मैं अत्याचारी पति से अलग हो चूकी हूँ लेकिन तलाक के लिए तैयार नहीं हो पा रही हूँ

by Deepak Kashyap
close-up-of-a-woman-who-is-crying

प्रश्नः

सर,

मैं बहुत लंबे समय से बोनबोलॉजी पढ़ रही हूँ और आज मैं स्वयं ऐसी स्थिति में हूँ जो अप्रिय और मुश्किल है। पिछले 11 वर्षों से मैं एक शिक्षित व्यक्ति की पत्नी हूँ। शुरूआत से ही उसने मुझे नीचा दिखाने का प्रयास किया है। वह कभी मेरा जन्मदिन नहीं मनाता। यह एक लंबी कहानी है, मैं नहीं जानती कि इतना सब एक मेल में कैसे लिखूँ। कई समस्याओं के बाद, मैंने उससे अलग रहने का निर्णय लिया। मैंने मेरे माता-पिता और लोन की सहायता से एक नया घर खरीदा। साथ ही, मैं अच्छी आय अर्जित कर रही हूँ।

मेरी सास की एक वर्ष पहले मृत्यू हो गई और उसने मुझे सूचित करने के लिए या ‘बेसना’ (शोकसभा) में बुलाने के लिए फ़ोन भी नहीं किया। इसलिए मैं नहीं जा सकी। मुझे डर था कि बिना बुलाए जाने पर परिवार के सदस्य की मृत्यु जैसे गंभीर समय में हंगामा खड़ा हो सकता है। उसने अखबार में शोकसभा की सूचना में हमारे बेटे का नाम तक नहीं लिखा।

अब उसने कहा है कि चूंकि मैं मेरी सास की शोकसभा में नहीं गई इसलिए उसे तलाक चाहिए।

तलाक के बारे में सोच कर मुझे बहुत बुरा लग रहा है। मैं स्वयं को इसके लिए तैयार करने में असमर्थ हूँ। वह हर बात के लिए हमेशा मुझे ही दोषी ठहराता है, खास तौर पर टूटे हुए विवाह के लिए। ये निराशाजनक सवाल पूरे समय मेरे दिमाग में घूमते रहते हैं और कभी-कभी मैं व्यग्रता में आकर अपने बेटे पर हाथ उठा देती हूँ।

कृपया मेरी मदद कीजिए। मुझे क्या करना चाहिए। कृपया मेरा मार्गदर्शन कीजिए।

Hindi counselling

ये भी पढ़े: उसे आघात पहुंचा था और वह सेक्स से डरता था, लेकिन उसने ठीक होने में उसकी सहायता की

सहालकार दीपक कहते हैं:

हेलो मैडम,

हमारे जैसी संस्कृतियों में पलने-बढ़ने के कारण, कभी-कभी हम तलाक के लांछन को इस सीमा तक मन में बैठा लेते हैं कि हम सबसे दुखी और सबसे अपमानजनक रिश्तों को सहने के लिए तो तैयार रहते हैं लेकिन तलाक लेना नहीं चाहते। तलाक मुश्किल होते हैं; मैं इससे इनकार नहीं करूंगा, फिर भी, [restrict]कभी कभी वे आवश्यक होते हैं। आपके मामले में, मैं आपको बताना चाहता हूँ, कि आप भले ही जो नाम दें, आप अपने इरादों और उद्देश्यों सहित अपने पति से अलग हो चुकी हैं। जो आपने बताया उस अनुसार भावनात्मक रूप से आपका संबंध काफी समय से समाप्त हो चुका है।

ये भी पढ़े: मेरे ससुराल वालों ने मेरे पति को मेरे विरूद्ध उकसाया है, मुझे या करना चाहिए?

मैं समझ सकता हूँ कि विवाह की कानूनी स्थिति को ‘विलग’ से ‘तलाकशुदा’ में बदलना एक बड़ा कदम है, लेकिन यदि आप अपनी स्थिति और अपने संबंध की सच्चाई को स्वीकार करेंगी तो यह आसान हो सकता है। इसमें शामिल सभी लोगों के लिए यह हल करना बहुत ज़रूरी है खास तौर पर आपके बेटे के लिए। आपके जीवन के फैसलों की चोट की मार उस पर नहीं पड़नी चाहिए। यदि आप यह स्वीकार कर लें की विवाह टूट चुका है, और तलाक लेकर आगे बढ़ें तो भविष्य की उन संभावनाओं की कल्पना करें जो आप स्वयं व आपके बेटे के लिए खोल सकती हैं, इसके बावजूद, मैं सुझाव देता हूँ कि आप आपके शहर में संबंध/वैवाहिक व्यावसायिक सलाहकार से सलाह लें। ये वस्तुएं इतनी जटिल है कि एक राय के स्तंभ में पूरी तरह से इनका समाधान नहीं निकाला जा सकता।

शुभकामनाएँ
सलाहकार दीपक
[/restrict]

जब मेरा विवाह एक समलैंगिक पुरूष से हुआ

Hindi counselling

Leave a Comment

Related Articles