अमेरिका पहुँचते ही वो शर्मीली लड़की अब बिलकुल बदल गई

Saurabh Das
woman-with-beautiful-smile

(पहचान छुपाने के लिए नाम बदल दिए गए हैं)

राधिका से मैं दो साल पहले एक साझे दोस्त के माध्यम से मिला। वह एक ईमानदार और गंभीर व्यक्ति प्रतीत हुई, और इंदौर में एक बहुराष्ट्रीय कंपनी में काम करने वाली सॉफ्टवेयर इंजीनियर थी। एक प्रोग्रामर के रूप में उसके अमेरिका में स्थानांतरित होने से पहले हम कुछ बार मिले।

मैं उससे दुबारा मिला, उसके जाने के लगभग दो साल बाद। वह दिवाली के लिए भारत आई थी, और हम एक दोपहर को मिले।

वह पूरी तरह से अलग स्त्री थी। उसका उच्चारण अब अमरीकी था, उसके कपड़े पहनने की शैली मामूली से आकर्षक में बदल चुकी थी, और उसकी शारीरिक भाषा सचेत से अति आत्मविश्वासी में बदल चुकी थी।

हम एक कॉफी शॉप में मिले और उसके नए जीवन के बारे में बातें की। अब वह 30 वर्ष की थी और उसने कहा कि निकट भविष्य में उसका शादी करने का कोई इरादा नहीं है। ‘‘मुझे एकल होने और अपनी शर्तों पर जीने में आनंद आता है। मैं अपनी स्वतंत्रता नहीं त्यागने वाली। मैं शादी में फंसना नहीं चाहती।”

ये भी पढ़े: विवाहित हूँ मगर सबको बताती हूँ की मैं सिंगल हूँ

“ठीक है, हाँ, हर कोई आज़ादी को पसंद करता है, लेकिन क्या तुम विस्तार से बता सकती हो?’’ मैंने कहा, मेरी जिज्ञासा मुझे बेहतर बना रही थी।

कुछ नया जानना मज़ेदार है

“देखो, मुझे डेटिंग का खेल पसंद है। यह मुझे एक नशा देता है, मैं अपनी पसंद के लड़कों के साथ घूम सकती हूँ, और फिर निश्चित रूप से वन नाइट स्टैंड्स हैं। मुझे तलाश करना और प्रयोग करना पसंद है।”

“वन नाइट स्टैंड्स? दिलचस्प लग रहा है। मुझे और बताओ,’’ मैंने अपनी क्रीमी आइरिश कॉफी का एक घूंट भरते हुए पूछा।

“देखो, जानने के लिए इतना कुछ है नहीं। यह किसी और के वन नाइट स्टैंड्स से अलग नहीं है।”

“हाँ, मैं जानता हूँ। लेकिन मैं तुम्हारी कहानी जानना चाहता हूँ, सामान्य विवरण नहीं। मुझे बताओ।”

“देखो, अमेरिका में यह बहुत आम है। विवाहित जोड़ों के बीच भी। आप लोगों को डेट करते हैं, उनके साथ जुड़ते हैं और बिस्तर तक का सफर अखंड है। आप पब में जाते हैं और एक साथी चुन लेते हैं, यह वहां बहुत आसान है।”

“और यह अच्छा क्यों है?’’

“क्योंकि यह मुझे विचारशील और संतुष्ट रखता है। मेरी कुछ इच्छाएं हैं और मुझे साथ चाहिए, और मैं हमेशा स्वयं को आनंद देना नहीं चाहती। इसलिए मुझे डेटिंग पसंद है, मैं किसी के साथ अंतरंग हो सकती हूँ, भले ही यह थोड़ी देर के लिए हो, एक रात के लिए।”

मैं प्यार की तलाश में नहीं हूँ

“यह काफी दिलचस्प है! लेकिन क्या यह प्यार है?’’

ये भी पढ़े: पति और एक्स के सैक्स्ट पढ़ पत्नी ने लिया ये अनूठा कदम

“नहीं, यह प्यार नहीं है। यह मज़ा है। फिलहाल, मुझे प्यार में रूचि नहीं है। जब होना होगा तब यह हो जाएगा। और हैरानी की बात है, जब मैं एक संबंध के विषय में गंभीर होने का प्रयास करती हूँ, लड़का गायब हो जाता है,’’ उसने हंसते हुए कहा, ‘‘और यही कारण है कि मैंने गंभीर होना छोड़ दिया है। मैं बस बाहर जाती हूँ और हर किसी की तरह प्रयोग करती हूँ।”

“शादी के बाद वन नाइट स्टैंड्स के बारे में तुम्हारा क्या ख़याल है?’’

“उसके बारे में मैं कुछ नहीं कह सकती, मैं विवाहित नहीं हूँ इसलिए उन पर राय रखने के लिए मैं सही व्यक्ति नहीं हूँ। लेकिन शादी होने के बाद मैं निश्चित रूप से तुम्हें बताऊंगी,’’ उसने मुस्कुराते हुए कहा।

और तभी मुझे अहसास हुआ कि अंततः स्त्रियों का समय आ गया है। वे अन्वेषण और प्रयोग कर रही हैं और यह एक अच्छा विचार है। लेकिन फिर, मैं भारत के बारे में सोचने लगा। बेशक, भारत में वन नाइट स्टैंड होते हैं, लेकिन ज़्यादातर महानगरों में। स्त्रियां तभी स्वतंत्र हैं जब वे आत्मनिर्भर हैं (आर्थिक रूप से और अन्यथा) और बड़े शहरों में रहती हैं। छोटे शहरों और गाँवों की कहानी अब भी वैसी ही है। स्त्रियां घुटन भरी पितृसत्ता के बीच उन्हीं प्रतिबंधों के साथ रहती हैं।

और फिर मैंने उससे सबसे कठिन प्रश्न पूछा।

भारत में करने के बारे में क्या?

मैंने उससे पूछा कि क्या वह भारत में भी उस चीज़ के लिए तैयार रहेगी। और उसने एक सुस्पष्ट ना में उत्तर दिया।

ये भी पढ़े: मैंने मैसेज किया ‘‘चलो मिलते हैं” और उसने दोस्ती समाप्त करना पसंद किया

“भारत वन नाइट स्टैंड के लिए उपयुक्त स्थान नहीं है, कम से कम मेरे लिए। मुझे यहां के पुरूषों पर भरोसा नहीं है। मैं टिंडर के माध्यम से कुछ पुरूषों के संपर्क में आई लेकिन उनमें से अधिकतर चिपकू थे। वे चिपकू की तरह बर्ताव करते हैं और उनसे दुबारा मिलने के लिए आप पर दबाव डालते हैं। मैं एक आज़ाद पंछी हूँ और मुझे यह पसंद नहीं है। वन नाइट स्टैंड का अर्थ सेक्स के बाद वापस मिलना नहीं है। यह एक ही बार होता है और फिर, गुडबाइ!’’ आखिरकार, क्या यह केवल अलग-अलग लोगों के साथ सेक्स के शारीरिक पहलूओं को तलाशने के बारे में नहीं होता?’’

“और उसके अलावा, भारत में मुझे ‘सेक्स करने’ की इच्छा नहीं होती। मैं इसे अमेरिका पर ही छोड़ देती हूँ। भारत और अमेरिका दोनों मुझे अलग अनुभूति देते हैं। भारत में मुझे सीधी साधी लड़की ही रहने दो।”

इसलिए वैसे भी, वह बस एक स्त्री है, ऐसी कई होंगी जो जीवन को अपनी शर्तों पर जी रही होंगी और यह पूरी तरह ठीक है।

उसने मुझे धोखा दिया लेकिन चाहता है कि मैं उसे वापस अपना लूँ

स्त्रियाँ अब भी यह स्वीकार करने में शर्मिंदगी क्यों महसूस करती हैं कि वे हस्तमैथुन करती हैं

You May Also Like

Leave a Comment

Login/Register

Be a part of bonobology for free and get access to marvelous stories and information.