किराने की सूची, बिल और दूध के डिब्बों के माध्यम से प्यार का इज़हार करना

by Prerna Shah
grocery-1

हमारी शादी को अब तीन वर्ष हो चुके हैं। हमारी सगाई के लिए, मुझे आमीर खुसरो की ‘इन दि बाज़ार ऑफ लव’ की एक प्रति मिली। तब से, जब तक हमारी शादी हुई, मुझे ऐसे मैसेज मिलते थे जो सीधे प्यार में पड़े एक किशोर की डायरी से बाहर निकलते हुए प्रतीत होते थे। मैं भी उसी तरह से जवाब देती थी।

शादी के बाद, मैसेज गायब हो गए। शादी के बाद मेरे पहले जन्मदिन पर, मुझे विकास खन्ना की फ्लेवर्स फर्स्ट की प्रति मिली। यह कोई प्यार की कविता नहीं थी, बल्कि एक व्यंजन की किताब थी, हालांकि सुंदर तस्वीरों के साथ।

क्या यह एक संकेत था? क्योंकि अब हमारे द्वारा एक दूसरे को भेजे जाने वाले मैसेज में ऐसा कुछ लिखा होता है, “क्या तुम्हें कुछ चाहिए? मैं घर लौटते समय उन्हें ला सकता हूँ।”

ये भी पढ़े: ट्विटर पर विवाह की मज़ेदार परिभाषाएं

“बेबी, क्या तुम दूध के डिब्बे पर समाप्ति की दिनांक देख सकते हो?”

एक दिन, मैंने उसे कहा, “तुम जानते हो? आज कल जो सबसे अच्छी बातें तुम मुझे कहते हो वह ‘आई लव यू’ नहीं हैं। वे हैं ‘आज के भोजन के लिए फ्रिज में पर्याप्त भोजन रखा है’ और ‘प्रेरणा, आज खाना मैं बनाऊंगा’। मुझे अहसास हुआ कि पहला वाला प्यार और भी अधिक मधुर था क्योंकि इसका अर्थ है कि अगर आज खाना नहीं बनेगा, तो बर्तन भी नहीं धोने होंगे।

क्या रोज़ी रोटी कमाने, साथ मिलकर घर चलाने की कोशिश में और नौकरानी और डिशवाशर के ना होने से हमारा प्यार गायब हो गया है?
शायद यह ऐसा लग सकता है, खासकर उन लोगों के लिए जिनकी हाल ही में सगाई हुई है या जो एक दूसरे को डेट कर रहे हैं। फिर भी विवाहित लोगों को यह कहानी परिचित लगेगी। वे आपको बताएंगे कि प्यार गायब नहीं हुआ है, यह केवल तब्दील हुआ है। ‘आई लव यू’ कहा नहीं जाता बल्कि किया जाता है।

ये भी पढ़े: सेक्स अजीब/मज़ेदार क्षणों के बारे में है

यह इस प्रकार किया जाता है कि एक पति अपनी पत्नी की गाड़ी की टंकी पूरी भरवा दे ताकि पत्नी को सोमवार को सुबह सबसे पहले पेट्रोल पंप पर ना जाना पड़े। कब्ज़ से पीड़ित पति के लिए फ्रिज पर “सीरीयल के साथ अंजीर खाना मत भूलना, यह पेट के लिए बहुत अच्छा रहता है” यह लिखकर यह पत्नी द्वारा ‘कहा’ जाता है।

ये भी पढ़े: 8 लोग बता रहे हैं कि उनका विवाह किस प्रकार बर्बाद हुआ

मुझे अहसास हुआ कि इस स्थिति में हम अकेले नहीं थे जब मैंने ‘मैंने तुम्हें कहा नहीं है, लेकिन मैंने देखा है…’ प्रतियोगिता को जज किया। हमें प्रविष्टियों की एक भारी मात्रा प्राप्त हुई। यह प्रतियोगिता -विवाहित, डेटिंग कर रही, साथ रह रही जोड़ियों को अपनी बातों को शब्दों में ढालने का अवसर देने के बारे में थी, जिनपर उन्होंने ध्यान दिया था लेकिन कभी कहा नहीं था।

लगभग सभी जोड़ों ने बताया कि किस तरह आई लव यू ने चीज़ों, कोशिशों को स्थान दिया है और प्यार की अभिव्यक्ति बोलने की जगह करने में तब्दील हो गई है। एक स्त्री ने लिखा है कि जब वे यात्रा करते हैं तो किस तरह उसका पति सुनिश्चित करता है कि मतली से निपटने में मेरी मदद करने के लिए अपने साथ गोली हमेशा रखे। एक पुरूष ने लिखा कि किस तरह उसकी पत्नी ने कॉफी पीना शुरू कर दिया क्योंकि मैं सुबह सबसे पहले पेय के रूप में कॉफी पीना पसंद करता हूँ।

क्योंकि उस दिन पढ़ने और छांटने के लिए बहुत सी प्रविष्टियां थीं, मैं बहुत बंध गई थी। और इसलिए मेरे पति मेरे छोटे से अध्ययनकक्ष, जहां मैं काम कर रही थी, वहां तीन बार आए दो बार चाय के कप के साथ और एक बार थोड़ी तीखी, अनाड़ी जैसी केले और ब्लूबैरी स्मूदी के साथ।
और पीछे खड़े हो गए और प्रतिलिपि पर नज़र डाली। “जानती हो,” उन्होंने कहा, “मैं यह सब करता हूँ।“

“क्या,” मैंने पूछा।

“मैं तीन दिन पुरानी दाल खा लेता हूँ ताकि तुम्हें थोड़ा अतिरिक्त समय मिले। एक प्रविष्टि का कहना था कि उसका पति तीन दिन पुराना चिकन खाता है ताकि उसे सांस लेने का समय मिल सके।”

“तो?”

“तो, हम अब भी एक दूसरे से प्यार करते हैं। हम बस इसे व्यक्त अलग तरह से करते हैं। मैं वेलेंटाइन्स डे पर तुम्हारे लिए गुलाब भी लाया था लेकिन तुमने कहा था कि उस दिन कभी गुलाब नहीं खरीदने चाहिए क्योंकि वे महंगे होते हैं।”

“मेरी दाल कभी भी फ्रिज में तीन दिन तक नहीं रहती। और फूल के उस गुच्छे की कीमत हमें 40 पाउंड पड़ी थी जो बेहिसाब है।”

हम दोनों हंसे और वापस अपने-अपने काम में जुट गए। मैंने अपनी प्रतिलिपि पर थोड़ा और काम किया। उन्होंने खाना बनाया। रात को, हम दोनों ने अपनी-अपनी किताब ले लीः मैंने होली फूल्स और उन्होंने, स्नो। कुछ बातचीत ज़रूर हुई लेकिन प्यार की घोषणा नहीं। लेकिन अनगिनत अन्य जोड़े जो विवाहित हैं या एक साथ रह रहे हैं, उनकी तरह, हम जानते थे कि भले ही हमारे मैसेजों में किराने की सूचियां, बिल और दूध के डिब्बे ज़्यादा होते थे, फिर भी प्यार अब भी बरकरार था।

जब पत्नी के एक फ़ोन ने मुझे अपनी हरकतों पर शर्मिंदा किया

जब एक गृहणी निकली प्यार की तलाश में

जब जीवनसाथी से मन उचटा तो इंटरनेट पर साथी ढूंढा

Leave a Comment

Related Articles