Hindi

मैं अपने विवाह में सुखी थी और फिर भी मैंने अपने एक्स के साथ संबंध बना लिया।

वह एक सुखी विवाहित स्त्री थी और फिर उसका पूर्व प्रेमी उसके जीवन में लौट आया और उसके घर और दिल के टूकड़े कर गया।
beautiful-woman

(जैसा एलीना सन्याल को बताया गया)

पहचान छुपाने के लिए नाम बदल दिए गए हैं

मैं गिरीश और हमारी 9 वर्षीय बेटी विहाना के साथ मुंबई के एक हलचल भरे उपनगर में रहती हूँ। गिरीश और मेरा परिचय एक विवाह ब्यूरो के माध्यम से हुआ। विहाना का जन्म हमारे विवाह के 10 महीने बाद हुआ था। मेरा पति एक बहुत प्यार करने वाला पिता है और बहुत परवाह करने वाला साथी है। वह एक बहुत ही व्यवहारिक पुरूष है और एक बराबरी का साथी है। वह एक बहुत बड़े दिलवाला रोमांटिक व्यक्ति है। वह मेरा सहारा है और मैं हर बात के लिए उसका रूख करती हूँ।

एक ऐसे जीवन के बारे में कौन शिकायत करेगा? कोई नहीं, मुझे सोचना चाहिए।

बिना जोश की शादी

जल्द ही गिरीश की नौकरी के कारण उसे बहुत यात्रा करने की आवश्यकता होने लगी। हालांकि उसे घर की कमी महसूस होती थी, और लौटने पर वह अक्सर जैट लैग से ग्रसित होता था और थका हुआ होता था और इसी कारण से फिर से यात्रा करने से पहले हमें गुणवत्तापूर्ण समय नहीं दे पाता था। उसके लिए लौटने का अर्थ मतलब फिर से पैकिंग करना और अगली फ्लाइट पकड़ना था। मैं उसकी अनुपस्थिति से अभ्यस्त होती जा रही थी लेकिन शामें बहुत बोझिल लगती थीं, और मैं किसी वयस्क के साथ और बातचीत के लिए तरसती थी। उसके लौटने पर जल्दबाजी में किया गया सेक्स एक मजबूरी में किए गए काम की तरह लगता था। वह उन दुखदाई तन्हा रातों के लिए एक सांत्वना प्रतीत होता था जो हम सात समंदर दूर होकर बिताते थे। अब उस उत्साह की कमी महसूस होने लगी जिसने इतने वर्षों में हमारे प्यार को जीवित रखा था।

Please Register for further access. Takes just 20 seconds :)!


 

वो आहत करने वाली बातें जो हम प्यार में बोलते हैं

मेरी माँ बेवजह भाभी की शिकायतें करती हैं

Facebook Comments

7 Comments

  1. U r right. This is a part of life which are not ignore that situation to become both lover a long time to each-other sexual necessity for a long time. As per situation. the decision seems right. in that situation can’t be explained who are not in love.

  2. Hindu Dharma has advised sanskars to be performed during the sixteen principal events of life, so as to move closer to God. The most important of them being the Vivah sanskar.

    1. U r right. I m totally agree with u. Bt sex is the necessity of life & how one can ignore this necessity for a long time. As per situation,the decision seems to be right

    2. Offcourse u r right.bt sex is the necessity of everyone life. How can anyone survive longtime without it. In that situation the decision seems right

  3. its was cheating with ur hubby who is earning onluly for u …. not for sexual digit for ur happiness …..,

    abb aap khud soch sakte ho….

  4. Nahi, it’s part of life, this is not right, but better you don’t share any one to this matter, also try to watch ham Dil de chuke Sanam.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also enjoy:

Yes No