Hindi

क्यों बॉलीवुड फिल्मों को ‘दी एंड’ की बजाय ‘दी बिगनिंग’ पर खत्म होना चाहिए?

विवाह वास्तव में अंत नहीं है बल्कि आपके साथी के साथ जीवन भर की लंबी यात्रा की शुरूआत है
bollywood-movies-poster

बॉलीवुड के ईस्टमेनकलर दिन याद हैं? हिंदी फिल्म की समाप्ति सूर्यास्त में प्रवेश करने जैसी थी -हीरो और हिरोईन की शादी हो जाएगी और वे अज्ञात भविष्य की ओर चल देंगे जिसके बारे में हमें कभी कुछ पता नहीं होगा सिवाय समाप्ति क्रेडिट के जिसमें लिखा होता था ‘दी बिगनिंग’ जिसने भी फिल्म को ‘दी एंड’ की जगह ‘दी बिगनिंग’ पर खत्म करने के बारे में सोचा होगा उसका सेन्स ऑफ ह्यूमर कमाल का रहा होगा। ज़ाहिर सी बात है कि ये शब्द अमंगलसूचक हैं। लगभग उस सनकी अंकलजी की तरह जो आपकी शादी में आपके पीठ पीछे हँसते हैं और पती-पत्नी वाले चुटकुले सुनाते हैं जैसे की ‘‘अब तुमको पता चलेगा।”

ये भी पढ़े: ससुराल वालों के हस्तक्षेप पर काबू पाना

शब्दों की विडंबना को देखें – ‘दी बिगनिंग’। इसे आमतौर पर इस्तेमाल होने वाली शहनाई की आवाज़ की जगह एक डरावनी हँसी की बेकग्राउंड आवाज़ के साथ आना चाहिए था। और फिर उसका एक सिक्वल आना चाहिए था बच्चों के साथ। जिसका समापन क्रेडिट होना चाहिए था – ‘‘आपने सोचा था कि वह शुरूआत थी?’’

शादी का लड्डू

शादी के लड्डू की कहावत सबसे उपयुक्त है। ना तो आप इसे निगल सकते हैं और ना ही उगल सकते हैं। इसकी कगार पर खड़े लोगों की बहुत सूक्ष्म रेखा है। वे जो दूर रहते हैं कभी नहीं जान पाएँगे कि यह क्या है और जो पार कर जाएंगे वे अंततः उस पागल लाफ्टर क्लब में भेज दिए जाएँगे जिनका प्रतिनिधित्व वॉट्सऐप के शादी पर आधारित चुटकुले करते हैं।

Please Register for further access. Takes just 20 seconds :)!


7 जीआईएफ जो हर सास की सलाह पर सबसे सही प्रतिक्रिया है!

90 के दशक की 6 फिल्में जिनके पुनः निर्माण की आवश्यकता है

10 बातें जिससे केवल अविवाहित लोग इत्तेफाक रखेंगे!

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also enjoy:

Yes No