हमारा तलाक मेरी सास के कारण हो रहा है

Silhouette-of-a-man-and-woman-facing-away-from-each-other-

प्रश्न

Table of Contents

प्रिय प्राची जी

हमारी शादी को ६ साल हो चुके हैं और हमारे बच्चे भी हैं. जब से हमारी शादी हुई है, मेरी सास बहुत अजीब तरह से व्यवहार करती हैं. मेरे पति उनके इकलौते बेटे हैं और मेरे ससुर को गुज़रे काफी अरसा बीत चुका है. वो शुरू से हमसे बहुत ईर्ष्या करती थी और हमारी हमेशा से ही बहुत परेशानियां रही हैं. मगर मेरी सबसे बड़ी परेशानी ये है की मेरे पति को अपनी माँकी कोई गलती दिखती ही नहीं है. उनकी नज़रों में हमेशा मैं ही गलत होती हूँ. हममें उनकी वजह से कई बार बहुत बड़ी और भीषण लड़ाइयां हो चुकी हैं मगर मेरे पति ऐसा कोई कदम नहीं उठाते जिससे उनकी माँ को कुछ भी समझ आये की वो क्या कर रही हैं, मेरी सास मेरी कतई इज़्ज़त नहीं करती और मेरे पति को ये नहीं दीखता है. अब हालात इस कदर ख़राब हो चुके हैं की अपनी सास के कारण हम तलाक़ ले रहे हैं. मुझे क्या करना चाहिए?

ये भी पढ़े: शादी के बाद भी मेरी माँ मेरी सबसे अच्छी दोस्त हैं

counselling hindiप्राची वैश कहती हैं:

मुझे बहुत खेद है की आपको ऐसे हालात से गुज़रना पड़ रहा है. मगर मैं ये सोच रही हूँ की आप अब हमारे पास आयी हैं, जब चीज़े बद से बदतर हो चुकी हैं और नौबत तलाक़ तक पहुंच गई है. आप जो स्तिथि बता रही हैं, कई स्त्रियां विवाह के बाद ऐसे हालात से गुज़रती है मगर समय रहते ही सही कॉउंसलिंग के मदद से चीज़ें बेहतर हो जाती हैं.

ये भी पढ़े: मैंने किस तरह अपनी सास का सामना किया और अपनी गरिमा बनाए रखी?

अगर मैं बिना किसी का पक्ष लिए देखूं तो आप, आपके पति और आपकी सास, सबकी प्रतिक्रिया ही बिलकुल जायज़ है. सब अपने अपने नज़रिये से बिलकुल सही कर रहे हैं. सब प्रेम, एकाधिकार और अपने डर की वजह से इस तरह व्यवहार कर रहे हैं.

मेरे ख्याल से इस समय आपके परिवार को एक अच्छे पारिवारिक काउन्सलिंग की ज़रुरत है जहाँ थेरेपिस्ट आपके परिवार के समीकरण को भली भांति समझे बूझे. वो शायद आपको बता पाएं की आप किस तरह आपस के कम्युनिकेशन या सम्पर्क को बेहतर कर सकते हैं. अगर तीनो के लिए एक साथ जाना संभव न हो तो कम से कम आप और आपके पति ही किसी काउंसलर से मिलें। अगर आप दोनों को एक ही पेज पर ला पाने में वो समर्थ हो पाए तो आगे की स्तिथि संभालना आसान हो जायेगा.

सुभेक्षा

प्राची

मैं अपने पति से प्यार करती हूँ लेकिन कभी-कभी दूसरे पुरूष से थोड़ा ज़्यादा प्यार करती हूँ

ये करें जब साथी सबके बीच आपकी आलोचना शुरू कर दे

help in hindi

Spread the love
Tags:

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

This website uses cookies to ensure you get the best experience on our website.