Dipannita Ghosh Biswas

Writing did not strike Dipannita Ghosh Biswas one fine day. Playing with words came naturally to her and she loved what she did. A writer by passion and profession, with more than a dozen years of experience across leading publications and content marketing agencies, words – reading and writing – add a spring to her step.

जब पति का ३८ साल से छुपा राज़ खुला

आरती आंटी अपने पूरे जीवन के दौरान एक सच्ची गृहणी रही थीं। जब उन्होंने बृजेश अंकल से शादी की, वे 700 रूपये के मामूली वेतन के साथ भारतीय सेना में एक क्लर्क थे। लेकिन जिस तरह आंटी ने सभी बिलों को संभाला और सभी जिम्मेदारियों का ख्याल रखा, उसने सभी को विस्मित कर दिया। ब्रजेश …

जब पति का ३८ साल से छुपा राज़ खुला Read More »

Lonely-young-woman-in-sorrow-sitting-on-the-swing-1

मैं उसका गुप्त रहस्य नहीं बनना चाहती थी

जैसा दीपान्नीता घोष बिस्वास को बताया गया मेरा प्यार मुझे बांध रहा था, मेरा प्यार मुझे भ्रमित कर रहा था, मेरा प्यार मुझे आगे नहीं बढ़ने दे रहा था…..और फिर भी मैं चाहती थी कि प्यार करती रहूँ। मुझे नहीं पता था कि आगे बढ़ जाने और बंधन मुक्त होने की भावना कैसी महसूस होगी …

मैं उसका गुप्त रहस्य नहीं बनना चाहती थी Read More »

scared-woman-with-wounded-face

उसने झूठ का एक जाल बुना और पुरूषों के प्रति मेरे विश्वास को नष्ट कर दिया

जैसा अनुप्रीता द्वारा दीपान्नीता घोष बिस्वास को बताया गया मेरे गृहनगर से दिल्ली स्थानांतरित होना एक बड़ी बात थी। नए लोगों के साथ नए शहर में समायोजित होना आसान नहीं था, लेकिन, कॉलेज मज़ेदार था और मुझे दिल्ली में एक छात्र होने की हर बात में आनंद आने लगा था। मैंने कुछ नए दोस्त भी …

उसने झूठ का एक जाल बुना और पुरूषों के प्रति मेरे विश्वास को नष्ट कर दिया Read More »

man-thinking-about-his-problems

काश मैं जान पाता कि मेरी पत्नी ने दूसरे विवाहित पुरूष के लिए मुझे क्यों छोड़ दिया

(जैसा दिपान्निता घोष बिस्वास को बताया गया) पहचान सुरक्षित रखने के लिए नाम बदल दिए गए हैं मैंने दूसरी बार नहीं सोचा – मैं जानता था कि मैं अनिका से शादी करना चाहता था और मैंने अपने परिवार को मनाया। हालांकि उसने अपने परिवार को मनाने में थोड़ा समय लिया, क्योंकि वे कुछ ज़्यादा ही …

काश मैं जान पाता कि मेरी पत्नी ने दूसरे विवाहित पुरूष के लिए मुझे क्यों छोड़ दिया Read More »

widow-lady

विधवा होने के बाद, उसके माता-पिता भी उसे सामान्य और सुखी देखना नहीं चाहते थे

(पिंकी भुयान, जैसा दिपान्निता घोष बिस्वास को बताया गया) क्या मैं अनौतिक स्त्री हूँ? क्या मैं अपने बेटे के साथ अन्यायपूर्ण रही हूँ? क्या खुश होने और एक ‘सामान्य’ जीवन जीने की इच्छा रखना गलत है? नियती ने मेरे जैसे किसी व्यक्ति के प्रति विशेष रूप से कठोर होना क्यों चुना, जो केवल एक सुरक्षित …

विधवा होने के बाद, उसके माता-पिता भी उसे सामान्य और सुखी देखना नहीं चाहते थे Read More »

Woman talking on laptop

मैं एक अन्य पुरूष के प्रति आकर्षित हूँ और मुझे इसका पछतावा नहीं है

(जैसा दिपान्निता घोष बिस्वास को बताया गया) हर दिन दिनचर्या की एकरसता से भरा हुआ है। मैं एक माँ, एक पत्नी और एक सफल पेशेवर हूँ और ये सारी भूमिकाएं पूरी नहीं, तो मेरी अधिकांश ऊर्जा और समय तो ले ही लेती हैं। घर चलाने से लेकर समय-सीमा में काम समाप्त करना, मुझे यह सब …

मैं एक अन्य पुरूष के प्रति आकर्षित हूँ और मुझे इसका पछतावा नहीं है Read More »

This website uses cookies to ensure you get the best experience on our website.