Hindi

मैं एक युवा परिपक्व स्त्री हूँ जो बच्चों जैसे दिल वाले वृद्ध पुरूष से प्यार करती है

एक ऐसे प्यार की कहानी जिसने परंपरागत राह नहीं चुनी
Cheeni kum

(जैसा तानिया दे को बताया गया)

हमारी अपरंपरागत प्रेम कहानी

बहुत से लोग कहेंगे कि प्यार आपके प्रियजनों से मिलने, एक साथ समय बिताने, रोमांटिक डेट्स की योजना बनाने, हाथ में हाथ डाले घूमने के बारे में है। प्यार को आमतौर पर एक खुशी के पर्दे से देखा जाता है और हमेशा उसे ज़यादा सुंदर बना दिया जाता है। हम कभी भी ऊब, कठिन परिश्रम और नीरस काम को अपनी रोमांटिक यात्रा का हिस्सा बनाने के बारे में विचार नहीं करते हैं।

ये भी पढ़े: यह कैसे सुनिश्चित करें कि प्यार में आपकी कोशिशें समझी जाएं

दूसरी ओर, भगवान का शुक्र है कि हमारा प्यार दूसरी तरह का था। हम काम के लिए मिले, मेरी भाषा अच्छी थी और वह एक प्रमुख समाचार पत्र का संपादक था, (उसने 15 मिनट तक मेरा इंटर्व्यू लिया, बेशक उसने मुझे नौकरी पर नहीं रखा क्योंकि मैं बहुत छोटी थी, लेकिन फिर दो दिन बाद हम एक दूसरे को मैसेज भेजने लगे) और हमने राजनीति, धर्म, साहित्य और अन्य विषयों पर हमारे विचारों के बारे में बात और चर्चा की। कनेक्शन त्वरित थाः मैं एक ऐसी स्त्री हूँ जो किसी 30 साल की उम्र वाली स्त्री की तरह सोचती है और बात करती है, मैं वह हूँ जिसे वयस्क लोग बॉर्डरलाइन एडल्ट कहते हैं, और वह एक व्यस्क व्यक्ति था जिसका दिल बच्चों जैसा था।

क्या वह भी मुझसे प्यार करता था?

रातें दिलचस्प होती गईं क्योंकि हमारे पास हमेशा बात करने के लिए पर्याप्त चीज़ें होती थी। जल्द ही दिन जल्दी-जल्दी बीतने लगे और मुझे अहसास हुआ कि मुझे इस पुरूष से प्यार हो गया था। वह मेरे वास्तविक रूप में मेरा सम्मान करता था, वह मुझे मेरे वास्तविक रूप में सहज महसूस करवाता था, वह हमेशा प्रेरित करता था और सहयोग करता था, वह सकारात्मक रूप से मेरी गलतियाँ सुधारता था, और मुख्य बात यह थी कि वह बहुत अच्छा इंसान था। नम्र, ईमानदार, बहादुर, महिलाओं के प्रति विनम्र, वह सम्मान किए जाने योग्य था। मैं उससे प्यार करती थी यह अहसास मुझे तब हुआ जब हम दूसरी बार मिले, और उसने मुझसे मिलने को कहा, ‘‘मुझे कल मिलना प्लीज़” बिल्कुल यही शब्द थे, और मैं जान गई थी कि मुझे उससे प्यार हो गया है। इससे मुझे खुशी और प्रसन्नता हुई।

ये भी पढ़े: यादें बनाना महत्त्वपूर्ण क्यों है

couple in love
Image source

लेकिन फिर मुझे अहसास हुआ कि मैं उससे प्यार करती थी, और मुझे बिल्कुल अंदाज़ा नहीं था कि क्या वह किसी और से कमिटेड था। हमारे बीच उम्र का अंतर लगभग 12 साल है, और इसी अंतर ने मुझे सीधा सवाल उठाने से रोक दिया। इसलिए मैं मायूसी में काफी महीनों तक इंतज़ार करती रही, और सोशल मीडिया पर उससे बात करना भी जारी रखा।

आखिरकार मैंने उसे अपनी फीलिंग्स बता ही दीं

हम दो अलग शहरों में रहते थे, इसलिए अक्सर मिलना कभी एक विकल्प था ही नहीं। हम साल में एक बार मिलते थे, या फिर अगर किस्मत बहुत अच्छी हो तो दो बार। वह मुझे अपने बोलने के ढंग और ज्ञान से आकर्षित करता रहा, और मुझे महसूस हुआ कि दिन-ब-दिन मेरा प्यार बढ़ता ही जा रहा है। यह सब एक साल तक चलता रहा और फिर मेरे धैर्य ने जवाब दे दिया और मैंने उसे एक चार पेज लंबा लव-लैटर लिखा और एक एंटीक पॉकेट वॉच और हाथ से बनाए कार्ड के साथ उसे भेज दिया।

ये भी पढ़े: वह वांछित महसूस करती है

ज़ाहिर है कि उसने ठीक तरह उत्तर नहीं दिया। शुरूआत में वह भड़क गया, उसने फोन काट दिया और वह बहुत गुस्से में था। फोन पर उसके शब्द थे ‘‘मैं तुमसे बात नहीं करना चाहता।”

उसने मुझे यह तक नहीं बताया कि क्या उसे पैकेज मिल गया है, और मेरा दिल टूट गया था। मैंने खुद से कह दिया था कि शायद यह प्यार कभी सफल नहीं होगा, और शायद यह ऐसा ही रहेगा। हमारे बीच लंबी अवधि तक चुप्पी बरकरार रही, और हमने बात नहीं की। हम लगभग एक महीने तक संपर्क से बाहर थे। लेकिन मैं उसे एक पल के लिए भी भूल नहीं पाई थी।

ये भी पढ़े: हमने दस साल, तीन शहर और एक टूटे रिश्ते के बाद एक दुसरे को पाया

मैं तुम्हारे लायक नहीं हूँ

कुछ महीनों बाद, उसने मुझे फोन किया और बुरी तरह रोया। उसने कुछ अजीब ही कारणों से मुझसे माफी मांगी, उसने धीमी आवाज़ में मुझसे कहा कि वह भी मुझसे प्यार करता था, और उसने तब नहीं बताया क्योंकि उसे लगता था कि वह मेरे लायक नहीं था। बेशक मुझे झटका लगा; एक प्रमुख समात्रारपत्र का संपादक, जो मेरे लिए सम्माननीय और पूजनीय था, उसे लगता था कि वह मेरे लायक नहीं है! उसने मुझसे कहा कि उसे पैकेज मिल गया था, और वह हमेशा से मेरे साथ होना चाहता था, लेकिन बस यह देखने का इंतज़ार कर रहा था कि क्या मैं अपने फैसले पर अटल हूँ। थोड़ा धीरे से, उसने मुझसे पूछा, ‘‘क्या तुम अब भी मुझसे प्यार करती हो?’’

प्यार की कहानियां जो आपका मैं मोह ले

हमने अपने 3 साल पुराने संबंध में कई परेशानियों का सामना किया है। नहीं, हमने कभी एक दूसरे को नहीं कहा कि हम एक रिलेशनशिप में हैं, हमने कभी इसे सार्वजनिक नहीं किया, हम बस चुपचाप अपने कर्तव्यों को पूरा कर रहे थे और एक दूसरे की देखभाल कर रहे थे। यह एक बेनाम रिश्ता था, और उसने इसे इसी तरह रखने का फैसला किया, क्योंकि उसे महसूस हुआ कि कुछ चीज़ों का ना कहा जाना ही बेहतर होता है।

ये भी पढ़े: प्यार की एक दुखभरी दास्तान

उसने एक गलती की

उसने एक बार अपनी सेक्रेटरी के साथ मुझे धोखा भी दिया। वह मेरे पास आया और जो भी हुआ मुझे बता दिया। उसने क्षमा मांगी और कहा कि हमारे बीच की दूरी की वजह से यह हुआ था। मेरा दिल टूट गया था और मैं निराश हो गई थी, मैंने भूखा रह कर खुद को बिमार भी कर दिया, लेकिन फिर इस संबंध को एक और मौका देने का फैसला किया। मैंने सोचा कि मुझे अपने प्यार को एक मौका देना चाहिए।

man apologizing

उसकी सेक्रेटरी मेरे बारे में बुरा भला कहती गई, और यह साबित करने के लिए कि मैं उससे प्यार नहीं करती, उसने मेरी अनुपस्थिति का इस्तेमाल किया। लेकिन ऐसी कुछ चीज़ें हैं जिन्हें हम क्षमा कर देते हैं क्योंकि हम एक दूसरे को शब्दों से परे प्यार करते हैं। वह अपने नासाज़ स्वास्थ के बावजूद मुझसे मिलने के लिए मेरे शहर आता है। मैंने उसे उन सभी अच्छी चीज़ों के बारे में सोचकर माफ कर दिया जो उसने मेरे लिए की हैं, बजाए उसके द्वारा किए गए एक गलत काम पर फोकस करने के। अतीत में हुई एक गलती के लिए हमारे खूबसूरत संबंध को खत्म कर देना गलत होगा।

ये भी पढ़े: वो मुझसे बड़ी थी और उसके प्यार में मैं बदल गया

प्यार सरल चीज़ों में है

फिल्में और किताबें ओवररेटेड हैं। वे प्यार को किसी असाधारण चीज़ के रूप में चित्रित करते हैं। वे अक्सर अपने पाठकों और दर्शकों को यह याद दिलाना भूल जाते हैं कि यह अपने पौधे को पानी देने जितना सरल हो सकता है, क्योंकि आप नहीं चाहते कि वह मुरझा जाए, उन दिनों में भी जब आप थके हुए हों और बिस्तर से नीचे नहीं उतर सकते, या फिर खुद बिमार होते हुए भी अपने कुत्ते को डॉक्टर के पास ले जाना क्योंकि उसकी तबियत ठीक नहीं है।

प्यार उन सभी साधारण चीज़ों में है जो हम एक दूसरे के लिए करते हैं और बदले में कभी कुछ मांगते नहीं हैं।

अगर सब ठीक रहा, तो हम अगले साल तक शादी कर लेंगे। हम लगातार दो छुट्टियों पर गए हैं और हमने अद्भुत समय बिताया! हम अभी तक एक आधिकारिक डेट पर नहीं गए हैं; हमारी अब तक एक भी तस्वीर साथ में नहीं हैं। हमने कभी साथ में कोई फिल्म नहीं देखी है। हमने बहुत से पत्र और कविताएं ज़रूर लिखी हैं, अजीब सी किताबों की दुकान में मिले हैं, और एक भी शब्द कहे बिना एक दूसरे को टकटकी बांध के देखा है। हमारा प्यार का तरीका पुराना है, और हम चुप्पी में भी प्यार कर सकते हैं।

मैंने प्लेन में मिले एक लड़के से शादी कर ली

पिता की मौत के बाद जब माँ को फिर जीवनसाथी मिला

एक छोटा सा पेड और उसके नीचे वो झुर्रियों वाली प्रेम कहानी

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also enjoy:

Yes No