किसी के साथ अफेयर था। जब उसने दीपशिखा का सामना किया, उसने शादी तोड़ने की धमकी दी। दीपशिखा ने कहा कि वह एक असंवेदनशील इंसान है जिसके साथ रहना एक सज़ा है। उसने कहा कि वह किसी से भी प्यार करने में असमर्थ है और रोबोटिक जीवन जी रहा है। झगड़े हद से ज़्यादा बढ़ गए और वह अपने माता-पिता के घर चली गई।

वह टूट चुका था और छोटे बच्चे की तरह रोते हुए उसने स्वीकार किया कि यह उसके ही कर्मों का फल है। वह अपनी गलतियों का पश्च्याताप करना चाहता है और उसे लगता है कि बुरे कर्मों की वजह से उसकी शादी बर्बाद हो गई है। मैं इनमें से किसी भी कहानी को स्वीकार करने में असमर्थ हूँ। मैं बस उसे अपनी ज़िंदगी में वापस लाना चाहती हूँ। मैं नहीं मानती की समय सबकुछ ठीक कर देता है। मैं जिस भी तरह से हमारे संबंध को देखती हूँ, मैं यह तथ्य स्वीकार ही नहीं कर पा रही की यह खत्म हो चुका है। मैं चुपचाप सहन कर रही हूँ, उसके वापस लौटने का इंतज़ार करते हुए।

Spread the love
Tags:

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

This website uses cookies to ensure you get the best experience on our website.