अगर आपका साथी एक कंट्रोल फ्रीक है तो उसका समाना कैसे करें?

जब आपका साथी एक कंट्रोल फ्रीक हो

कंट्रोलिंग लोगों से निपटना आमतौर पर मुश्किल है लेकिन समस्या और अधिक विशिष्ठ हो जाती है जब आपका साथी ही कंट्रोलिंग हो। जब आपका प्यार आपको माइक्रोमैनेज करने की कोशिश कर रहा हो तो भला आप उसका सामना कैसे कर सकते हैं? अगर आपका साथी कंट्रोल फ्रीक है तो आपके लिए यह थकाऊ हो सकता है और सीमाएं अक्सर टूट जाती हैं। अगर आप किसी से प्यार करते हैं और सिर्फ किसी के नियंत्रण करने वाले स्वभाव के कारण उनके साथ संबंध खत्म करना नहीं चाहते, तो आपको उन तरीकों को भी ढूंढने की ज़रूरत है ताकि आपके रिश्ते का तीसरा पक्ष कड़वाहट ना बन जाए।

ये भी पढ़े: मेरे पति के साथ रहना कुछ इस तरह का लगता है

उनसे रूकने को कहो

अक्सर कंट्रोल फ्रीक लोग यह जान नहीं पाते कि वे नियंत्रित कर रहे हैं जब तक आप इसे इंगित ना करें। उन्हें लगता है कि उनके पर्यवेक्षण और सलाह की ज़रूरत है और वे कभी-कभी इस व्यवहार को प्यार और देखभाल का ज़रिया मानते हैं। उन्हें यह बताना कि उनका नियंत्रण करने वाला व्यवहार आपको असहज बना रहा है, उन्हें रातों रात बदल नहीं देगा लेकिन यह उन्हें उनके व्यवहार पर ध्यान देने के लिए मजबूर ज़रूर कर देगा।

कंट्रोल फ्रीक्स के लिए सीमाएं समझना मुश्किल है

वे मदद करना चाहते हैं, आपकी देखभाल करना चाहते हैं और आपका साथ देना चाहते हैं और ज़रूरी नहीं है कि वे हर बार अपनी बात मनवाना चाहते हैं। हालांकि यह व्यवहार लोगों के लिए घुटन भरा हो सकता है वहीं कंट्रोल फ्रीक्स को यह अहसास भी नहीं होगा कि वे अपनी सीमा से आगे बढ़ रहे हैं। इसे एक अतिवादी कन्फ्रंटेशन नहीं होना चाहिए और ना ही झगड़े के बीच में एक प्रतिउत्तर। अपने साथी के साथ एक शांत परिपक्व चर्चा इस व्यवहार को रोकने का सबसे अच्छा तरीका है।

Business woman in black suit showing her denial with no on her hand
woman showing stop sign

ये भी पढ़े: यदि आपका साथी एक ‘फिटनेस फ्रिक’ है, यानी उसे अच्छी स्वास्थ्य का जूनून है, और आप फिटनेस फ्रिक नहीं हैं, तो आप इन ५ चीज़ों को समझ पाएंगी|

अगर वे प्रतिरक्षात्मक हो जाएं तो अपना आपा ना खोएं

आपके कंट्रोल फ्रीक साथी ने अपना अधिकांश जीवन एक निश्चित तरीके से जीया है और आप उनसे रातों रात बदलने की उम्मीद नहीं कर सकते। उनसे यह उम्मीद करना भी मुश्किल है कि वे इसे एक हमले की बजाए रचनात्मक आलोचना के रूप में लें। आप उनसे बदलने को कह रहे हैं और ईंसानों के लिए बदलना भी मुश्किल है। अगर आप किसी को कंट्रोल फ्रीक कहेंगे तो उसकी स्वाभाविक प्रतिक्रिया रक्षात्मक होने की रहेगी और अगर आप इस बात को लेकर लड़ पड़ें तो स्थिति और बुरी हो सकती है।

आपको अपना धैर्य नहीं खोना चाहिए और जब वे रक्षात्मक होने लगे तो शांत रहना चाहिए। आप समय के साथ इस बारे में चर्चा कर सकते हैं और गुस्सा होने की बजाए चीज़ों को सामान्य तरीके से इंगित कर सकते हैं। झगड़ा नहीं करना और इस चर्चा को समय देना महत्त्वपूर्ण है।

स्पष्ट सीमाएं निर्धारित करें

Young couple in valentines day doing a timeout gesture
Set you limits in relationship

अगर आप एक कंट्रोल फ्रीक के साथ रिलेशनशिप में हैं तो यह कदम उठाना मुश्किल भी है और महत्त्वपूर्ण भी। स्पष्ट सीमाएं निर्धारित करने से आपको और आपके साथी को कंट्रोलिंग व्यवहार की पहचान करने में भी मदद मिलेगी, जिससे आप बहुत परेशान हैं।

किसी के लिए कंट्रोलिंग होना मुश्किल है अगर आप नकारात्मक प्रतिक्रिया देते हैं और उनसे कहते हैं कि एक निश्चित सीमा को पार ना करें। फिर से, इसे झगड़े में बदलने की ज़रूरत नहीं है लेकिन यह एक निवारक के रूप में काम कर सकता है। उदाहरण के लिए, अगर आपका साथी आपके काम के बारे में टिप्पणी करता है और अवांछित सलाह देता है तो आप वहां एक सीमा तय कर सकते हैं। आप तब तक काम के बारे में बात नहीं करेंगे जब तक आपको एक दूसरे की राय नहीं चाहिए होगी। इस तरह की चीज़ें आपको एक दूसरे के व्यवहार की एक निश्चित तस्वीर प्राप्त करने में मदद करेगी।

ये भी पढ़े: लॉन्ग टर्म कमिटेड संबंधों के बारे में 5 कठोर सत्य

अधिकांश कंट्रोल फ्रीक्स डर की वजह से ऐसा करते हैं

Summer walk with my love
Couple in discussion

वे छोड़ दिए जाने, गलत व्यवहार किए जाने और गलत होने से डरते हैं। पूरे समय इस डर से गुज़रने की कल्पना कीजिए। हालांकि यह निश्चित रूप से उन्हें दूसरों पर अपना नियंत्रण थोपने का औचित्य नहीं देता है, लेकिन प्रायः यह कोपिंग मैकेनिज़म हो सकता है। ये उनके व्यवहार को रोक नहीं सकता है लेकिन आपको अंतर्दृष्टि प्रदान कर सकता है कि वे वास्तव में ऐसा करते क्यों हैं।

जो लोग कंट्रोल फ्रीक्स के साथ संबंध में होते हैं वे अक्सर उत्तेजित हो जाते हैं क्योंकि वे नहीं जानते कि उनका साथी उन्हें और हर चीज़ को नियंत्रित क्यों करता रहता है। उनके बचपन, और ऐसी संभावित समस्याएं जिनकी वजह से उनका व्यवहार ऐसा बन गया, उनके बारे में जानने की कोशिश करना उन्हें सहानुभूति देने में मददगार हो सकता है। ज्ञान एक शक्ति है और आपके साथी की असुरक्षा को जानने से आपको इस समस्या को कुंठा की बजाए प्यार के साथ हल करने में मदद मिलेगी। जब आप किसी को समझते हैं तो उनसे प्यार करना आसान हो जाता है और जहां कंट्रोलिंग व्यवहार को माफ नहीं किया जा सकता है, वहीं झगड़ों और गुस्से से भरे कन्फ्रंटेशन से यदा-कदा ही कोई हल निकलता है।

Tags:

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

This website uses cookies to ensure you get the best experience on our website.