Hindi

महिलाओं को इंप्रेस करते समय पुरूष ये 10 आम गलतियां करते हैं

जब आप किसी स्त्री के साथ दोस्ती करने की कोशिश कर रहे हैं, तो उसके साथ ये चीज़ें कभी ना करें
close-up-of-woman-holding-banner

मैं एक युवा, अल्हड़ किशोरी थी जो लड़कियों के स्कूल में पढ़ी थी और अब कॉलेज में प्रवेश कर रही थी। मेरा दिल आशंका, उम्मीदों और तनाव से भरा था। बॉलिवुड फिल्मों को देखकर, कॉलेज के बारे में मेरा यह विचार था कि यह एक ऐसी जगह है जहां लड़के, लड़कियों का पीछा करते हैं, लोग घूमते फिरते हैं, क्लास बंक करते हैं और अपने सोल मेट से मिलते हैं।

तो मेरी निराशा का अंदाज़ा लगाइये जब पहला लड़का जिसने मुझे ‘दोस्ती’ के लिए अप्रोच किया वह एक मरियल सा छोकरा था जिसने मुझसे सबसे अजीब सवाल पूछा -‘एक्सक्यूज़ मी, क्या तुम मेरे साथ घूमोगी?’ यह सबसे घटिया पिकअप लाइन थी। मेरी कॉन्वंट स्कूल की घमंडी संवेदनशीलता इतनी अधिक डर गई कि ग्रेजुएशन के अगले तीन वर्षों तक मैंने किसी लड़के को देखा तक नहीं।

ये भी पढ़े: हमने दस साल, तीन शहर और एक टूटे रिश्ते के बाद एक दुसरे को पाया

आइये इसे स्वीकार करते हैं – एक स्त्री को लुभाना एक कला है और अधिकांश पुरूषों के बस की बात नहीं है। फिल्मों में जो आकर्षक लड़के आप देखते हैं वे प्रतिभाशाली लेखकों की कल्पना के सिवा और कुछ भी नहीं है। वास्तविक जीवन में, अक्सर पुरूष या तो अनाड़ी होते हैं या फिर डरावने और उबाऊ। इसलिए, आपकी सपनों की रानी के दिलों को जीतना इतना आसान नहीं होता।

मुझे लगता है कि यह पूरी तरह से उनका दोष नहीं है। आखिरकार, महिलाएं थोड़ी जटिल होती हैं और इस विषय पर कोई एमबीए कोर्स भी नहीं है कि किसी स्त्री को डराए बिना उसे कैसे लुभाएं! खैर, पुरूष एक चीज़ कर सकते हैं कि ये सीख लें कि क्या नहीं करना है। तो प्रिय सज्जनो, अगर आप किसी स्त्री के दिल को जीतने की कोशिश कर रहे हैं तो कृपया वे चीज़ें ना करें जो आपको लगता है कि आकर्षक है लेकिन नुकसान पहुंचा सकती हैं। तो, सार्वजनिक हित में, अगर आप अपनी पसंद की लड़की को डेट करना चाहते हैं, तो ये चीज़ें ना करें।

कभी भी…..

फेसबुक पर रेंडम हाय मत कहिए
[restrict]

तो आपने उसे एक पार्टी में देखा और फेसबुक पर फ्रैंड रिक्वेस्ट भेजने का फैसला किया। ऐसा करें, लेकिन रेंडम ‘हाय हाउ आर यू’ या ‘हाय’ के वेरियेशन के साथ उसके मैसेंजर को परेशान ना करें। अगर वह आपकी फ्रैंड लिस्ट में नहीं है या आपके कॉमन दोस्त नहीं हैं, तो मैसेंजर पर एक उचित, साफ तरह से लिखा हुआ नोट भेजिए, एक रेंडम ‘हाय’ नहीं। अगर आप किस्मत वाले हैं तो वह आपको एक्सेप्ट कर लेगी। अगर उसने आपको एक्सेप्ट कर लिया, तो आपकी रिक्वेस्ट एक्सेप्ट करने के लिए उसका शुक्रिया अदा ना करें जैसे कि ऐसा करके उसने आप पर कोई बड़ा अहसान किया है। अगर वह एक्सेप्ट नहीं करती, तो भूल जाइये। दूसरा ‘हाय’ मत भेजिए।

ये भी पढ़े: कैसे उसकी परफेक्ट शादी उसके “मोटापे” के तानों के नीचे दबने लगी

उसकी हर फेसबुक या इंस्टाग्राम पोस्ट को लाइक या शेयर मत कीजिए

उसने फेसबुक पर आपकी रिक्वेस्ट एक्सेप्ट कर ली? बहुत बढ़िया। अब, प्लीज़ उसकी हर पोस्ट को लाइक करने मत लग जाइये, भले ही उसने लिखा हो कि उसका गला खराब है। किसी पोस्ट को लाइक करने का मतलब है कि आप पोस्ट में व्यक्त किए गए विचारां का समर्थन करते हैं, ना कि आप उस व्यक्ति को पसंद करते हैं! यदि आप वार्तालाप में कुछ भी बुद्धिजीवी चीज़ जोड़े बिना उसकी पोस्ट को लाइक करते गए, तो आप बगैर राय के एक मूर्ख समझे जाएंगे। साथ ही, उसकी पुरानी तस्वीरों को लाइक मत कीजिए। अगर किसी स्त्री को 2007 की उसकी तस्वीर लाइक करने का नोटीफिकेशन मिलता है, तो यह स्पष्ट संकेत है कि आप उसकी प्रोफाइल स्टॉक कर रहे हैं। आपको लग सकता है कि यह चीज़ प्यारी है, लेकिन हमें लगता है कि यह एक तरह से घिनौना है।

बकवास मज़ाक ना करें

लोग या तो मज़ाकिया होते हैं या नहीं होते। जब वे फनी बनने का नाटक करते हैं तो वे मूर्ख लगते हैं। समझ गए? ठीक है, मैं इसे आसान भाषा में समझाती हूँ। आपने कॉस्मोपॉलिटन में पढ़ा होगा कि स्त्रियों को वे पुरूष पसंद होते हैं जो उन्हें हंसाते हैं। हाँ, यह सही है। लेकिन इसका यह मतलब नहीं है कि आपको चलती फिरती चुटकुलों की किताब बनना होगा। अगर आप हंसाना नहीं जानते, तो प्लीज़ चुप बैठिए। सशक्त, शांत व्यक्ति बनें। हम उन्हें भी बहुत पसंद करते हैं।

ये भी पढ़े: वह वांछित महसूस करती है

सेक्स संबंधित मज़ाक ना करें

यह सबको पता है। आपको सेक्स संबंधित मज़ाक नहीं करना चाहिए, सिर्फ इसलिए क्योंकि यह कूल है और आज कल चलन में है। खास कर तब जब आप एक संभावित रिश्ते के शुरूआती चरण में हैं। यदि आप एक ग्रूप में हैं तब भी, अपने शब्दों को नियंत्रण में रखें। हो सकता है कि स्त्रियां आपके मज़ाक पर हंस दे, लेकिन इसका यह मतलब नहीं है कि इसमें उन्हें मज़ा आया। विनम्रता से कहें तो, इससे आपको एक परवर्ट समझा जा सकता है।

आकर्षित करने की कोशिश ना करें

यहां मुख्य शब्द है ‘कोशिश’। आपके क्रश की तवज्जो पाने की प्रक्रिया सहज होनी चाहिए। जिस क्षण आप कोशिश करते हैं, आप बाज़ी हार जाते हैं। निश्चित रूप से अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करें लेकिन यह प्राकृतिक, स्वाभाविक और ईमानदार होना चाहिए। इसे विस्तार में समझने के लिए, हालिया बॉलिवुड डूड राबता का उदाहरण लें। सुशांत सिंह राजपूत एक ऐसे फ्लर्ट करने वाले पुरूष की भूमिका निभा रहे हैं जिसे लगता है फ्लर्ट करने का मतलब है कि स्कर्ट या जंपसूट वाली लड़की पर लाइन मारना। उसे कीर्ति सैनोन से प्यार हो जाता है और उसका पीछा करता रहता है, उसकी डेट तोड़ देता है, चीज़ी लाइनें बोलता है और खुद का मज़ाक बनाता है। फिल्म में, बेवकूफ लड़की उससे पट जाती है, लेकिन वास्तविक जीवन में, यह आकर्षक नहीं है, इसे स्टॉकिंग कहा जाएगा।

गुस्ताख ना बनें

गुस्ताख होने और आत्मविश्वासी होने के बीच एक महीन रेखा है। आम्तविश्वास पुरूषों और स्त्रियों के लिए एक बहुत अच्छा गुण है लेकिन जब आप बहुत स्मार्ट दिखने की कोशिश करते हैं तो यह गुस्ताखी में बदल जाता है। ब्रांड के नाम ना बताएं। यह ना कहें कि आपका कैरियर कितना फल-फूल रहा है। राजनीति, क्रिकेट, फिल्मों और भोजन के बारे में अपना ज्ञान ना दिखाएं – हम बेहतर जानते हैं।

ये भी पढ़े: ५ लोग बताते हैं की कैसे प्यार ने उन्हें बेहतर बनाया

अंतहीन चैट ना करें

बातचीत शुरू करना कठिन है और उसे खत्म करना उससे भी ज़्यादा! वॉट्सएैप चैट वास्तव में लुभावनी हैं लेकिन इसे ज़रूरत से ज़्यादा ना करें। अगर आप बातचीत को उचित सीमा से आगे खींचने की कोशिश करते हैं तो आपको कोई पुरस्कार नहीं मिलने वाला। इसे सरल रखें, आपको जो भी कहना है कहें और फिर इसे खत्म कर दें। भगवान के लिए ‘और बताओ’ ‘वॉट एल्स’ या ‘टेल मी मोर’ शुरू ना करें।

सोशल मीडिया पर बहुत ज़्यादा शेखी ना बघारें

आप वसाबी में डिनर कर रहे हैं? आपके लिए अच्छा है! एमिरेट्स में फर्स्ट क्लास में यात्रा कर रहे हैं? बहुत बढ़िया। एक बिज़नस क्लास लाउंज में चैक इन किया? बहुत खूब। अब प्लीज़ सोशल मीडिया पर हर उपलब्धि की दास्तान सुनाना बंद करें। इससे हम आपकी सराहना नहीं करते, बल्कि आप डींगे मारने वाले प्रतीत होते हैं। यह बिल्कुल ना करें।

ये भी पढ़े: प्यार की एक दुखभरी दास्तान

उसे बेब या बेबी ना बुलाएं

वह आपकी बेबी नहीं हैं। हाँ आप उससे शादी करने के बाद उसके साथ एक बेबी पैदा करने का सपना ज़रूर देख सकते हैं लेकिन तब तक प्लीज़ उसे उसके नाम से ही बुलाएं। यह बेबी बुलाया जाना बहुत ज़्यादा खीझ पैदा करता है, खास कर तब जब आप उसके करीब जाने की कोशिश ही कर रहे हैं। जब आपकी उससे थोड़ी अच्छी दोस्ती हो जाए तब बेब बुलाना ठीक है लेकिन परिचितता के उस स्तर तक पहुंचने के लिए थोड़ा इंतज़ार कीजिए। धैर्य रखिए।

बहुत ज़्यादा अच्छा ना बनें

नहीं, हम प्यार में पड़ने के लिए किसी बुरे व्यक्ति की तलाश नहीं कर रहे हैं, लेकिन कुछ ज़्यादा ही अच्छे होने से आप मूर्ख दिखेंगे। उसके लिए ड्रिंक लाने के लिए आतुर ना हों, जब वह बात कर रही हो तो मंत्रमुग्ध होकर उसे ना देखें, उसकी हर हाँ में हाँ ना मिलाएं। अगर वह बिल बांटना चाहती है तो उसका भुगतान करने पर ज़ोर ना दें, उसे खुश करने के लिए आतुर ना दिखें। अन्यथा ऐसा लगता है कि आप पर्सनालिटी की कमी की क्षतिपूर्ति करने की कोशिश कर रहे हैं।
[/restrict]

 

वो मुझसे बड़ी थी और उसके प्यार में मैं बदल गया

10 बातें जो हर लड़की सुनना चाहती है लेकिन पुरूष कभी कहते नहीं

मैंने प्लेन में मिले एक लड़के से शादी कर ली

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also enjoy:

Yes No