“माँ तुम गलत थी. उसने मुझे धोखा दिया.”

उसने ज़ोर से दरवाज़े को अपने पीछे बंद किया. मैं कार के इंजन के स्टार्ट होने की आवाज़ सुन सकती थी. इंजन की आवाज़ से समझ आ रहा था की वो गाडी पर अपना गुस्सा निकाल कर तेज़ी से उसे हमारे बरामदे से निकाल रहा था. मैं वहीं सोफे पे बैठ गई. अभी आँसूं बहने … Continue reading “माँ तुम गलत थी. उसने मुझे धोखा दिया.”