Hindi

एक पति, एक अत्यधिक प्यार करने वाला प्रेमी और दोनों पुरूषों से एक-एक बच्चा

वह दो पुरूषों, दो बच्चों और बहुत सारे कुत्तों के साथ रहती थी। उनकी अपरंपरागत व्यवस्था के पीछे क्या कहानी थी और यह कैसे खत्म हुआ?
2 man with 1 women

एक देवी जैसी आकर्षक स्त्री

सीमांतनी एक आकर्षक स्त्री थी। उसे प्रकृति द्वारा गोलाईदार शरीर और बड़े स्तनों का आशिर्वाद प्राप्त था। प्यारी मलाइदार त्वचा, शरारत से भरी बड़ी जीवंत आंखें। एकमात्र कमी जो मुझे नज़र आती थी वह ऊंचाई थी लेकिन भारतीय मानकों से वह निश्चित रूप से ठीक थी। एक दीप्तीमान मुस्कान और बूट करने के लिए अत्यंत प्रीतिकर, फ्लर्ट भरी बातें। उसे ज़्यादा मेकअप की ज़रूरत नहीं थी; बस थोड़ा काजल और पाउडर उसकी आँखों को सुशोभित करता था, और थोड़ी सी लिप्सटिक -वास्तव में मेरे लिए तो यह भी बहुत ज़्यादा था, लेकिन यही युवा सीमा थी।

हाल ही में मैं उससे मिली और मैंने देखा कि बढ़ती उम्र का उसपर कोई असर नहीं हुआ था। उसके बच्चे बड़े हो गए थे और कोर्पोरेट में उसकी ट्रेजेक्टरी भी, और अब वह हर महीनें कुछ लाख रूपए कमाती है और संतुष्ट है। उसका वर्णन करने का यह बहुत ही साधारण तरीका है। वह बेहद खुश है और उसकी मुस्कान जीत की भावना, एक निरंतर उत्सव को प्रसारित करती है -हुर्रे।

ये भी पढ़े: आज की द्रौपदी… जिसने दो पुरुषों को एक साथ प्यार किया!

वह अपरंपरागत सेटअप में रहती थी

जब मैं उससे मिली तब वह संघर्ष कर रही थी। वह झारखंड से बैंगलोर चली गई थी और घर का खर्चा वही चलाती थी। एक बड़े से घर में 8 नस्ल के कुत्ते, एक यार्ड, दो आसामी नौकरानियां, सात साल से कम उम्र के दो बच्चे और दो पुरूष रहते थे। हम हमेशा उनके घर पर बहुत मज़ा करते थे, बहुत हंसी मज़ाक, खाना और ड्रिंक। उसके पति राणा के पास एक बाइकर के लुक्स और शरीर था, लेकिन वह कभी भी स्थिर नौकरी नहीं कर पाता था। वह एक अच्छा कुक था और इसलिए केटरिंग ऑर्डर ले सकता था। कभी ना कभी ये काम असफल हो जाते थे और ज़िम्मेदारी फिर से सीमा की आ जाती थी।

दूसरा पुरूष, रतन भी हंक था – अत्यंत सुंदर और राणा की तरह ही सुगठित शरीर वाला रतन अरूणाचल की पहाड़ियों से संबद्ध था। हम विनम्र रहते थे और कभी नहीं पूछते थे कि उनके बीच क्या समीकरण था। यह देखना अच्छा था कि दोनों पुरूष अच्छे दोस्त थे; वे एक मैकेनिक की दुकान में काम करते थे जो उन्होंने यार्ड में स्थापित की थी, वे माइक्रो लाइट प्लेन्स की मरम्मत करते थे और यात्रा कर रहे विदेशियों को बेच देते थे। और वे सीमा और बच्चों से प्यार करते थे।

ये भी पढ़े: इसे केवल सेक्स तक सीमित होना था लेकिन मैंने प्यार में पड़ कर इसे खराब कर दिया

तब उसने मुझे पृष्टभूमि की कहानी सुनाई

एक दिन सीमा किसी चीज़ से परेशान दिख रही थी, और मेरे पूछने पर, उसने सब बता दिया। वह पारिवारिक परिस्थिति से नाखुश थी और इस तथ्य से भी कि उसके हाथ से पैसा अनियंत्रित तौर पर बह रहा था। फिर उसका संकोच टूट गया और उसने बताया कि कैसे वह सिर्फ 16 साल की उम्र में राणा से मिली और जल्द ही उससे शादी कर ली। और उनके बेटे के पैदा होने के बाद उसके ससुराल वालों के उनकी आर्थिक मदद करना बंद कर दी और खुशी गायब हो गई। हिंसा शुरू हो गई और यह छः फुट लंबा दानव क्रोध और निराशा के उन्माद में उसे बहुत मारता था।

angry man

एक दिन, वह अपने बच्चे के साथ बाहर निकल गई या बल्कि भाग गई, और अकेली पास के निकटतम शहर में पहुंच गई। फिर उसने एक बड़े बंगले का आउटहाउस किराए पर ले लिया जिसके मालिक एक सेवानिवृत्त व्यापारी, उसकी उदार पत्नी और तीन बेटे थे। उसने एक नौकरी कर ली और वह खुश थी कि जब वह नौकरी पर जाती थी तब आंटीजी उसके बच्चे की देखभाल करती थी। राणा ने उन्हें बुलाने या फिर लेने जाने से इन्कार कर दिया। उसके ससुराल वाले उसे ताने मारने लगे कि वह पलक झपकते ही नई बहू ले आएंगे …यह स्वागत योग्य विदाई थी।

युवा पुरूष के साथ उसका संबंध कैसे शुरू हुआ

एक रात बच्चे को बुखार हो गया जो बढ़ता ही जा रहा था – वह एक युवा माँ थी और डर गई थी कि वह बच्चे को खो देगी। वह एक छोटा सा शहर था और वह नहीं जानती थी कि क्या करे। वह मदद के लिए चिल्ला रही थी लेकिन बड़े घर में हर कोई शादी में गया हुआ था, सिवाए सबसे छोटे सदस्य के जो 17 वर्षीय रतन था, जिसकी अगले दिन 12वीं क्लास की परीक्षा थी। उसने अपने पिता की जीप ले ली और सीमा और बच्चे को जल्द ही पारीवारिक डॉक्टर के घर ले गया। युवा रतन के मन में एक चिंगारी सुलग गई थी, और जल्द ही उसने आउटहाउस में घुसने और इस देवी की पूजा करने के तरीके ढूंढ लिए। एक पैशनेट संबंध शुरू हो गया।

ये भी पढ़े: विवाह और कैरियर! हम सभी को आज इस महिला की कहानी पढ़नी चाहिए

यह चलता रहा और फिर एक दिन सीमा को पता लगा कि वह फिर से गर्भवती थी, और उसी दिन राणा उसके घर पहुंच गया। कई माफी और आंसूओं के साथ उसने कहा कि उसे वापस स्वीकार कर ले; वह उसके और बच्चे के बिना नहीं रह सकता। नौ महीने बाद एक बेटी पैदा हुई; रतन और सीमा दोनों जानते थे कि उसका पिता कौन था, राणा नहीं जानता था। (शायद वह जानता था लेकिन उसे कोई फर्क नहीं पड़ता था?) अब सीमा एक अजीब सी परिस्थिति में थी – एक निकम्मा पति, एक अत्यधिक प्यार करने वाला प्रेमी और दोनों पुरूषों से एक बच्चा। और तभी भगवान ने उसे एक शानदार अवसर दिया; उसे बैंगलोर में एक मल्टी नेशनल कंपनी में मैनेजर के पद का प्रस्ताव दिया गया था।

रिश्ते बनाना मुश्किल है, उन्हें बनाए रखना और भी मुश्किल

ये भी पढ़े: एक से ज़्यादा लोगों से प्यार करना गलत है या सिर्फ अलग है?

एक दिन उसके बेटे ने उसे चुनने के लिए कहा

पूरा परिवार चला गया। बढ़ते बच्चों के साथ एकल आय अपर्याप्त थी, इसलिए पुरूषों ने मैकेनिक संगठन और कुत्तों का प्रजनन शुरू किया। आय अब भी मुश्किल से उनका भरण पोषण कर पाती थी। फिर वह बेहतर भुगतान करने वाली नौकरियों से उच्च पदों वाली और बेहतर कंपनी वाली नौकरियां बदलती रही। उसका चमकदार व्यक्तित्व हमेशा चमत्कार करता था। इस व्यवस्था के लगभग दस साल बाद उसके बेटे ने उससे इस बारे में पूछा और दो पुरूषों में से एक को चुनने का कहा। उसके लिए यह बहुत स्पष्ट होता जा रहा था कि उनका परिवार बहुत असाधारण और अपारंपरिक है और हालांकि वह दोनों पुरूषों और अपनी बहन से प्यार करता था, जो रतन जैसी ही दिखती थी, फिर भी थोड़ी सामान्यता तो लाई ही जानी चाहिए।

कई वर्षों बाद सीमा ने अंततः विवाह के पारंपरिक बंधन की तुलना में प्यार की स्वतंत्रता को चुना; यह अब भी ऐसा परिवार है जहां प्यार का राज चलता है। उसने कानूनी तौर पर अपने पति को तलाक दे दिया और रतन के साथ रहने लगी, जिसका मालदीव में पारिवारिक व्यापार है। बच्चों की नौकरी लग चुकी है, अच्छी तरह एडजस्ट हो चुके हैं और उनमें बहुत तहज़ीब है। और सीमा भी। अंत भला तो सब भला।

मैंने उसे फिर अपनाया क्योंकि मैं दुखी होने से डरती हूँ

क्या होता है जब एक लड़की दो से ज़्यादा पुरूषों को एक साथ प्यार करती है

जब मैंने मेरे लिव इन बॉयफ्रैंड को किसी और के साथ देखा

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also enjoy:

Yes No