Hindi

जब एक अंतर्मुखी को प्यार होता है तो ये 5 चीज़ें होती हैं

बहिर्मुखता के लिए बनाए गए विश्व में, अंतर्मुखी लोग अधिकांश लोगों से अलग प्रेम करते हैं, उनकी चुप्पी भ्रामक हो सकती है। फिर भी जवाब चुप्पी में ही छुपा है।
shahrukh-and-anushka-in-harry-met-sejal

प्यार में पड़ा एक अंतर्मुखी अपने सहज क्षेत्र को छोड़ देगा, लेकिन साथ ही अपने शांत समय के लिए सम्मान की भी मांग करेगा।

एक ऐसा विश्व जो बडे़ पैमाने पर बहिर्मुखी लोगों की आवश्यकताओं का ध्यान रखता है, उसमें फंसे अंतर्मुखी लोग, एक ऐसा समूह है जिसे अक्सर गलत समझा जाता है। क्या ये चीज़े उनके प्यार में पड़ने के तरीके को प्रभावित करती हैं?

जब एक अंतर्मुखी प्यार में पड़ता है तो ये चीज़ें होती हैं

1. सुविधा क्षेत्र को छोड़ना

अंतर्मुखियों को अपनी जगह पसंद होती है, वे शांती में सहज महसूस करते हैं और उन्हें किसी तरह का शोर पसंद नहीं होता भले ही यह बात करना हो, संगीत हो, या जगह भरने के लिए पीछे चल रहे टेलीविज़न की ध्वनि हो। सबसे पहली बात तो यह कि उन्हें नहीं लगता बातचीत के बिना स्थान खाली है। इस बात को ध्यान में रखते हुए, अगर कोई अंतर्मुखी किसी उभयमुखी या बहिर्मुखी के प्यार में पड़ जाता है, तो यह दर्शाता है कि वे अपने आराम क्षेत्र को छोड़ने के लिए तैयार हैं। हमें समझना चाहिए कि अंतर्मुखी अलग तरीके से बनाए गए हैं, इसलिए एक व्यस्त बार या कॉफी शॉप उनके लिए एक आर्दश स्थान नहीं हो सकता। बहरहाल, प्यार असहजता को पछाड़ देता है और आप यह देखते हैं जब वे बगैर किसी परेशानी के इन स्थानों पर जाने के लिए तैयार हो जाते हैं। मैं यह बताने की कोशिश नहीं कर रहा कि वे प्यार के लिए एक महान बलिदान कर रहे हैं, लेकिन एक बहिर्मुखी माहौल में होने की परेशानी भी सहन करने योग्य लगती है अगर इसके लिए उन्हें अपने प्रियजन के साथ समय बिताना मिले।

ये भी पढ़े: राशि के आधार पर, वह इस तरह प्रेम व्यक्त करता है

2. कोई छोटी बात नहीं

अंतर्मुखी लोग छोटी बातों को ज़्यादा पसंद नहीं करते हैं (सच कहूं तो मुझे नहीं लगता कि कोई भी करता है; छोटी बातें बस टीवी कार्यक्रमों में आने वाले विज्ञापनों जैसी हैं)। जब दोनों व्यक्तियों के पक्ष में समयनिर्धारण करने की बात आती है, तब यह काम करता है। अगर वे मौसम के बारे में बात नहीं करना चाहते, तो वे सीधे महत्त्वपूर्ण बातों, दिलचस्प बातचीत पर पहुंच सकते हैं जो उनसे बात करने को विशेष रूप से मनोरंजक बनाता है। देखिए, अंतर्मुखी के लिए बातचीत एक विशेष अवसर है और वे इसे सांसारिक चीज़ों पर चर्चा करने में व्यर्थ नहीं करना चाहते। जब वे आपको जानना शुरू करते हैं, वे आपसे जीवन, प्यार, कौनसी चीज़ आपको डराती है, कौनसी चीज़ आपको भावुक करती है आदि के बारे में पूछेंगे। कई मायनों में, ये बातचीत, निरंतर उबाऊ बकबक की तुलना में अधिक घनिष्ठ और संतोषप्रद हैं। जहां हर कोई अच्छी बातचीत को पसंद करता है, हम अक्सर उबाऊ बातों के साथ समझौता कर लेते हैं और अंतर्मुखी लोग स्वाभाविक रूप से चुप हो जाएंगे और बात नहीं करेंगे अगर ऐसी बातचीत चल रही हो। यह पूरी डेटिंग को एक अधिक गहरी, अधिक अर्थपूर्ण प्रक्रिया बना देती है।

man-in-conversation-with-woman
Image Source

ये भी पढ़े: अपनी प्रेमिका के प्रति हर पुरूष के मन में ये 7 सेक्सी विचार आते हैं

3. कथनी से ज़्यादा प्रबल करनी होती है

अंतर्मुखी लोग गहरे वार्तालाप करने में माहिर होते हैं। लेकिन अगर वे बोल नहीं भी रहे हैं, तो उनके क्रियाकलाप अधिक विचारशील होते हैं। वे घोषणाओं की तुलना में कार्यों के माध्यम से प्यार व्यक्त करते हैं। वे आपके लिए एक छोटा लेकिन सार्थक उपहार खरीद सकते हैं। उनकी चुप्पी अक्सर उन्हें शानदार पर्यवेक्षक बनाती है और इसलिए वे दूसरों की तुलना में आपके बारे में ज़्यादा चीज़ें देख सकते हैं, और उन चीज़ों को अनुसरण कर सकते हैं। वे आपको ऐसे रेस्त्रां में ले जा सकते हैं। जिसका आपने कभी गुज़रते हुए उल्लेख किया हो और वहां जाने की इच्छा जताई हो, वे आपको आपके पसंदीदा चॉकलेट बार से सरप्राइज़ कर सकते हैं, जन्मदिन के ऐसे उपहार देने की योजना बना सकते हैं जिनके साथ कहानियां जुड़ी हों। जितनी बार आप अपने प्यार का इज़हार करते हैं, वे भी उतनी ही बार करते हैं, लेकिन उसे शब्दों में बयान करने की जगह, वे उसे प्यार की एक मूक घोषणा की तरह कार्यान्वित करते हैं।

ये भी पढ़े: उसने मेरे माथे को चूमा और मैं फिर से जी उठी

4. धीमा और स्थिर

अगर आप किसी अंतर्मुखी को डेट करने वाले हैं, तो एक बात याद रखना, आपको चीज़े धीमी रखनी ही होंगी। देखिए, जब रोमांस की बात आती है, चीज़ों को धीमा रखना हमेशा ही एक अच्छा विचार होता है, लेकिन यह तब विशेष रूप से विवेकपूर्ण होता है अगर आप किसी अंतर्मुखी को संभाल रहे हैं। याद रखिए जिस तरह आप चीज़ें साझा करते हैं उस तरह वे नहीं करते; प्यार और सीमाओं की उनकी अवधारणा अलग है। बहिर्मुखी दुनिया में, साझा करना एक देखभाल का कार्य माना जाता है; हालांकि, यह साझाकरण अत्यधिक साझाकरण में बदल सकता है और लोग पहली डेट पर ही खुली किताब बन सकते हैं। इसमें कोई बुराई नहीं है, और एक संबंध में स्पष्टता महत्त्वपूर्ण है, लेकिन सिर्फ इसलिए कि कुछ लोगों को खुद के बारे में खुलने में समय लगता है इसका अर्थ यह नहीं है कि वे पाखंडी हैं और कुछ छुपा रहे हैं। अंतर्मुखी लोगों को किसी पर भरोसा करने में समय लगता है; वह शांत व्यक्ति जिसके साथ आपको प्यार हो रहा है, वह अपने मन में एक तूफान से गुज़र रहा है और आपको भरोसा रखना चाहिए कि वे सही समय पर सबकुछ उजागर कर देंगे। अतंर्मुखी लोग कम ज़रूर बोलते हैं लेकिन हर बात दिल से बोलते हैं और इसलिए जब आप उनके प्यार में होते हैं तब धैर्य सबसे अच्छा विचार होता है। वे आपको सुविधा प्रदान करने के लिए अपने सामर्थ्य से बढ़कर काम करेंगे, वे उस पार्टी में जाएंगे जहां आप जाना चाहते हैं, यहां तक कि वे हर दिन बाहर घूमने भी लगेंगे, लेकिन वे चीज़ों में जल्दबाजी नहीं करेंगे, और ना ही वे गति को समझा पाएंगे। बस उनके साथ बहते जाइये।

ये भी पढ़े: प्यार में होने पर एक लड़की ये 10 बातें महसूस करती है

couple-hanging-out-together
Image Source

5. समकालिक

हर कोई पूरी तरह समन्वयित संबंध की चाह रखता है। हम सभी चाहते हैं कि चीज़ें सरल और मज़ेदार हों। लेकिन अंतर्मुखी लोग इस समन्वय को अन्य लोगों की तुलना में अधिक महत्त्व देते हैं। उनका शांत समय उनके लिए महत्त्वपूर्ण होता है और जहां वे आपसे बात करने और आपके साथ बाहर जाने के लिए इस शांत समय को छोड़ने के लिए तैयार होंगे, कुछ समय बाद वे यदा-कदा फिर से वहां जाना चाहेंगे। एक प्यार में पड़ा अंतर्मुखी किसी ऐसे साथी की चाह रखता है जिसके साथ वह चुप रह सकता है, जिसके साथ स्थान खाली महसूस नहीं होता, तब भी जब आप बातें नहीं कर रहे हों। बरसात का एक शांत दिन बिस्तर पर किताब पढ़ते हुए, प्यार करते हुए बिताना, उनका पसंदीदा टीवी कार्यक्रम देखना, वे बस इतना ही चाहते हैं। ऐसा साथी जो इसका सम्मान कर सकता है, उसके साथ अंतर्मुखी लोग समानता महसूस कर सकेंगे। एक संबंध हर समय शोरशराबे वाला नहीं होना चाहिए; चुप्पी समान रूप से महत्त्वपूर्ण है, और प्रेम में होने पर अंतर्मुखी लोग इन्हीं साझी चुप्पियों की अपेक्षा रखते हैं।

अमेरिका पहुँचते ही वो शर्मीली लड़की अब बिलकुल बदल गई

भारतीय महिला सिर्फ लजा के ही प्यार क्यों दर्शाती है?

Published in Hindi

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *