5 वस्तुएं जो एक सुखी जोड़ा करता है, पर अन्य लोग नहीं।

Team Bonobology
Happy-couple

कभी कोई सुखी जोड़ा देखा है? क्या कभी ऐसा जोड़ा देखा है जो साथ में इतने खुश हों कि उनके लिए हर दुखी वस्तु एक अड़चन के सिवा और कुछ नहीं जिसे दूर करना हो? एक जोड़ा जो इतना खुश हो कि वे खुशी की चमक बरसाते हों; उनका साथ अपने आप में प्रमाण है कि सुखी जोड़े भी होते हैं। यहां कुछ आचरणों की सूची है जिनमें सुखी जोड़े बर्ताव करते हैं।

1. केवल सच

खुशी को गोपनीयता से अधिक और कोई नहीं मारता है। बेशक आप अपनी गोपनीयता के हकदार हैं, लेकिन सुखी जोड़े अपने सारे राज़ एक दूसरे के साथ साझा करते हैं। बल्कि, उनके बीच कोई राज़ होता ही नहीं है। ऐसा कोई फोन पासवर्ड नहीं है जो उनके साथी को पता ना हो, कोई एल्बम अनुपलब्ध नहीं, कोई छल कपट की कहानी नहीं -जानकारी के बाहर कुछ भी नहीं। गोपनीयता का अर्थ है गोपनीयता – केवल एक दूसरे के साथ नहीं। सबसे अधिक खुशहाल लोग तभी खुश रहते हैं जब रिश्ते में बेईमानी का कोई स्थान नहीं होता।

Paid Counselling
ये भी पढ़े: 6 संकेत की आपका साथी आपसे सच में प्यार करता है – संकेत जो हम लगभग हमेशा भूल जाते हैं।

2. वे इस विषय में बात करते हैं

सभी जोड़ों के पास कभी कभार ‘बात’ करने के लिए कोई विषय होता है। सुबह आपके मध्य हुए किसी झगड़े के बारे में बातचीत, इस तथ्य को स्वीकार करना कि आप आपके साथी का दृष्टिकोण समझते हैं: आप असहमत हैं लेकिन इसे बहस में नहीं बदलते। सुखी जोड़ों में जितना आप सोचते हैं उससे अधिक झगडे़ होते हैं, लेकिन वे चीज़ों को दबाने की जगह उसपर खुले तौर पर चर्चा करने के लिए तत्पर रहते हैं।

3. वे स्पर्श के माध्यम से व्यक्त करते हैं

नहीं, हम सेक्स के बारे में बात नहीं कर रहे हैं।

बाहर जाने से पहले एक हल्का सा चुंबन आपके प्रति उसका प्यार व्यक्त करता है। हाथ पर एक थपकी, एक आलिंगन, माथे पर चुंबन, गालों को हल्का सा खींचना – ये भाव प्रदर्शन हैं और इनके बारे में कुछ भी कामुक नहीं है। शारीरिक स्पर्श में लिपटना, पास लेटना, गले लगाना, हल्की मालिश और हाथ थामना शामिल है। गैर कामुक स्पर्श आपके प्यार को आपके साथी तक पहुँचाते हैं और इनका हमेशा कामुक होना आवश्यक नहीं है। सुखी जोड़े प्रेम के आवश्यक प्रदर्शन से भागते नहीं हैं।

ये भी पढ़े: प्यार जताने के लिए पुरूष ये 6 चीज़ें करते हैं

4. नज़रे ना चुराना

सुखी जोड़े एक-दूसरे के साथ फ्लर्ट करते हैं, दूसरों के साथ नहीं। सुखी जोड़ों को उनके अहं को बढ़ावा देने के लिए या उनकी भावनाओं को मान्यता देने के लिए किसी की ज़रूरत नहीं होती है। एक दूसरे के साथ फ्लर्ट करने से उनके रिश्ते में जोश बढता है, और उनका रहस्य एक दूसरे के लिए उनकी अद्वितीयता हैं। उनकी आँखे सिर्फ एक-दूसरे को देखती हैं किसी और को नहीं।

5. वे रिश्ते के अच्छे पहलुओं पर ध्यान केंद्रित करते हैं

एक खुशहाल रिश्ते में, दोनों रिश्ते के सुखी पहलुओं को महत्त्व देते हैं। वे एक दूसरे से बदला लेने को तत्पर नहीं रहते हैं। यदि कुछ गलत हो जाता है, तो वे बुराईयों पर टिके रहने की जगह अच्छी यादों और अपने साथी की अच्छाईयों पर ध्यान देते हैं। अगर आपके साथी ने चिकन को थोड़ा ज़्यादा भून दिया, तो उसकी मेहनत को स्वीकार करें, गर्मी में आपके लिए काम करने पर उसकी तारीफ करें। सबसे सुखी जोड़े अंतिम परिणाम को महत्त्व देने की जगह छोटे छोटे प्रयासों को पसंद करते हैं।

इस पर आपके क्या विचार हैं। हमें नीचे कमेंट विभाग में बताएं।

क्या हम पत्नियों के वेश में महिमापूर्ण नौकरानियां हैं

मैं अत्याचारी पति से अलग हो चूकी हूँ लेकिन तलाक के लिए तैयार नहीं हो पा रही हूँ

You May Also Like

Login/Register

Be a part of bonobology for free and get access to marvelous stories and information.