Hindi

जब किसी ने अभिषेक को माँ बाप के साथ रहने के लिए ट्रोल किया

जब भी अभिषेक की उसके माँ बाप के साथ रहने के लिए खिल्ली उड़ाई जाती है, कुछ ऐसे वो सबका मुँह बंद करते हैं.
abhishek-and-aishwarya

माता पिता के साथ रहना हम भारतियों के लिए आम है

पश्चिमी देशों में बच्चे जब व्यस्क हो जाते हैं, वो अपने माता पिता के घर को छोड़ कर अपने अलग घर में रहना शुरू कर देते हैं. और जो भी ऐसा नहीं करता उसे समाज हेय दृष्टि से देखता है. मगर हमारे भारतीय समाज में ऐसा कोई प्रचलन नहीं है. बच्चे बड़े हो कर भी कई सालों तक अपने माँ बाप के साथ एक ही घर में रहते हैं और इसमें हमारा समाज कोई बुराई नहीं देखता. यहाँ तक की शादी के बाद भी लड़के अपनी पत्नियों के साथ अपने माँ बाप के घर में ही रहते है.

यह बात और है की इस व्यवथा में अक्सर पत्नियों को खासी परेशानी होती है अपने सास ससुर के साथ रहने में. सिर्फ सास ससुर ही क्यों? कई बार तो एक ही छत के नीचे रहते माँ बाप और बड़े हो गए बच्चों में भी काफी तूतू मेंमें होती दिखती है.

ये भी पढ़े: विवाह के बाद एक स्त्री के जीवन में होने वाले 15 परिवर्तन

खैर, इतना कुछ हो कर भी एक बात तो तय है की आधुनिक समाज में भी भारतीयों को अपने माँ बाप के साथ रहने में न कोई आपत्ति है न कोई अपराधबोध। तो जब ट्विटर पर किसी ने बॉलीवुड अभिनेता अभिषेक बच्चन की खिल्ली इस बात पर उड़ाई की वो अब भी अपने माता पिता के साथ रहता है, तो बात कुछ बढ़ गई.
[restrict]
Abhi-tweet

अगर अभिषेक अपने माता पिता के साथ रह सकता है, तुम और हम क्यों नहीं?

१७ अप्रैल को किसी ने कुछ ऐसा ट्वीट किया:

“अपनी ज़िन्दगी के लिए बहुत बुरा मत सोचो। याद रखो @जूनियरबच्चन अब भी अपने माता पिता के साथ रहता है. तो धक्का मुक्की चलने दो लोगों!”

ये भी पढ़े: शादी के बाद भी मेरी माँ मेरी सबसे अच्छी दोस्त हैं

अभिषेक बच्चन ने आज तक कभी किसी ट्रोल को चुपचाप नहीं सहा है. जब भी कोई उसके या उसके परिवार पर कोई कटाक्ष करता है, अभिषेक तत्पर ही सटीक जवाब दे देता है. तो बस फिर क्या था. एक घंटे के अंदर ही अभिषेक ने जवाब में कहा, “हाँ! ये मेरे लिए गर्व की बात है की मैं उनके लिए हमेशा मौजूद हूँ, ठीक वैसे ही जैसे वो मेरे लिए हमेशा रहे हैं. तुम भी कभी कोशिश करो, शायद तुम्हे बेहतर लगे.”

इस बेतुके ट्रोल और अभिषेक की हाज़िरजवाबी की हर तरफ से सराहना हुई. यहाँ तक की मीडिया ने भी उसका भरपूर साथ दिए. लेखिका साधवी खोसला ने लिखा, “अभिषेक, तुम्हे किसी को इस बात का स्पष्टीकरण देने की ज़रुरत नहीं की क्यों तुम अपने माँ पिता के साथ रहना पसंद करते हो और अकेले नहीं. अपने माता पिता के साथ रहकर उनकी वृद्धावस्था में उनका ख्याल रखना हर किसी के बस की बात नहीं है. काश मैं अपने पेरेंट्स के साथ हर समय हो पाती। ”

पिछले कुछ सालों में अभिषेक को ऐसे ट्रॉल्स का बहुत सामना करना पड़ा है. शायद इसकी वजह ये है की हमारा समाज किसी कामयाब पत्नी के सेक्यूर पति को देख नहीं पाता। किसी को ये नहीं समझ आता की कैमरे के पीछे उसकी एक सफल खेल की टीम है और वो अपने परिवार का व्यवसाय भी संभाल रहा है. ट्रोल को सिर्फ चमक धमक और ग्लेमर ही समझ आता है. दूसरी तरफ अनुराग कश्यप निर्मित उसकी फिल्म मनमर्ज़ियाँ भी रिलीज़ होने वाली है और शायद ये बात भी ट्रोल की आँखों में खटक रही है.

manmarziyan-look
Representative Image Image Source

ये भी पढ़े: 90 के दशक की 6 फिल्में जिनके पुनः निर्माण की आवश्यकता है

अभिषेक की हाज़िरजवाबी ये पहली बार नहीं

ये पहली बार नहीं है की अभिषेक ने इस हाज़िरजवाबी से माता पिता के साथ रहने की बात को संभाला है. २०१२ में अभिषेक और ऐश्वर्या ओपरा के शो पर आये थे. उनका परिचय देते हुए उन दोनों के नाम, काम, सफलता आदि के बारे में कहा गया था और फिर आखिरी पंक्ति थी, “वो अपने माँ पिता के साथ रहते हैं.”

अच्छी लगी_ हमारे पास ऐसी हिंदी कहानियों का भण्डार है. पढ़िए और साझा करिये

इस पर इंटरव्यू की शुरुवात ही ओपरा ने कह कर किया था, “तो तुम अपने माँ पिता की साथ रहते हो? कैसे सँभालते हो ये सब?”

जवाब में अभिषेक ने कहा, “आप अपने माँ पिता के साथ नहीं रहते? कैसी संभालती हैं ये सब?”

ओपरा अपनी टिपण्णी के लिए शर्मिंदा हुई क्योंकि उसने तुरंत ही बात अपने माता पिता के घर की बात करनी शुरू कर दी. उसी इंटरव्यू के दौरान ओपरा ने पुछा की उनकी जीवन शैली कैसी होती है घर पर जिसमे ऐश्वर्या ने कहा की उनकी सास जया बच्चन ने घर में ये नियम बनाया है की घर के सभी सदस्य अगर शहर में है, तो कम से कम दिन में बार तो साथ ही खाना खाएंगे.
अगर पूरा इंटरव्यू देखना चाहते हैं, तो लिंक यहाँ है.

जिस तरह ऐश्वर्या ने ये बात बताई, उसे सुन कर बहुत ही अच्छा लगा क्योंकि अभिषेक और ऐश्वर्या की शादी के बाद से ही ये अफवाह अक्सर सुनी जाती है की ऐश्वर्य की अपनी सास जया बच्चन और ननद श्वेता बच्चन से बिलकुल नहीं जमती.

असलियत ये है की अभिषेक रियल एस्टेट के व्यवसाय में काफी ज़्यादा सक्रिय है. जब भी वो कोई घर या फ्लैट खरीदता है, अफवाह गर्म हो जाती है की वो दोनों अलग होने की तैयारी कर रहे हैं.

ये भी पढ़े: 5 तरह से विवाह मेरी कल्पना के विपरीत निकला

आम ज़िन्दगी में भी कई बार स्त्रियां अपने सास ससुर के साथ रहना पसंद नहीं करती. कई बंदिशें होती है और कोई और आपके घर पर स्वामित्व जताता है. मगर ये स्तिथि तब होती है जब सास एक खतरनाक सास हो. अन्यथा अक्सर बहुओं का रोष भी क्षणिक ही होता है. देखा जाए तो बहुएं निश्चिन्त ही होती हैं क्योंकि घर में बुज़ुर्गों की मौजूदगी मतलब खुद पर काम ज़िम्मेदारियाँ और बच्चों के लिए सुरक्षित वातावरण.

ऐश पहले भी अपने माँ पिता के साथ ही रहती थी

हो सकता है की ऐश्वर्या कभी कभी अपने ससुराल पक्ष से खीज भी जाती होंगी मगर हम कुछ भी निश्चित तौर पर नहीं जानते. हम ये जानते हैं की ऐश्वर्या भारतीय परिवारों को भली भांति समझती हैं. खुद उनके भाई भाभी भी उनके माता पिता के साथ ही रहते हैं. वो खुद भी इतनी अमीर और मशहूर होने के बावजूद शादी के पहले अपने परिवार के साथ ही रहती थीं.

वर्ष २००५ में जब डेविड लेटरमैन ने अपने शो में उनसे माता पिता के साथ रहने की भारतीय प्रथा के बारे में पुछा था, तो ऐश्वर्या ने बहुत ही खूबसूरती से ये जवाब दिया था, “हमारे लिए हमारे माँ बाप के साथ रहना बिलकुल आम बात है. हमें उनके डिनर पर मिलने के लिए पहले से समय नहीं माँगना पड़ता.”

आप उस इंटरव्यू का वीडियो यहाँ देख सकते हैं.

ऐश्वर्या से पहले अभिषेक की सगाई करिश्मा कपूर से तय हो गई थी. लेकिन अगर मीडिया और अफवाहों की मानें तो उस सगाई के टूटने की असली वजह ये थी की करिश्मा अभिषेक के घरवालों के साथ रहने के लिए तैयार नहीं थी.

असलियत चाहे जो हो, मगर एक बात तो तय है की अभिषेक और ऐश्वर्या हिंदी फिल्म इंडस्ट्री के सबसे प्रिय जोड़ी है जिनकी मिसाल हम आम ज़िन्दगी में भी देते हैं.
[/restrict]

8 बार फिल्मों की सास आपकी वास्तविक सास से बदतर थीं

स्वयं को सर्वश्रेष्ठ अरेंज मैरिज सामग्री बनाने के लिए ये 5 उपाय

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also enjoy:

Yes No