Shahnaaz Khan

Shahnaaz Khan has completed her Masters in Conflict Analysis and Peace Building from Jamia Millia Islamia, New Delhi. She wishes to continue delving into relationships, be they be intergroup or interpersonal. Writing helps her understand people better, to empathise, and to value dialogue and discussion above all else.

lady crying badly

खोए हुए प्यार की निशानियों से कैसे निपटें

(अनुरोध पर नाम बदल दिए गए हैं) हम सभी ने सुना है कि प्यार जीवन को अर्थ देता है। लेकिन क्या आपने महसूस किया है कि प्यार चीज़ों को अर्थ देता है? मटीरीयल, शारीरिक, मूर्त चीज़ें – प्यार जैसी क्षणिक और अकथनीय चीज़ का प्रतिवाद। फिर भी जीवनभर, हम भावनात्मक मूल्य के लिए चीज़ों को …

खोए हुए प्यार की निशानियों से कैसे निपटें Read More »

कैसे टिंडर के एक झूठ ने तोडा एक छोटे शहर के युवक का दिल

(जैसा शहनाज़खान को बताया गया) अपने पिता की मौत के बाद मैं अपने लिए बेहतर ज़िन्दगी बनाने और उस माहौल से निकलने के लिए दिल्ली आ गया.मेरी नौकरी मुझे हफ्ते के छह दिन तो काम में ही उलझाए रखतीथी, और बचा एक दिन मैं अपने एक रूम के कमरे में सोता बिता देता था. इसी …

कैसे टिंडर के एक झूठ ने तोडा एक छोटे शहर के युवक का दिल Read More »

This website uses cookies to ensure you get the best experience on our website.