Hindi

अगर आप किसी शादीशुदा पुरूष के प्यार में पड़ रही हैं तो स्वयं से ये प्रश्न पूछिए

प्यार में हम अक्सर सही गलत समझने की शक्ति खो देते हैं. तभी तो एक विवाहित पुरुष से प्यार में पढ़ कर भी कई बार कुछ सूझ नहीं पाटा. पढ़िए, अगर ऐसा है तो आपको क्या समझना होगा. क्या आपको लगता है कि आप एक विवाहित पुरूष के प्यार में पड़ने वाली हैं और उसके साथ विवाहेतर संबंध शुरू करने वाली हैं? तो पहले स्वयं से ये प्रश्न पूछिए
lady-hiding-her-face-with-hands

कोई भी रखैल कहलाना नहीं चाहता, लेकिन एक विवाहित पुरूष की प्रेमिका को वही कहा जाता है। उसे शादी तोड़ने के लिए दोषी ठहराया जाता है और उसे ‘दूसरी औरत’ कहा जाता है। भले ही आप खुद को कितनी भी चेतावनी दें कि यह आपको सिर्फ आंसू ही देगा, या फिर दूसरे लोग आपको चोट पहुंचने से बचाये, स्त्रियां कभी-कभी विवाहित पुरूषों के प्यार में पड़ने का शिकार हो जाती हैं। अधिकांश मामलों में ऐसे संबंध कहीं के नहीं रहते और बहुत से लोगों को चोट पहुंचाते हैं जो उसमें प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से शामिल होते हैं। जब आप किसी विवाहित पुरूष की ओर आकर्षित होती हैं, तो सबसे अच्छा विकल्प खुद को रोक कर पीछे लौट जाना है।

जब आप किसी विवाहित पुरूष की ओर आकर्षित होती हैं, तो सबसे अच्छा विकल्प खुद को रोक कर पीछे लौट जाना है।

आपको स्वयं से ये प्रश्न पूछने की ज़रूरत है

  • खुद से पूछिए, क्या आप कोई ऐसी चीज़ चुराकर खुद के पास रखना चाहेंगे जो किसी और की है, वह भी इस डर के साथ की आप पकड़े जाएंगे और वह वस्तु आपसे वापस ले ली जाएगी? यह एक वस्तु से ज़्यादा है; आपको भावनात्मक और शारीरिक लगाव होगा और अगर आपको इसे वापस उस व्यक्ति को देना पड़े जिसकी यह वस्तु है, तो यह आपके लिए स्थायी क्षति होगी। एक ऐसी चीज़ जो आप जागरूकता के साथ स्वयं में उत्पन्न कर रहे हैं।
  • वास्तविकता को जांचें। अधिकांश पुरूष अपने बीवी-बच्चों को नहीं छोड़ेंगे। वे विचार करेंगे और फिर बीवी और गर्लफ्रैंड दोनों को रखने का निर्णय लेंगे। 10 प्रतिशत से भी कम विवाहित पुरूष उस स्त्री से विवाह करते हैं जिनके साथ उनका विवाहेतर संबंध है, और वह भी घर तोड़ने वाली औरत के ठप्पे के साथ आता है।

[restrict]

10 प्रतिशत से भी कम विवाहित पुरूष उस स्त्री से विवाह करते हैं जिनके साथ उनका विवाहेतर संबंध है, और वह भी घर तोड़ने वाली औरत के ठप्पे के साथ आता है।

  • आप उस पुरूष के जीवन की प्राथमिकता नहीं बल्कि दूसरा विकल्प बने रहेंगे।

2nd-optinon

  • यह समझ लो कि आपको हर समय इस पुरूष का समय और प्यार नहीं मिल सकता है, खासतौर पर जब आपको जरूरत महसूस हो। यह केवल तभी होगा जब उस पुरूष के अपनी पत्नी और बच्चों के साथ कोई और प्लान ना हों। स्वयं से पूछें कि क्या आप एक पार्ट टाइम प्रेमी बनने के लिए तैयार हैं, जब आपके पास समय और प्यार के संदर्भ में एक परिपूर्ण संबंध में होने की अच्छी संभावनाएं हैं?

बच्चों के बारे में सोचो

  • संभावनाओं को जाचों। अगर आपके पिता का किसी के साथ संबंध होता, तो क्या आप उनसे विवाह ना तोड़ने का अनुरोध नहीं करते? पूरी संभावना है कि उसके बच्चे भी ऐसा ही करेंगे?
  • अपने आप को मना लें कि वह आपकी आवशकताओं और अपेक्षाओं को खुलेपन और ईमानदारी के साथ पूरा नहीं कर सकता है, क्योंकि सब कुछ गुप्त रहेगा। यहां तक कि आप अपने परिवार और मित्रों से भी उसका परिचय नहीं करा सकेंगी।
  • वफादारी और भरोसा एक संबंध का आधार है, इन दोनों ही चीज़ों की उम्मीद आप इस संबंध में नहीं कर सकती हैं, क्योंकि वह पहले ही उसकी पत्नी के साथ बेवफाई कर रहा है और उसने अपनी पत्नी के साथ संबंध में भरोसा तोड़ा है।

क्या आप वास्तव में उसे जानती हो?

  • आप कभी भी इस पुरूष को या उसके व्यक्तित्व को पूरी तरह नहीं जान पाएंगी, क्योंकि आपको उसके साथ थोड़ा ही समय बिताने का अवसर मिलता है और उन क्षणों के दौरान आप अपना सर्वश्रेष्ठ बर्ताव ही करेंगे।
  • एक विवाहित पुरूष के साथ प्यार में पड़ कर, आप अपने जीवन में हमेशा के लिए ईर्ष्या और द्वेश का बीज बो देंगी, क्योंकि वह अपने परिवार के साथ डिनर के लिए जाने और छुट्टियां मनाने से बच नहीं सकता और ऐसे समय के दौरान आप अकेली रह जाएंगी और तन्हा महसूस करेंगी।
  • स्वयं को इससे विपरीत परिस्थिति में रख कर देखने का प्रयास करें। इससे पहले कि आप एक विवाहित पुरूष के साथ संबंध में उतरें, खुद को उसकी पत्नी की जगह पर रखें और स्वयं से पूछें कि अगर ऐसा आपके पति के साथ होता तो। क्या आपको नहीं लगता कि आपको धोखा दिया गया है? क्या आपकी दुनिया नहीं उजड़ जाती? तो आप किसी के जीवन के बिखरे टुकड़ों से अपनी दुनिया बसा रही हैं।
  • क्या आप एक विवाह तोड़ने और उनकी शांति भंग करने के लिए स्वयं को कभी माफ कर पाएंगी, हालांकि मुख्य रूप से यह पुरूष की जिम्मेदारी थी?

क्या आपके उत्तरों में समाधान है?

जब आप स्वयं से सभी उपरोक्त प्रश्न पूछेंगी, तो आप जान जाएंगी कि यह इतना कष्ट उठाने के योग्य नहीं है। अगर वह अपनी पत्नी को धोखा दे सकता है, तो वह आपको भी धोखा दे सकता है। तो यह उस पुरूष के लिए पहला और आखरी विवाहेतर संबंध नहीं होगा। स्वयं को प्यार करें और स्वयं को गले लगाकर यह पूछें कि आप किसी और के जूठे टुकड़ों से खुद को संतुष्ट क्यों करना चाहती हो, जबकि आपको अपना स्वयं का पूरा व्यंजन मिल सकता है। आप जीवन में बहुत अधिक पाने की योग्यता रखती हैं।[/restrict]

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also enjoy:

Yes No