मैं अपने विवाह में सुखी थी और फिर भी मैंने अपने एक्स के साथ संबंध बना लिया।

(जैसा एलीना सन्याल को बताया गया)

पहचान छुपाने के लिए नाम बदल दिए गए हैं

मैं गिरीश और हमारी 9 वर्षीय बेटी विहाना के साथ मुंबई के एक हलचल भरे उपनगर में रहती हूँ। गिरीश और मेरा परिचय एक विवाह ब्यूरो के माध्यम से हुआ। विहाना का जन्म हमारे विवाह के 10 महीने बाद हुआ था। मेरा पति एक बहुत प्यार करने वाला पिता है और बहुत परवाह करने वाला साथी है। वह एक बहुत ही व्यवहारिक पुरूष है और एक बराबरी का साथी है। वह एक बहुत बड़े दिलवाला रोमांटिक व्यक्ति है। वह मेरा सहारा है और मैं हर बात के लिए उसका रूख करती हूँ।

एक ऐसे जीवन के बारे में कौन शिकायत करेगा? कोई नहीं, मुझे सोचना चाहिए।

बिना जोश की शादी

जल्द ही गिरीश की नौकरी के कारण उसे बहुत यात्रा करने की आवश्यकता होने लगी। हालांकि उसे घर की कमी महसूस होती थी, और लौटने पर वह अक्सर जैट लैग से ग्रसित होता था और थका हुआ होता था और इसी कारण से फिर से यात्रा करने से पहले हमें गुणवत्तापूर्ण समय नहीं दे पाता था। उसके लिए लौटने का अर्थ मतलब फिर से पैकिंग करना और अगली फ्लाइट पकड़ना था। मैं उसकी अनुपस्थिति से अभ्यस्त होती जा रही थी लेकिन शामें बहुत बोझिल लगती थीं, और मैं किसी वयस्क के साथ और बातचीत के लिए तरसती थी। उसके लौटने पर जल्दबाजी में किया गया सेक्स एक मजबूरी में किए गए काम की तरह लगता था। वह उन दुखदाई तन्हा रातों के लिए एक सांत्वना प्रतीत होता था जो हम सात समंदर दूर होकर बिताते थे। अब उस उत्साह की कमी महसूस होने लगी जिसने इतने वर्षों में हमारे प्यार को जीवित रखा था।

ये भी पढ़े: मेरा विवाहेतर संबंध है और इसने मेरी शादी को अधिक सहनशील बना दिया है

couple looking at each other
बिना जोश की शादी

उसके अनुरोध पर, जब वह अमेरिका जा रहा था तो मैं उसे एयरपोर्ट पर छोड़ने गई। विवाह, और जल्द ही जन्में बच्चे और शहरी जीवन के तनाव के साथ, मैंने कभी हमारे मिलन की परिस्थितियों का पुनरावलोकन नहीं किया था। और मैंने कभी विचार नहीं किया था कि क्या मैंने गिरीश से शादी करने का निश्चय सदमें से उबरने के लिए किया था, लेकिन उस दुर्भाग्यपूर्ण दिन में मैंने ऐसा किया जब मेरे विवेक के अंत की शुरूआत हो गई थी। गिरीश को छोड़ने के बाद, मैंने उस ऑटो रिक्शा में से एक पुरूष को उतरते देखा जिसे मैंने रोका था। हमारी नज़रे मिलीं और मुझे अपनी नाभी में कुछ हलचल महसूस हुई।

मैं अपने एक्स बॉयफ्रैंड से मिली

वह नितिन था! उसकी नज़रे मुझ पर से हटी नहीं जब हम वहां बगैर हिले डुले खड़े रहे, ऐसा लग रहा था हम सदियों से वहां खड़े हैं। उसने यह पूछकर चुप्पी तोड़ी की क्या मेरे पास छतरी है। हम दोनों जानते थे कि यह प्रश्न व्यर्थ था। आकस्मिक होने की कोशिश करने के भारी तनाव के साथ, मैंने पास ही के एक कैफे की ओर इशारा किया और पूछा कि क्या वह एक कप कॉफी पीना चाहेगा। उसकी शिष्टता ने मेरे भीतर निष्क्रिय पड़ी किसी वस्तु को जगा दिया। हम बैठ गए और मैंने अपने पिछले दशक के जीवन के बारे में उसे बताया, कॉफी अभी भी गर्म थी। मैं यह जानने के लिए बेताब थी कि उसके जीवन में क्या चल रहा है।

Wife with her ex
मैं अपने एक्स बॉयफ्रैंड से मिली

ये भी पढ़े: अगर आप किसी शादीशुदा पुरूष के प्यार में पड़ रही हैं तो स्वयं से ये प्रश्न पूछिए

जब गिरीश मेरे जीवन में आया और उसने अचानक मुझे प्रपोज़ किया, उससे एक साल पहले मैं और नितिन एक शादी में मिले थे। एक वर्ष तक चले जोशीले रोमांस के बाद, मैंने शादी का प्रश्न पूछ लिया था। उसका शांत और संयमित उत्तर योजनाबद्ध और स्पष्ट लग रहा था। उसे और समय चाहिये था। मुझे ऐसा लगा जैसे मुझे इस्तेमाल किया गया है और छोड़ दिया गया है। अगले कुछ दिनों तक उसकी चुप्पी सदमा पहुंचाने वाली थी। बाद में, मैंने उसके फोन उठाना बंद कर दिया और अंततः उसका नम्बर ब्लॉक कर दिया। छः महीने बाद मेरे जीवन में गिरीश आया, वह मेरे इतिहास से अनभिज्ञ था और उसने बिना कुछ सवाल पूछे मुझसे शादी कर ली।

Native

हमने वहीं से शुरू किया जहां हम इसे छोड़ आए थे

नितिन अन्य चीज़ों के बारे में बताने के साथ ही अपनी गर्भवति पत्नी प्रिया के बारे में बताने से नहीं हिचकिचाया। उसके जीवन में एक अन्य स्त्री की छवि ने हमारे संबंध की याद दिला दी, जो कभी ज़ाहिर नहीं हो पाया था। मैंने उस पर आरोप लगाया कि उसने मुझे एक ही झटके में छोड़ दिया। उसने दावा किया कि उसने कोई वादे नहीं किए थे। इस पूरे समय के दौरान मुझे उसके प्रति एक अनवरत खिंचाव महसूस हुआ। मैंने अपने विवेक को एकत्र किया और अपने अस्थिर व्यवहार के लिए माफी मांगी और प्रस्ताव रखा कि अगले दिन उसका ऑफिस खत्म होने के बाद दुबारा मिलें।

ये भी पढ़े: जब मेरी पत्नी को पता चला कि मैंने दूसरी औरत के साथ रात गुज़ारी है

मुलाकातें एक के बाद एक बढ़ती ही गईं। वर्षों की दूरी एक ही पल में दूर हो गई जब हमने कामोत्तेजक दोपहर और जोशीली रातों में अपने अतीत की यादें ताज़ा कीं। नितिन ने उत्तेजना की वे तरंगे दिखाई जो मैं बहुत पहले भूल चुकी थी। जब मैं उसके साथ होती थी तो पिघल जाया करती थी। उसने मेरे भीतर वह प्रज्जवलित किया जो गिरीश कोशिश करने के बावजूद नहीं कर पाया था।

Wife kissing her ex boyfriend
हमने वहीं से शुरू किया जहां हम इसे छोड़ आए थे

जब हम बिस्तर पर लेटे थे, मैंने उसे सोते में झकझोरा और कहा ‘आई लव यू’। उसने आंखे खोली और मुस्कुराया लेकिन उत्तर नहीं दिया। इन साझे क्षणों के व्यापक प्रभाव के बारे में अस्तित्वपरक प्रश्नों ने मुझे भीतर तक हिला दिया। क्या मैं अब कभी भी अपने शंकारहित, वफादार गिरीश को उसी तरह से देख पाउंगी? उसके साथ जीवन अब एक घरेलू कार्य जैसा लगने लगा। मैं सोच में पड़ गई कि क्या नितिन मेरे जीवन के एयरपोर्ट पर बस एक गुज़रता यात्री है और गिरीश वह प्लेन है जो हमेशा मुझे सुरक्षित रूप से घर ले जाएगा। केवल समय ही बताएगा कि हम यह जीवन कब तक जीएंगे।

वो आहत करने वाली बातें जो हम प्यार में बोलते हैं

मेरी माँ बेवजह भाभी की शिकायतें करती हैं

Spread the love
Tags:

Readers Comments On “मैं अपने विवाह में सुखी थी और फिर भी मैंने अपने एक्स के साथ संबंध बना लिया।”

  1. U r right. This is a part of life which are not ignore that situation to become both lover a long time to each-other sexual necessity for a long time. As per situation. the decision seems right. in that situation can’t be explained who are not in love.

    1. U r right. I m totally agree with u. Bt sex is the necessity of life & how one can ignore this necessity for a long time. As per situation,the decision seems to be right

  2. Nahi, it’s part of life, this is not right, but better you don’t share any one to this matter, also try to watch ham Dil de chuke Sanam.

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

This website uses cookies to ensure you get the best experience on our website.