Hindi

एक संबंध में आपको इन 12 चीज़ों के साथ कभी समझौता नहीं करना चाहिए

संबंधों के लिए बलिदान देना किसी न किसी मोड़ पर सब करते हैं. मगर कब तक और कहाँ तक.. ये प्रश्न खुद से हमेशा पूछने और इनके जवाब आंकने की ज़रुरत है.
couple-shakehands

‘एक हाथ से देना, एक हाथ से लेना’ हर संबंध का हिस्सा है। जब तक आप अपने संबंध को समायोजित करना और उसे संभालना नहीं सीखते, तब तक आप अपने संबंध से समृद्ध होने की उम्मीद नहीं कर सकते। हालांकि, इसका यह मतलब नहीं होना चाहिए कि आप अपने साथी को खुश और संतुष्ट करने के लिए अपना स्वास्थ्य और खुशी त्याग दें।

एक संबंध में कितना समझौता करना होता है?

अपने जीवनसाथी को प्यार और खुशी देने के लिए, संबंध में कुछ प्रकार के समझौते आवश्यक हैं। अगर आप स्वेच्छा और इच्छा से कुछ चीज़ों पर समझौता करते हैं तो यह आपको अच्छा महसूस करवाएगा और आपके संबंध को सफल बनाने में मदद करेगा। हालांकि, आप एक इंसान हैं संत नहीं। जो समझौते आपने बस अपने साथी के साथ होने के लिए किए अगर उनके लिए आपकी सराहना नहीं की जाती, तो कभी ना कभी आपका निराश होना समझे जाने योग्य है।

ये भी पढ़े: जब शादी ने हमारे प्रेम को ख़त्म कर दिया

एक सामंजस्यपूर्ण स्थिति में एक दूसरे के साथ मिलकर रहना आपके संबंध का लक्ष्य होना चाहिए। आप दोनों एक दूसरे के पूरक होना चाहिए। इसके लिए, आप दोनों को समझौता करना सीखना होगा। आपके संबंध को सुचारू रूप से काम करने की अनुमति देने के लिए समय-समय पर किए गए समझौते सराहनीय और आवश्यक हैं। जब आप अपनी उन मूल मान्यताओं, इच्छाओं, विचारों और आवश्यकताओं को छोड़ना शुरू कर देते हैं जो आपको एक व्यक्ति के रूप में परिभाषित करती हैं, तब आपके संबंध की मज़बूत नींव गिरने लगती है।
[restrict]
याद रखें कि आपको यह जानना होगा कि एक संबंध में कब समझौता करना सही है और कब अपना स्वयं का पक्ष रखना सही है। आपको अपने साथी की सनक और इच्छाओं के लिए समझौता करने की प्रक्रिया में खुद को पूरी तरह खोने की आवश्यकता नहीं है। स्वयं के प्रति सच्चा होना आपको अपने संबंध में अच्छी तरह मागदर्शित करेगा।

एक संबंध में आपको इन 12 चीज़ों के साथ कभी समझौता नहीं करना चाहिए

एक समृद्ध संबंध को परिभाषित करने वाला गुण समझौता है। लेकिन रेखाएं खींचना बेहद ज़रूरी है, क्योंकि रिश्ते के संदर्भ में समझौते का मतलब यह नहीं है कि आप स्वयं के वास्तविक रूप को छोड़ दें। इसका मूल अर्थ है प्रशंसा, उपयुक्त समायोजन, दयालुता, सम्मान और विश्वास के आधार पर संबंध विकसित करना। एक संबंध में समझौता संतुलित और उचित होना चाहिए।

ये भी पढ़े: जब उसके पति ने उसे प्यार सीखाने के लिए छोड़ा

इसमें कोई संदेह नहीं कि आपके संबंध की सफलता समझौते पर निर्भर करती है। अपने साथी के साथ तालमेल बैठाने के लिए आपको अपने साथी और स्वयं पर विश्वास करने की ज़रूरत होती है। आप एक दूसरे से प्यार करते हैं, जिसके लिए अपने प्रियजन की इच्छाओं के अनुसार काम करना उचित है। लेकिन यह केवल उस सीमा तक होना चाहिए जहां यह आपके मन की शांति को नष्ट ना करे।

तो इन सब बातों को ध्यान में रखते हुए, यहां 12 चीज़ें हैं जिनके साथ आपको एक संबंध में कभी समझौता नहीं करना चाहिए।

1. आपके व्यक्तित्व के साथ कभी समझौता नहीं करना चाहिए

सीधे शब्दों में कहें, तो व्यक्तित्व का अर्थ है आपकी व्यक्तिगत प्रकृति, विशेषताएं, ज़रूरतें और गुण जो आपको अपने जीवन के अन्य लोगों से अलग करते हैं। यदि आपका साथी आपसे अपने व्यक्तित्व को छोड़ने की अपेक्षा रखता है और आप स्वयं को एक बिल्कुल अलग व्यक्ति में बदलते हुए देखते हैं, तो यह आपके संबंध का पुनर्मूल्यांकन करने का समय है।

2. आपके परिवार के साथ आपका बंधन

यह बिल्कुल संभव है कि आपके साथी और आपके परिवार के सदस्यों का तारतम्य ना बैठता हो। अधिकांश समय आप यह सुनिश्चित करने की दुविधा में हो सकते हैं कि आपका परिवार और आपका साथी किसी बात पर सहमत हों। यह सब ठीक है। लेकिन अगर आपका साथी आपके परिवार के साथ आपके बंधन का सम्मान करने में विफल रहता है, तो यह चिंता का विषय होना चाहिए।

ये भी पढ़े: जब आपको सच्चा प्यार मिलेगा तब आपको कैसे पता चलेगा?

3. आपका व्यवसायिक जीवन

आपके पूरे जीवन में, आप अपने व्यावसायिक जीवन को उन्नत करने की दिशा में आगे बढ़ते हैं। हालांकि, अगर आपका साथी आपको बेहतर करने के लिए प्रोत्साहित करने की बजाए आपके रास्ते में बाधा डाल रहा है, तो ऐसे संबंध को बनाए रखने का कोई अर्थ नहीं है। एक समझदार साथी आपकी व्यावसायिक सफलता का जश्न मनाएगा और आपको जीवन में और अधिक कार्य करने में मदद करेगा।

Lady-in-office
Representative Image Image Source

4. आपके दोस्त और उनके साथ बिताया जाने वाला समय

अगर आपका साथी मनमाने ढंग से यह चाहता है कि आप अपने दोस्तों के साथ समय बिताना छोड़ दें, तो सुनिश्चित करें कि आप उसके दबाव में ना आए। यह सामान्य बात है अगर आपका साथी आपके कुछ दोस्तों को बगैर किसी वैध कारण के नापसंद करता है, लेकिन यह उसकी समस्या है। आपको अपने दोस्तों से मिलना बंद करने की ज़रूरत नहीं है, खासतौर से जब वे हमेशा से आपके साथ रहे हों। आपको बस अपनी दोस्ती और वैवाहिक जीवन को सही ढंग से संतुलित करने की ज़रूरत है।

ये भी पढ़े: एक सपने जैसी प्रेम कथा जो वास्तविक जीवन का दुःस्वपन बन गई

5. आप जिस तरह स्वयं को समझते हैं

संबंध ऐसा होना चाहिए जो आपको स्वयं को पूरी तरह तलाशने और बेहतर व्यक्ति में विकसित होने का अवसर दे। इसे आपको स्वयं के बारे में सकारात्मक महसूस करवाना चाहिए। लेकिन अगर आप देखते हैं कि आप अपने संबंध में बिखर रहे हैं और हर समय निराशाजनक महसूस करते हैं, तो आपके लिए यह संबंध सही नहीं है।

6. एक व्यक्ति के रूप में आपकी गरिमा उच्च होनी चाहिए

इस बात को इतना महत्त्व नहीं दिया जाता कि आपका साथी आपकी गरिमा को अपनी गरिमा की तरह सुरक्षित रखेगा और यह सुनिश्चित करेगा कि आपके साथ कभी किसी भी तरह का दुर्व्यव्हार ना हो। हालांकि, अगर आपका साथी आपका सम्मान करने और आपकी गरिमा को सुरक्षित रखने में सक्षम नहीं है, तो इस तरह के संबंध में होना आपके लिए कठिन होगा।

7. आपके शौक और रूचियों को कभी महत्त्वहीन नहीं समझा जाना चाहिए

एक संबंध में होने के दौरान, आपको उन गतिविधियों और शौकां में शामिल होने का अवसर मिलना चाहिए जिनमें आप रूचि रखते हैं। यदि आप लगातार यह महसूस करते हैं कि आपके पास अपने शौक के लिए समय नहीं है या फिर आपके साथी को वह पसंद नहीं है, मतलब आप पूरी तरह खुश नहीं हैं। आप ज़रूरत से ज़्यादा समझौता कर रहे हैं।

8. आपके सुझाव और राय का महत्त्व समझा जाना चाहिए

जब आप एक संबंध में हों तो आपको हमेशा अपनी राय और सुझाव देने की ज़रूरत नहीं है। आपको यह जानना होगा कि कब आपकी राय की सराहना की जाती है। अपने साथी की राय पर भरोसा करना ठीक है। लेकिन केवल उसकी निर्णय लेने की क्षमता पर निर्भर रहना आपके संबंध के लिए अच्छा नहीं होगा। आप दोनों को एक दूसरे के साथ अपनी राय और सुझाव साझा करने और इन्हें एक जोड़े के रूप में अपने अंतिम निर्णय में शामिल करने की आवश्यकता है।

9. आपकी स्वतंत्रता मायने रखती है

किसी पर भी बहुत अधिक निर्भरता आपको कभी ना कभी व्यर्थ और निराशाजनक महसूस करवा सकती है। इसलिए सुनिश्चित करें कि आप अपनी स्वतंत्रता का आनंद लें, खासकर वित्तीय मामलों में। लेकिन आवश्यकता के समय एक दूसरे की मदद करने के लिए भी तेयार रहें।

ये भी पढ़े: मुझे शादी के बाहर इतने सारे भावनात्मक संपर्कों की ज़रूरत क्यों पड़ी?

Independent-lady
Representative Image Image Source

10. अपनी गोपनीयता पर कभी समझौता ना करें

अपने संबंध में स्वीकार्य सीमाएं स्थापित करना बहुत ज़रूरी है ताकि आपकी गोपनीयता बधित ना हो। आपके साथी को आप पर इस तरह भरोसा करना चाहिए कि उसे हर समय आप पर नज़र रखने की ज़रूरत ना हो। उसे पता होना चाहिए कि आपको अपनी व्यक्तिगत जगह की आवश्यकता है और उस समय वह आपको परेशान ना करे।

11. जीवन में आपके लक्ष्य

क्योंकि आप अपने साथी की तुलना में एक पूरी तरह से अलग व्यक्ति हैं, इसलिए आपके लक्ष्यों और उनके लक्ष्यों में भिन्नता होगी। आपका संबध ऐसा होना चाहिए कि यह आपके जीवन में लक्ष्यों को प्राप्त करने में आपकी मदद करे। अगर आपका संबंध जीवन में आपकी सहायता प्रणाली बनने में विफल रहता है, तो ऐसा संबंध किस काम का है?

ये भी पढ़े: पचास की उम्र में तलाक

12. संबंध में किसी भी प्रकार का शोषण नहीं होना चाहिए

चाहे यह शारीरिक शोषण हो या मानसिक, आपको इसके साथ कभी समझौता नहीं करना चाहिए, भले ही आप उस व्यक्ति को सच्चे दिल से चाहते हो। आप एक दूसरे के साथ जो संबंध और प्यार साझा करते हो, वह आपके जीवन में शांति, खुशी और आनंद प्रदान करने वाला होना चाहिए, अनावश्यक दर्द और कठिनाई नहीं।

abused-lady
Representative Image Image Source

अगर आप किसी ऐसे संबंध में फंसे हैं जिसमें आपको इनमें से किसी भी चीज़ पर समझौता करना पड़ रहा है, तो एक कदम पीछे लें और स्वयं से ईमानदारी से पूछें: क्या यह रिश्ता वास्तव में इस लायक है? क्या आप संबंध में अपने विकास से सच में संतुष्ट हैं? क्या आप वास्तव में इस तरह का समझौता जारी रखना चाहते हैं?

हमें आशा है कि इन प्रश्नों के स्पष्ट उत्तर आपकी दुविधा को हल करने में मदद कर सकते हैं और आपको इन संबंधों से बाहर निकाल सकते हैं।
[/restrict]

दो विवाह और दो तलाक से मैंने ये सबक सीखे

जब आप साथी के साथ भावनात्मक अंतरंगता चाहते हैं तो ये 5 प्रश्न पूछिए


Notice: Undefined variable: url in /var/www/html/wp-content/themes/hush/content-single.php on line 90
Facebook Comments

Notice: Undefined variable: contestTag in /var/www/html/wp-content/themes/hush/content-single.php on line 100

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also enjoy:


Notice: Trying to get property of non-object in /var/www/html/wp-content/themes/hush/footer.php on line 95

Notice: Trying to get property of non-object in /var/www/html/wp-content/themes/hush/footer.php on line 96

Notice: Trying to get property of non-object in /var/www/html/wp-content/themes/hush/footer.php on line 97