एक लड़की अपना अनुभव साझा करती है जिसने एक विवाहित पुरूष के साथ अपनी वर्जिनिटी खो दी

Anney Sam
close-up-of-kissing-couple

जैसा कि ऐनै सैम को बताया गया

मेरा जन्म 60 के दशक में हुआ था – शादी तक कुंवारी होने को बहुत महत्त्व दिया जाता था। इसे शांत स्वरों में ‘पहली रात’ कहा जाता था। मैं एक जिज्ञासु लड़की थी और हालांकि मुझे अपनी स्कूल लाइब्रेरी से सारी जानकारी मिल गई, मुझे जल्द ही अहसास हुआ कि यह व्यवहारिक अनुभव का विषय है और मैं पहली रात की प्रतीक्षा नहीं कर रही थी। 1975 में, मैंने दसवीं बोर्ड की परीक्षा उत्तम अंकों से उत्तीर्ण की। अध्ययन और खेल में अच्छे प्रदर्शन को छोड़कर उन दिनों और आप क्या कर सकते थे? मैं एक श्रेष्ठ धावक भी थी और मेरे कोच चाहते थे कि मैं राज्य स्तर के लिए ट्रेनिंग करूं।

ये भी पढ़े: अपने बॉयफ्रैंड को शर्म से लाल करने के लिए उसे ये 6 बातें कहिए

मेरी स्कूल लाइब्रेरी ने मेरी कल्पना की सभी परिकथाओं को नकार दिया था। उसके बाद मिल्स एंड बून्स रोमांस, जॉर्जेट हेयर और द गॉडफादर से पृष्ठ 98 थे, जिसमें सौनी नायिका के साथ अक्रामक सेक्स कर रहा था। कान्वेंट स्कूल की प्रत्येक लड़की सोचती थी कि उसे अपना टॉल, डार्क और हैंडसम लड़का मिलेगा जो उसे उड़ा कर ले जाएगा और वे दोनों हमेशा खुश रहेंगे।

Paid Counselling

मान लो कि मैं कभी सेक्स ना कर सकूं?!

वर्ष था 1976, मैं 16 साल की थी और एक मुसीबत टूट पड़ी – मेरे भाई को स्कित्ज़ोफ्रेनिया था और मैं जानती थी कि सीरियाई ईसाई समुदाय में से कोई सम्मानजनक परिवार विवाह प्रस्ताव के साथ नहीं आएगा। मैं प्रतिभाशाली और बुद्धिमान थी इस बात को गिना नहीं गया, और मेरे पिता के पास इतना पैसा नहीं था कि जो परिवार में मानसिक बिमारी जैसे बड़े कलंक की प्रतिपूर्ति कर सके।

मेरी सबसे बड़ी चिंता यह थी कि मैं कभी सेक्स का अनुभव नहीं करूंगी और कुंवारी ही मर जाउंगी।

मुझे कहना होगा कि चर्च या समाज द्वारा नियमों का पालन करने के लिए मैं पर्याप्त रूप से राज़ी नहीं थी, और इतनी स्मार्ट थी कि इसे कभी ज़ाहिर नहीं किया। फिर, मैंने मैमोरीज़ ऑफ गीशा पुस्तक पढ़ी; जिसमें हाइमन या मिज़ुएज प्रशिक्षण के अगले चरण तक पहुंचाते हैं, सीनियर माइको तक। एक गीशा स्मरण लिखते समय आर्थर गोल्डन से मिली एक गीशा माइनको इवासाकी ने अपनी आत्मकथा में एक दीक्षा संस्कार के रूप में मिज़ुएज का वर्णन किया, होने वाली गीशा का प्रतीक कौमार्य का खोना नहीं बल्कि हेयर स्टाइल में बदलाव था।

ये भी पढ़े: मेरे ब्रेकअप की वजह से मैं यौन रूप से अत्यंत हताश हो गया था

मैंने फैसला किया कि मैं अपने कौमार्य को खोने के लिए एक मलयाली सीरियाई ईसाई से शादी करने के लिए दहेज नहीं दूंगी और जिंदगी भर उसकी गुलाम बन कर नहीं रहूंगी। फर्ग्यूसन कॉलेज में मुझे महाराष्ट्रीयन मम्माज़ बॉय के बीच में मेरे मिजु़एज के लायक कोई नहीं मिला; वे गोरे और प्यारे तो थे लेकिन उनमें कोई जोश नहीं था।

कार्य के लिए परिपक्व

तो यहां मैं 17 साल की लड़की थी, कलकत्ता, जहां मेरे पहचान वाले स्थानांतरित हुए थे, वहां की साड़ी और रेडीमेड ब्लाउज़ पहनती थी। मैं एक 100 वर्ष पुरानी पत्थर की इमारत में रहती थी – मैं भाग्यशाली थी कि मैं कमरे में अकेली रहती थी। मैं कैमिस्ट्री पढ़ रही थी – मैं पढ़ाकू थी, अच्छे अंक प्राप्त करती थी, शांत थी, मूल रूप से स्वतंत्र थी -हालांकि देख कर कोई भी यह अनुमान नहीं लगा सकता था।

तब ब्रहमांड ने मुझे एक उपहार देने की साजिश रची। यह पूना से 5 लड़कियों को एयर विंग एनसीसी में पहली बार प्रवेश के लिए चुने जाने के रूप में आया। परेड रविवार को वाडिया कॉलेज के विशाल मैदानों में होती थी। पहले दिन, मैंने 6:45 बजे डेक्कन जिमखाना से पहली बस ली। मैदान में कोई नहीं था, लेकिन ग्रे रंग के कपड़े पहने एक आदमी ने मुझे मैदान के अंतिम छोर से हाथ दिखाया। मैंने नीली वर्दी, टोपी जैसी स्मार्ट कैप और जूते पहने थे और उसी स्थान पर जड्वत हो गई थी जब मैंने सी आकार के स्टेडियम में इस व्यक्ति को दौड़ते हुए देखा। जब वह मेरे पास आया, मेरा दिल ज़ोरों से धड़क रहा था, मेरे कान लाल हो गए थे और मैंने हकलाते हुए ‘गुड मॉर्निंग सर’ कहा।

smitten-girl

Representative Image Image Source

ये भी पढ़े: अपमानजनक लिव-इन संबंध से एक औरत के बच निकलने की कहानी

टॉल, डार्क एंड हैंडसम

टॉल, डार्क एंड हैंडसम से डार्क बाहर चला गया, मेरे सामने देवता समान पुरूष खड़ा था – जो 6 फुट 2 इंच लंबा, हरी-नीली-भूरी आँखों वाला व्यक्ति था और उसका रंग जोर्ज क्लूनी की तुलना में थोड़ा बेहतर था। उसके शानदार लुक का कारण दूसरी पीढ़ी का यहूदी होना था, और उसकी फिटनेज़ का राज़ एक पूर्व एनडीए कैडेट और स्नातक होना था। वह एक एयरफोर्स ऑफिसर था जो उड़ान में कैडेट को प्रशिक्षित किया करता था और सेनापति बापट रोड पर एनसीसी मुख्यालय में सीओ था। वह स्थान मेरे हॉस्टल से कुछ ही मिनट की दूरी पर था।

रिश्ते बनाना मुश्किल है, उन्हें बनाए रखना और भी मुश्किल

मुझे लगता है कि उसने मुझे बौद्धिक रूप से बहका दिया -उसने मुझे गैस्टल्ट पर फ्रिट्ज़ पर्ल द्वारा एक पुस्तक दी, और हमने मनोवैज्ञानिक हित के मामलों और लेनदेन संबंधी विश्लेषण पर चर्चा की। 37 वर्षीय विवाहित पुरूष, एक 11 वर्षीय बेटे का पिता, उसने मुझे एनडीए परिसर में उड़ना सिखाया। उसने मेरे भीतर काफी कुछ और शुरू कर दिया -जब एक रविवार की दोपहर उसने मुझे होस्टल में ढूंढा। मैं परेड पर नहीं पहुंच सकी थी और वह चिंतित था। मैं बुखार से उबर रही थी। ‘चलो उठो’ उसने कहा, ‘‘आओ और हमारे साथ लंच करो।”

तब तक, मैं एक भरोसा कायम कर चुकी थी जो आप केवल एक अच्छे शिक्षक के साथ ही बना सकते हैं।

“मेरी पत्नी घर पर नहीं है….’’

फर्ग्यूसन से हडपसर तक जहां वह रहता था, लगभग दस किलोमीटर था, और उसकी ग्रे वेस्पा में आधी दूरी तय करने के बाद, उसने कहा, ‘‘मेरी पत्नी और बेटा बम्बई में उसके मायके गए हैं।” मेरा दिल धड़कने लगा। मैंने कुछ नहीं कहा। उसने कहा, ‘‘तुम समझ रही हो इसका क्या मतलब है?” और मेरे मन में मैंने सोचा, ‘‘हाँ इसी पुरूष को मैं अपना मिजु़एज दूंगी” मेरे भीतर डर और उत्तेजना का मिश्रण भर गया। मुझे एक पल के लिए भी नहीं लगा कि मैं गलत कर रही हूँ। वह मेरा पल था -और मैंने उसे थाम लिया -यह एक सचेत निर्णय नहीं था, लेकिन मेरे मन में मैं जैकपॉट जीत चुकी थी। मेरा कौमार्य प्राप्त करने के सभी मापदंडों को वो पूरा करता था। और कुछ नहीं तो, कम से कम उसके पास सेक्स करने का 12 वर्ष का अनुभव तो था।

ये भी पढ़े: मैंने प्लेन में मिले एक लड़के के साथ वन नाइट स्टैंड किया, और फिर उसीसे शादी कर ली

कहानी को संक्षेप में बताने के लिए, एक गर्म पानी का स्नान, जो हमने साथ में लिया, उसने मुझे ड्रेसिंग टेबल पर पूर्ण लंबाई के दर्पण के सामने खड़ा कर दिया और इस खूबसूरत पुरूष द्वारा नग्न अलौकिक लड़की को थामने की याद मेरे मन में हमेशा के लिए अंकित है।

काम हो गया था….फिर क्या?

हमने ‘यह’ स्टडी टेबल पर किया, एक लंबे फोरप्ले के बाद -मेरे लिए सब कुछ नई चीज़ जानने जेसा था। मुझे लगता है कि उसने स्टडी टेबल को इसलिए चुना था ताकि उसके वैवाहिक बिस्तर पर लाल दाग की संभावना ही खत्म हो जाए। इसके साथ ही मुझे जोड़ना चाहिए, उसकी पत्नी एक डॉक्टर थी जो एएफएमसी में पढ़ाती थी, बेहतरीन दिखती थी और अपनी निर्मल सुंदरता से कई मेडिकल छात्रों को मंत्रमुग्ध कर देती थी।

उसने सूर्यास्त के बाद मुझे वापस होस्टल छोड़ दिया, और मैं भाग कर अपने कमरे में पहुंच गई और शीशे में अपने प्रतिबिंब को देखने लगी – मेरी छवि में किसी बहुत बड़े अंतर की तलाश करते हुए। कुछ नहीं। कौमार्य और सेक्स के लिए कितना कुछ। कितनी नीच हरकत! इसके लिए लोग जान ले लेते हैं! मुझे गलत मत समझना -मैंने सेक्स की सुंदरता का आनंद लेना सीखा -लेकिन वह एक अलग ही कहानी है। कोई आश्चर्य नहीं कि गीशा ने अपनी हेयर स्टाइल बदल दी!

अपनी प्रेमिका के प्रति हर पुरूष के मन में ये 7 सेक्सी विचार आते हैं

प्यार में होने पर एक लड़की ये 10 बातें महसूस करती है

You May Also Like

Leave a Comment

Login/Register

Be a part of bonobology for free and get access to marvelous stories and information.