Hindi

जब उसने हमारा संबंध समाप्त किया तो मैं उसे गोली मारना चाहता था

जब उनका संबंध समाप्त हुआ, वह उसकी हत्या करके बदला लेना चाहता था
Man-with-Gun

ब्रेकअप के बाद अपने घाव पर मरहम लगाना वास्तव में कठिन है। आप इससे किस तरह निपटते हैं यह एक वयस्क पुरूष और टेस्टोस्टेरोन से भरे, अहंकार से प्रेरित पुरूष के बीच का अंतर दर्शाता है। मुझे यह स्वीकार करते हुए शर्म आ रही है कि मैं दूसरा वाला था।

मैं अपने भीतर के क्रोध को उकसाता हूँ, और फिर धीरे-धीरे पकाता हूँ, इसे अपना स्वयं का मन विकसित करने की इजाज़त देते हुए। वह मुझे छोड़ कैसे सकती है? आध्यात्मिकता मुझे व्यर्थ लगी और मनोवैज्ञानिक मुझे अपर्याप्त और समाधान प्रदान करने में अनुपयुक्त लगे। मैं बदला चाहता था, और यह विचार मात्र, और मायाजाल में डालने वाले हज़ारों स्वप्न मेरे सिर को घुमा देते थे।

हर सुबह, हर शाम, और हर रात -जब भी मेरा दिमाग रोजमर्रा के जीवन से घिरा हुआ नहीं होता था, जब भी मन आत्मनिर्धारित दायरे -समानांतर काल्पनिक विश्व का अन्वेषण करने के लिए मुक्त होता था, मैं स्वप्न देखता था।

मैं उसपर निशाना लगाने का और सबके सामने ट्रिगर दबाने का सपना देखा करता था। मैं उसे मेरी गोलियों से जूझते हुए देख सकता था। कितना प्यारा बदला! मैं ब्रेकअप के बाद हफ्तों और महीनों तक यह करता रहा। केवल आग को तीव्र रखने के लिए मैंने स्वयं को नए संभावित संबंधों में जाने से रोक लिया।

ये भी पढ़े: पुनर्विवाह कर के आये पति का स्वागत पहली पत्नी ने कुछ ऐसे किया

मेरी उम्र बहुत कम थी, और मैं ज़्यादा नहीं कमा रहा था। मैंने चुपके से बचत की। हर महीने, मैंने अपने व्यक्तिगत न्याय के लिए एक अलग राशि निर्धारित की – और एक अत्यंत अल्पव्ययी जीवन जीया। मैंने कई भोजन, ऑटो की सवारी, और फिल्मों के शो छोड़ दिए। मैंने अखबार खरीदना छोड़ दिया। मैंने एक प्रीपेड नंबर ले लिया और डेटा को सीमित कर दिया। मैंने अपने कॉफी के सेवन को केवल एक कप जितना सीमित कर दिया। मैंने कपड़े खरीदना पूरी तरह बंद कर दिया। मैं चार महीनों में एक बार बाल कटवाया करता था, महीने में एक बार की बजाए। जल्द ही, मेरे पास 25,000 रूपये तैयार थे।

man-stabbing-heart
Image Source

मैं शहर के एक अंधेरे इलाके में गया, और स्थानीय लोगों से मेरी बातचीत ने, मेरी मीडिया की नौकरी की बदौलत, मुझे इतने मित्र दिला दिए थे जो स्थान की छानबीन करने में मेरी मदद करे। जल्द ही मुझे 20,000 रूपये में बंदूक खरीदने के लिए एक डीलर मिल गया। मुझे आश्चर्य हुआ कि मैंने जितना सोचा था यह उससे सस्ती थी।

ये भी पढ़े: क्या मुझे अपने प्रताड़ित करने वाले पति को तलाक दे देना चाहिए?

मेरे मन में एक अजीब सी शांति ने प्रवेश कर लिया, जैसे कि मैं ध्यान कर रहा हूँ। उन दिनों मैं बदला लेने के अलावा और कुछ नहीं सोचता था। मैं हमेशा की तरह काम करता था, और मुझे लगता था कि काम एक खुशी है, क्योंकि मेरे आंतरिक दानवों को अब एक उत्तर मिल चुका था – और मेरी आँखें जुनून से चमक रही थीं, और मेरा दिमाग हर दूसरे क्षण मेरी अलमारी में रखी बंदूक के बारे में सोच रहा था। जैसे ही मैं घर आया, मैंने दरवाज़ा बंद किया, और फिर बंदूक बाहर निकाल ली और चुपके से इसकी सराहना की।

मैंने फेसबुक और अन्य सोशल मीडिया पर उसका पीछा किया और उसका ठिकाना ढूंढ लिया। मैं वहां पहुंचा, और उसके घर के पास एक पार्क में इंतज़ार किया, टमेटो राइस से भरे टिफिन बॉक्स के अंदर सावधानीपूर्वक छिपाई हुई बंदूक के साथ। वह एक 0.22 हल्की देसी बंदूक थी, और उसका हैंडल खराब तरह से जुड़ा हुआ था, और ज़ोर से पकड़ने पर वह चरमराती थी। कोई बात नहीं, मुझे विश्वास था कि वह गोली दाग सकती थी। मैंने बेचने वाले पर विश्वास कर लिया। मैंने विश्वास कर लिया।

पार्क बैंच से, मैं स्पष्ट रूप से देख सकता था कि वह अपने घर के मुख्य द्वारा से कई बार आ और जा रही है। मैं जानता था कि बंदुक की सीमा कम थी, इसलिए मैंने पार्क का एक कोना ढूंढ लिया जो उसके घर के ठीक सामने था।

sad-man
Image Source

फिर भी, मैंने गोली नहीं चलाई। कुछ आंतरिक परिवर्तन चल रहा था। दो दिनों तक, मैं पार्क में जाता रहा, और उसी बैंच पर बैठता रहा। मैंने देखा कि वह अपने माता-पिता, भाई-बहनों, अपने मित्रों के साथ हंसते-खेलते बाहर आ रही थी। मुझे स्वीकार करना होगा, मेरा दिल अब भी उसकी मुस्कान को पागलों की तरह प्यार करता था तब भी जब मेरा दिमाग उसे खत्म करने की योजना बना रहा था। ‘‘मैं क्या कर रहा हूँ?’’ मैं स्वयं से पूछता रहा, और एक पल के लिए, मैंने एक तटस्थ परिप्रेक्ष्य से सोचने की कोशिश की। मेरे अंदर थोड़ी बुद्धि आई। मैं तीसरे दिन वहां नहीं गया। मैं यह करना नहीं चाहता था। यह मुझसे कितना विपरीत था। मैंने पुराने अंधेरे मोहल्ले में जाने के लिए बस पकड़ ली।

ये भी पढ़े: क्या हुआ जब उसके पति ने हमें सेक्सटिंग करते हुए पकड़ लिया

जब मैंने रूमाल में लपेटकर बंदूक और गोलियां लौटाईं तो डीलर हैरान रह गया। उसने कोई स्पष्टीकरण नहीं मांगा, बस मेरे 18,000 रूपये लौटा दिए। मैंने बस पैसे वापस ले लिए, और बाज़ार की ओर चल पड़ा। मैं अपने परिवार के हर सदस्य के लिए कुछ खरीदना चाहता था। मेरी माँ के लिए मोती, मेरे डैड के लिए नया फोन, मेरे दोस्तों के लिए कुछ किताबें…लेकिन उससे पहले मैं एक कॉफी चाहता था। मैं अपने हमेशा वाले रेस्त्रां में चला गया और मेरी पसंदीदा कप्पा मंगवाई। अंततः मैं सीधा सोच पा रहा था। एक हल्की सी मुस्कान आई जो लंबे समय तक रही।

डॉ कुशल जैन कहते हैं: आजकल संबंधों का टूटना बहुत आम है। ये साथियों के बीच अंतर, अहंकार, उच्च अपेक्षाएं, संगतता की कमी या व्यक्तिगत मतभेदों के कारण हो सकते हैं।

इस मामले की स्थिति से पता चलता है कि व्यक्ति ब्रेकअप से इतना अधिक प्रभावित हो गया था कि वह लड़की की हत्या की योजना बनाने जितने अक्रामक व्यवहार तक पहुंच गया था। इस तरह की परिस्थितियों से बचने के लिए, पहले तो व्यक्ति को इतना बुद्धिमान होना चाहिए कि वह अपने साथियों के बारे में सही निर्णय ले पाएं विशेष रूप से उनकी पसंद, रूचियों और विचारों के संदर्भ में। संबंध नहीं टूटेंगे अगर लोग बहुत ज़्यादा भिन्न नहीं होंगे या फिर वे एक दूसरे की भिन्नताओं को स्वीकार करना सीख लेंगे। उपयुक्त साथी का चयन इमारत की नींव बिछाने जैसा है। यदि चयन गलत होगा, तो इमारत अंततः गिर जाएगी। विवेकपूर्ण चयन करने के बाद, दूसरा कदम और संभवतः एक तथ्य जो अधिकांश लोग भूल जाते हैं, और वह है संबंधों का निर्बाध अस्थायीपन। लोग बिछड़ जाते हैं, यदि समय के साथ नहीं तो मृत्यु के बाद। एक संबंध लंबे समय तक चलने वाला हो भी सकता है और नहीं भी, पहले चरण पर लिए गए फैसले के आधार पर, और यह विवाह के लिए भी सच है। कुछ संबंधों के अनिवार्य विच्छेद को स्वीकार करना, बहुत महत्त्वपूर्ण है, विशेष रूप से वे जिनपर अच्छी तरह से विचार नहीं किया गया है।

ये भी पढ़े: क्या विवाह में वन नाइट टैंड को क्षमा किया जा सकता है अगर वह संबंध में परिवर्तित ना हो?

संबंध की समाप्ति को स्वीकार करना ब्रेकअप का एक कठिन लेकिन महत्त्वपूर्ण चरण है। हाँ, शुरूआत में इनकार और आक्रामकता होती है, जिसके बाद दुःख और उदासी आते हैं, खासकर दीर्घकालीन संबंधों में। हालांकि, जैसे जैसे व्यक्ति स्वीकृति की ओर आगे बढ़ते हैं, एक व्यक्ति के रूप में उनका विकास होता है। इस लड़के का अपरिपक्व रूख उस आक्रामक तरीके से दिखाई देता है जिससे वह ब्रेकअप पर प्रतिक्रिया देता है, लेकिन अंततः उसका व्यक्तिगत विकास भी उस तरीके से दिखाई देता है जिससे वह उस लड़की को माफ करते हुए आगे बढ़ जाता है। बाद में, उसमें अपने पिछले व्यवहार के परिणामों पर और किस तरह उसने स्वयं का जीवन कठिन बना लिया था, उसपर अंतर्दृष्टि भी विकसित होती है। एक टूटे हुए दिल को ठीक होने में समय लगता है, कई बार बहुत ज़्यादा समय।

ब्रेकअप की स्वीकृति को इसे फिर से निर्मित करते हुए बढ़ाया भी जा सकता है; इसे आपकी खुशी के अंत के रूप में देखना बंद कर दीजिए। इसकी बजाए, अपने जीवन को सर्वश्रेष्ठ तरह से जीने की कोशिश करते हुए आप इसे चुनौती में बदल सकते हैं। दिल टूटने के कारण आप व्यर्थ और निराशाजनक महसूस कर सकते हैं। अपनी स्थिति को एक अलग परिप्रेक्ष्य से देखना आपके जीवन को सुधार सकता है। इसलिए, संबंधों का समाप्त होना केवल एक झटका नहीं है, बल्कि यह एक व्यक्ति को भावनात्मक रूप से विकसित होने में मदद भी कर सकता है।

– डॉ कुशल जैन, 12 वर्षों से अधिक की विशेषज्ञता के साथ वरिष्ठ सलाहकार मनोचिकित्सक हैं।

मेरे दोस्त ने मुझे अपने घर बुलाया और मुझे उसकी पत्नी से प्यार हो गया

कैसे टिंडर के एक झूठ ने तोडा एक छोटे शहर के युवक का दिल

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also enjoy:

Yes No