Hindi

जब मैं माँ के घर जाती हूँ, तो मेरे घर का हाल कुछ ये होता है…

जब पत्नी अपनी छुट्टियों में माँ के घर जाती है और पति घर पर अकेला होता है।
husband-jumping-with-joy-coz-wife-leaving

मैं अपने पति से कहती हूँ कि मैं कुछ दिनों के लिए अपनी माँ के घर जा रही हूँ, और मेरी कहानी इस तरह सामने आती है।

पहला दिन

मेरे पति अपने चेहरे से मुस्कुराहट मिटा नहीं पाते हालांकि वह कहते हैं “बेबी, मुझे तुम्हारी याद आ रही है।”

हमारे घर में उनकी पोकर पार्टियां शुरू हो जाती हैं। “मुझे अपनी झगड़ालू पत्नी से आज़ादी मिल गई है, आओ, आ जाओ,” वे उनके सभी पोकर साथियों से कहते हैं। उन्हें तला हुआ भोजन बहुत पसंद है, इसलिए टेबल पकौड़े, समोसे, मठिया और अचार से भरी होगी। कभी-कभी वे लगातार 12 घंटों तक खेलते हैं।

ये भी पढ़े: 5 प्यारे तरीके जिनसे एक जोड़ा अपने संबंध को मजबूत कर सकता है

वे लगातार धुम्रपान करेंगे क्योंकि धुम्रपान से रोकने के लिए उनके साथ लड़ने वाला कोई नहीं है।

वे मेरी सहेलियों के साथ कुछ ज़्यादा ही अच्छा बर्ताव करेंगे और मेरे वापस लौटने पर मुझे बताएंगे कि वे लड़कियों से घिरे रहते हैं और वे कितने आकर्षक हैं। और किस तरह सभी स्त्रियां उन पर मरती हैं। और अगर कोई जन्मदिन है तो वे मेरी सहेली के लिए बहुत महंगा उपहार खरीद लाएंगे और मुझे फोन करके उसके बारे में बताएंगे और अगर मैं उनसे पूछूंगी, “इसकी क्या ज़रूरत है क्योंकि उसके साथ मेरा इतना लेना-देना नहीं है?” तो वे मुझे अपनी मध्यम वर्गीय सोच से बाहर निकलने को कहेंगे।

तीसरा दिन

नौकरों के प्रति उनकी उदारता की कोई सीमा नहीं है और जब मैं वापस लौटती हूँ तो नौकर मुझे देखकर सोचते हैं कि ये चुड़ैल वापस क्यों आ गई।

ये भी पढ़े: 50 पहली डेट्स और गिनती जारी है…..

अगर उन्हें बाहर नहीं बुलाया जाता है, तो वे घर पर रहेंगे और धुम्रपान करेंगे और सभी लाइटें जला कर पूरी आवाज़ के साथ क्रिकेट मैच फिर से देखेंगे। मुझे कठोर रोशनी से नफरत है और मौन आवाज़ें पसंद है। अब शयनकक्ष उनका है और उन्हें तंग करने वाला कोई नहीं है।

पांचवा दिन

गंभीर बात यह है कि वे देर से सोते हैं और देर से जागते हैं। जब वे नौकरों के लिए दरवाज़ा खोलते हैं, तो कुक पहले ही किसी और के घर में काम करने के लिए जा चुका होता है और मेरे बेचारे पति के पेट में चूहे दौड़ रहे होते हैं और वे आलू की सब्ज़ी बना रहे होते हैं और मेरा नौकर भारत के नक्शे के आकार की रोटियां बना रहा होता है।

मेरे पति के पास बुलाने के लिए अब और लोग नहीं बचे होते हैं, घर बोरीयत भरा और शांत महसूस होता है और अब उन्हें ऐसे व्यक्ति की ज़रूरत है जिसके साथ वे बात कर सकें, लड़ सकें और गले लगा सकें और चूम सकें और पत्नी की याद थोड़ी-थोड़ी शुरू हो जाती है।

ये भी पढ़े: नशे में चूर होकर घर लौटने पर भरतीय पुरूष इन छह सबसे खराब बातों से डरते हैं

मैंने हमेशा अपने पति को बताया है कि मुझे घर में किसी की उपस्थिति महसूस होती है। कोई भी आवाज़ जो रात में बहुत तीव्र हो जाती है, उन्हें बिस्तर पर उछलने पर मजबूर कर देती है और वे तब तक हनुमान चालीसा पढ़ते हैं जब तक की शोर बंद नहीं हो जाता और उन्हें नींद नहीं आ जाती।

सातवां दिन

एक उदास पति फोन करता है जिसकी पूरी शेखी गायब हो चुकी है, “बेबी जल्दी वापस आ जाओ, मुझे तुम्हारी बहुत याद आ रही है।”

और मैं हंसती हूँ और कहती हूँ, “तुम्हें लगता है कि मैं तुम्हें छोड़ूंगी? अगर मैं मर भी गई तो भूत बनकर तुम्हें डराने आ जाऊंगी।”

“भूत नहीं प्लीज़!” वे चिल्लाते हैं, जबकि मैं हंसती हूँ और फोन पर उन्हें चुंबन देती हूँ।

इस तरह उसकी सहेलियों के साथ बिताईं छुट्टियां उसके पति के साथ बिताईं छुट्टियों जैसी ही थी

10 प्रमुख झूठ जो पुरूष अपनी पत्नियों से हमेशा कहते हैं

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also enjoy:

Yes No