Hindi

कर्ज़दार मुझे धमकी भरे फ़ोन करते है क्योंकि पति का कुछ पता नहीं

मेरे पति ने मेरे सारे गहने और जमापूंजी ले ली. उन्होंने मेरे पिता से और अपने रिश्तेदारों से भी बहुत क़र्ज़ लिए. मगर अब मुझे कर्ज़दार धमकी देते हैं और पति का कोई अता पता नहीं है.
married woman crying

सर,

मेरी शादी २००६ में हुई थी. वो एक अरैंजड शादी थी. मेरे पति अपने व्यवसाय में स्थिर नहीं थे. मेरे परिवार ने हर मुश्किल समय में और यहाँ तक की मेरी प्रेगनेंसी में भी हमारा बहुत साथ दिया. जब हमारा बच्चा थोड़ा बड़ा हुआ, मैंने एक कॉलेज में लेक्चरर की नौकरी ले ली. मेरे पति ने मेरे पिता से अपना खुद का काम शुरू करने के लिए आर्थिक सहायता ली. मगर उसने कभी भी किसी को अपने उस बिज़नेस के बारे में कुछ नहीं बताया. वो हमारे बेटे के साथ कोई समय नहीं बीतता था. वो मुझसे भी हमेशा रुपए माँगता था और मेरे मना करने कर काफी ज़िद करता था. धीरे धीरे मेरे सारे गहने, चांदी की चीज़ें और जमापूंजी उसके कारण ख़त्म हो गए. मुझे बिना बताये उसने अपने रिश्तेदारों से भी काफी क़र्ज़ लिया. उसने और भी कई लोगों से क़र्ज़ लिए हैं. एक दिन ये सारे कर्ज़दार हमारे घर आ गए और मुझे और मेरे बेटे को हमारे ही घर में बंदी बना कर तब तक रखा जब तक मेरा पति घर नहीं आया.

ये भी पढ़े: वो मुझे मारता था और फिर माफ़ी मांगता था–मैं इस चक्र में फंस गई थी

 अगले दिन सुबह ही मैं अपने बेटे को ले कर चली गई और अपने भाई के घर रहने लगी. मुझे कर्जदारों के धमकी भरे फ़ोन आने लगे. मैं शब्दों में व्यक्त नहीं कर सकती की मैं किस तरह की शारीरिक और मानसिक प्रताड़ना से गुज़र चुकी हूँ.

वो २०१७ में अरेस्ट हो गया. जेल से छूटने के बाद वो फिर मुझसे अपने खर्चे के लिए रुपए मांगे लगा. मैंने उसे साफ़ कह दिया की उसे अपने लिए नौकरी ढूंढ़नी होगी और अपना ध्यान खुद ही रखना होगा. मगर वो मेरी कोई बात नहीं सुनता है और आज भी मुझसे रुपए की मांग करते है. मुझे नहीं पता है की वो इस समय कहाँ है और क्या कर रहा है.

मैंने उसे ये भी कह दिया है की अगर उसने अपने आप को नहीं बदला तो मैं तलाक की अर्ज़ी डाल दूँगी. इस बात पर वो मुझे तलाक नहीं देने की धमकी देता है और कहता है की उससे तलाक लेना इतना आसान नहीं है. क्या मेरे जीवन में कोई उम्मीद है?

ये भी पढ़े: तलाक के बाद मैं अपने नए घर को बनाने में मग्न हूँ

कृपया मुझे बताइए की मैं क्या कदम उठाऊँ.

 Hindi counselling 

एडवोकेट राम कुंवर कहते हैं:

डिअर लेडी

आप अपने पति से मानसिक प्रताड़ना के आधार पर तलाक ले सकती हैं. आप उसके खिलाफ घरेलु हिंसा से जुड़े एक्ट के तहत भी केस दर्ज़ करा सकती हैं. Domestic Violence Act के तहत आपको बहुत जल्दी मदद मिल सकती है और मुआवजा भी. एक पति अपनी पति और बच्चे के प्रति अपनी ज़िम्मेदारियों से इस तरह नहीं भाग सकता है. आप उनके खिलाफ कानूनी कार्यवाही कर सकती है क्योंकि उसने आपके गहने को गलत तरीके से इस्तेमाल किया है.

ये भी पढ़े: मैने पति के बदले दूसरे को चुना

अब आपको ये सब करना चाहिए:

  • उसे आर्थिक मदद देना बिलकुल बंद कर दें.
  • उसके साथ अपने सारे सम्बन्ध तोड़ लें.
  • अपने पति की वर्तमान ढोर ढिकाना का पता करें
  • अगर आपको उसकी अभी के पते की जानकारी नहीं है तो उसके पिछले पते को लिख कर रख लें.
  • एक लिस्ट बनाये जिसमे उन सारे क्रिमिनल केस का ब्यौरा लिखें जो आपके पति के खिलाफ दर्ज़ किये गए हैं.
  • उन सब लोगों की एक फाइल बनाए जिन्हे आपके पति ने धोखा दिया है. हो सकता है की उन्हें आपके पक्ष को समझने के लिए गवाही के लिए बुलाया जाए.
  • खुद को मानसिक तौर पर तैयार करिये क्योंकि ये कानूनी रास्ता आपके बहुत सारे वर्ष और पूँजी (जब तक आपको मेंटेनन्स न दिया जाए) इसमें लग सकते हैं. मुझे लगता है की आपके पति ज़रूर हायर कोर्ट में अपील करेंगे.

आप अपने पति की क्रूरता की बिनाह पर उनके खिलाफ फॅमिली कोर्ट एंड सेक्शन १२ के तहत Domestic Violence Application अपने इलाके के मजिस्ट्रेट कोर्ट में डाल सकती हैं.

ये भी पढ़े: एक साल लग गया लेकिन अंततः अब मैं आगे बढ़ रही हूँ

मुझे उम्मीद है की इन सब जानकारी से आपकी काफी मदद होगी और आप सोच पाएंगी की आपको आगे क्या कदम उठाने हैं.

सुभेक्षा

एडवोकेट राम कुंवर

 

Hindi counselling

तुमने वादा किया था कि जीवनभर मेरे साथ रहोगे

मैं दुबारा शादी अपने लिए करना चाहती हूँ, अपने बेटे के लिए नहीं

तलाक मेरी मर्ज़ी नहीं, मजबूरी थी

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also enjoy:

Yes No