Hindi

कई सालों से साथ जोड़े क्यों सेक्स से उदासीन हो जाते हैं?

जो जोड़े लंबी अवधि के संबंध में हैं, उनके सेक्स की अवधारणा से दूर जाने के कारण भिन्न हो सकते हैं, लेकिन आमतौर पर इन्हें असाध्य नहीं होना चाहिए
sexual-mojo

प्रो डॉ राजन भोंसले, एम डी

Dr.Rajan-Bhonsle-2डॉ राजन भोंसले
माननीय प्राध्यापक और यौन चिकित्सा विभाग के प्रमुख, केईएम अस्पताल और सेठ जीएस मेडिकल कॉलेज, मुंबई

डिप्लोमेट, अमेरिकन बोर्ड ऑफ सेक्सोलॉजी एंड अमेरिकन कॉलेज ऑफ सेक्सोलॉजिस्ट्स

(इंडिया टीवी के अनुसार भारत के टॉप सेक्सोलॉजिस्ट, प्रोफेसर राजन भोंसले ने भारत के प्रमुख प्रकाशनों जैसे इंडिया टुडे, टाइम्स ऑफ इंडिया, डीएनए, हिन्दुस्तान टाइम्स, एशियन ऐज, मुंबई मिरर, मिड-डे, दी आफ्टरनून, फेमिना, कॉस्मोपॉलिटन, लाइफ पॉजिटिव, न्यू वुमन, सेवी, मेन्स वर्ल्ड आदि के लिए 1200 से ज़्यादा लेख लिखे हैं)

क्या आप उन दिनों से गुज़रे हैं जहां आपमें से कोई भी ‘वह करना नहीं चाहता था’? सभी जोड़े इस दौर से गुज़रे हैं। आइये हम समझते हैं क्यों।
[restrict]
ये भी पढ़े: ६० साल के पति को जब अपनी पत्नी बूढी लगने लगे…

विभन्न कारणों से

विक्रमादित्य, 32, जब मेरे पास आया तब बहुत अधिक डायबिटिक था। यह अनुवांशिक था, और ध्वनि उससे विवाह करने से पहले जानती थी कि उसे 24 वर्ष की उम्र से ही हल्का मधुमेह था। हालांकि, दोनों को अहसास नहीं हुआ था कि मधुमेह यौन प्रदर्शन को प्रभावित कर सकता था। विक्रमादित्य की स्थिति की गंभीरता बढ़ी और उसे स्तंभन रोग (इरेक्टाइल डिसफंक्शन) हो गया। उसकि पत्नी 27 वर्ष की थी और अपनी अतृप्त यौन इच्छाओं के कारण कुंठित महसूस करती थी।

वसुंधरा नैदानिक अवसाद से पीड़ित थी। वह सेक्स में रूचि खो चुकी थी और पति वैभव द्वारा की गई सभी कोशिशों को अस्वीकार कर देती थी। वह निराश महसूस करता था, क्योंकि वह केवल 32 वर्ष का था और उसने घर से दूर रहना शुरू कर दिया था। स्वाभाविक रूप से, इससे वसुंधरा के अवसाद में वृद्धि ही हुई।

28 वर्षीय रंजना के साथ एक दुर्घटना हुई और बहुत सारे फ्रैक्चर हुए, जिसने उसके निचले शरीर को अपंग कर दिया। उसके यौन जीवन का एक आभासी अंत आ गया। जब वह अस्पताल में थी तब उसके पति ने उसकी सेवा की, लेकिन जब डाक्टरों ने कहा कि उसकी स्थिति नहीं सुधरेगी, उसके पति ने तलाक फाइल करने का फैसला किया।

शहर के जोड़ों के क्रॉस-सेक्शन के इन उदाहरणों से आपको एक अंदाज़ा मिल गया होगा कि एक जोड़े के यौन जीवन में ऐसे कारणों से भी अवरोध आ जाता है जिनका बिस्तर से कोई लेना-देना नहीं -शारीरिक या मानसिक।

ये भी पढ़े: प्रेम संबंध मेरी सेक्स रहित शादी को बचाने में मेरी मदद करता है।

लोग सेक्स से दूर क्यों हो जाते हैं

एक पूर्ण रूप से ‘गैर-इच्छा’ और यहां तक की सेक्स के लिए घृणा शारीरिक या मनोवैज्ञानिक कारणों से हो सकती है। न्यूरोलॉजिकल स्थिति आपको संभोग करने से ‘असमर्थ’ बना सकती है। मल्टीपल स्कलेरोसिस, रीढ़ की हड्डी की चोट, अंतःस्त्रावी स्थितियां जैसे मधुमेह, पियूश ग्रंथी, थायरॉयड या अधिवृक्क ग्रंथियों के विकार, कम टेस्टोस्टेरोन, जननांगों की चोट ये सभी इच्छाशोधक हैं।

no-sex-1
Image Source

जब आप चिकित्सकीय कारणों से यौन संबंध रखने से निषिद्ध होते हैं क्योंकि यह आपके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता हैः जैसे कि बड़े ऑपरेशनों के बाद, कुछ दीर्घकालीन हृदय स्थितियां या जब आपको यौन संचारित रोग हो।

अध्ययन क्या कहते हैं

दिलचस्प बात है, अध्ययनों से पता चला है कि जोड़े कदाचित ही यौन प्रदर्शन को एक सुखद विवाह की कुंजी मानते हैं। पेंसिलवेनिया, अमेरिका के पिट्सबर्ग विश्वविद्यालय में वेस्टर्न साइकिएट्रिक इंस्टिट्यूट के फैमिली थेरपी सेंटर के एक अध्ययन में, 20 के दशक से लेकर 60 के दशक तक की उम्र वाले 100 सुखी विवाहित जोड़ों से उनके सेक्स जीवन के बारे में प्रश्न किए गए। उनमें से 90 प्रतिशत से अधिक लोगों का यौन जीवन ‘आदर्श से कम’ था। फिर भी 80 प्रतिशत से अधिक ने उनके विवाहों को ‘बहुत सुखी’ या ‘सुखी’ माना। लगभग सभी ने इनकार किया कि यौन आनंद की कमी एक समस्या थी और किसी ने भी परिवर्तन की आवश्यकता व्यक्त नहीं की। स्पष्ट रूप से, एक यौन समस्या वैवाहिक समस्या के समानार्थक नहीं है।

उसके बाद क्या होता है,

कारण चाहे जो भी हो, अगर आपके संबंध से सेक्स गायब हो जाता है, तो ये तीन संभावनाएं हैं:

1. दबी हुई यौन इच्छाः आप वंछित और निराश महसूस करते हैं, इसलिए अपनी यौन इच्छा को दबाने लगते हैं। जो लोग यह स्थिर रूप से करते हैं वे तनाव द्वारा प्रेरित शारीरिक या मानसिक रोग से ग्रस्त हो जाते हैं जैसे कि उच्च रक्ताचाप, पेप्टिक अल्सर, इस्केमिक दिल का रोग, हिस्टीरिया, त्वचा का रोग, माइग्रेन आदि।

ये भी पढ़े: मसाला किस तरह शयनकक्ष में भी अच्छा है

2. बेवफाईः सक्रिय साथी विवाह के बाहर सेक्स में शामिल हो जाते हैं। जो स्थिर रूप से यह करना चुनते हैं, उनके पास भटकने के लिए ‘न्यायसंगत कारण’ होता है, जो उन्हें बेईमानी में लिप्त होने पर एक अपराधबोध मुक्त सहजता प्रदान करता है; किसी की ‘वैध’ आवश्यकताओं को उचित ठहराना जो विवाह में तृप्त नहीं हो रही।

3. मूल्यांकन और स्वीकृतिः कई लोग इसे संबंध के एक ‘अपरिहार्य’ पहलू के रूप में लेते हैं और इससे निपटना सीखते हैं। संबंध के मूल्यांकन के बाद, वे इसके अन्य मजबूत पहलूओं को पहचान लेते हैं। अगर आप ऐसे समय में एक-दूसरे के साथ रहते हैं, तो अंतरंगता बढ़ जाएगी।

उपर्युक्त में से आप किस मार्ग को चुनते हैं, यह पर निर्भर करता है कि एक जोड़े के रूप में आप किस तरह विकसित हुए हैं, संबंधों से आपकी क्या अपेक्षाएं हैं और आपकी नैतिक परवरिश कैसी है।

कई वर्षों से, हमने देखा है कि लोग हर संभव तरीके से इससे निपट रहे हैं, निराशाजनक ब्रेकअप और गुप्त प्रेम प्रसंग से लेकर निराशा की प्रारंभिक भावना और उसके बाद सामयिक स्वीकृति और यहां तक कि एक दूसरे को संतुष्ट करने के लिए नए विचार लेकर आने तक।

यौन समस्या या संबंध समस्या?

एक आम गलती जो अधिकांश जोड़े करते हैं संबंध के एक भाग (सेक्स) को पूरे से अलग करना, यह सोचते हुए कि जब एक भाग ठीक हो जाएगा तो पूरा संबंध सुधर जाएगा। सच्चाई से आगे कुछ भी नहीं हो सकता है।

ये भी पढ़े: 5 तरीकों से फिटनेस आपके यौन जीवन को सुधारती है

अगर आपको लगता है आपके संबंध में यौन समस्याएं है जबकि आपके यौन कृत्य सामान्य थे, तब आपकी समस्याएं किसी गहरी चीज़ का लक्षण हो सकती हैं- जैसे कि अव्यक्त क्रोध या निराशा, अनसुलझी बहस, विश्वास की कमी या विफलता का डर। वास्तविक समस्या का पता लगाकर और उन्हें ठीक करने के लिए अपने साथी के साथ मिलकर काम करते हुए, आप इस पर काबू पा सकते हैं।

यौन उत्तेजना कुछ स्थितियों के लिए एक प्राकृतिक प्रतिक्रिया है। जब ये स्थितियां अनुपस्थित या बधित होंगी, तो आपकी प्राकृतिक यौन प्रतिक्रिया भी वैसी ही होगी। सेक्स एक श्रेष्ठ बैरोमीटर है जो आपको बताता है कि आपका संबंध कितनी अच्छी तरह काम कर रहा है और कब इसपर अधिक ध्यान देने की आवश्यकता है।

ज़्यादातर यौन समस्याएं संबंध के अन्य क्षेत्रों की समस्याओं के लक्षण हैं। वास्तविक समस्या हमेशा संबंध में होती है ना कि बिस्तर में। अगर आप अपने संबंध की समस्याओं को छुपाने या दबाने की कोशिश करेंगे तो वे बिस्तर पर उभरेंगी। हाँ, यौन जीवन में उत्साह पैदा करने के लिए कई चीज़ें सुझाई जा सकती हैं, लेकिन वे काम नहीं करेंगी। सेक्स आपके संबंध के बाकी भागों का बस एक दर्पण है।
[/restrict]

5 झूठ जो जोड़े कभी ना कभी एक दूसरे को बोलते हैं

दूसरे पुरूष पर मेरी गुप्त आसक्ति ने किस तरह मेरे विवाह को सशक्त किया!

  • Facebook Comments

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    You may also enjoy: