Hindi

मैंने अपने ब्वायफ्रैंड के साथ कामसूत्र की मुद्राएं करने का प्रयास किया और हुआ कुछ ऐसा

उसने कभी किसी चुनौती के लिए ना नहीं किया है, तो जब सेक्स में रोमांच की बात आई, तो वह तैयार थी
Couple-with-Paperbags

“कुछ नया करने की कोशिश करते हैं” पर मेरी प्रतिक्रिया हमेशा अधिकतम होती है। चाहे वह ‘‘चलो एवरेस्ट पर चढ़ते हैं” हो या ‘‘चलो कामसूत्र करते हैं” हो। और पता चलता है कि सभी चरम सीमाएं अलग नहीं होती हैं – वे सिर्फ बहुत कठिन होती हैं। संबंधित विषय: कामसूत्र।

अनभिज्ञ के लिए कामसूत्र, वात्स्यायन के एक गद्य का प्राचीन भाग है, जिसका उद्देश्य अधिक पवित्र और अनुग्रहशील जीवन के लिए मार्गदर्शन करना है। लेकिन जीवन में सभी चीज़ों की तरह सेक्स के उल्लेख (सही कहें तो यौन मुद्राओं पर 20 प्रतिशत) के कारण पॉप संस्कृति के अति कामुक व्यक्ति इसे संस्कृत सेक्स मैनुअल समझने की भूल करते हैं। इसलिए जब कोई कामुकतापूर्ण व्यक्ति अधिक संतुष्ट यौन जीवन तलाशना चाहता है, तो वह इस सेक्स मैनुअल तक जा पहुंचता है। और इस कहानी में वह कामुकतापूर्ण व्यक्ति मैं हूँ और जब मैंने अपने ब्वॉयफ्रैंड के साथ कामसूत्र की मुद्राएं की तो कुछ ऐसा हुआ।

ये भी पढ़े: 5 तरीकों से फिटनेस आपके यौन जीवन को सुधारती है

स्त्री होने का एक लाभ यह है कि जो आप बिस्तर पर चाहती हैं, वह करने के लिए आपको किसी पुरूष को मनाने की ज़रूरत नहीं है। जब स्तन बाहर आ जाते हैं, तो वे बड़े बच्चों की तरह हो जाते हैं जो दांत से काटे जाने के लिए कुछ भी करेंगे। और जिस बच्चे की बात की जा रही है अगर वह अंग्रेज़ हो, तो सभी भारतीय चीज़ें खुद-ब-खुद आकर्षक बन जाती हैं। इसलिए, स्पष्ट कहूं तो, मुझे अपने शयनकक्ष में यौन रोमांच लाने के लिए कड़ी मेहनत करने की ज़रूरत नहीं थी। लेकिन, अगर आपको करना हो, तो वात्स्यायन के ज्ञानपूर्ण शब्दों को आपका मार्गदर्शन करने दीजिए। इस किताब के साथ उनका उद्देश्य आपको एक कामुकतापूर्ण आज्ञाकारी स्त्री या यौन दमनकर्ता में बदलना नहीं था।

यह पता चलता है कि कामसूत्र बिस्तर पर महिला सशक्तिकरण के बारे में है। और, मैं कहती हूँ, “एक पुरूष को स्त्री के सभी कार्यों से समझना चाहिए कि वह किस स्वभाव की है और वह किस तरह से आनंद लेना पसंद करती है।”

बिल्कुल, हाँ! संभोग में मेरी खुशी प्राप्त करना।

स्वयं को वैदिक समय में ले जाना और किसी प्रकार की देवी जैसा महसूस करना मेरे लिए कठिन था जबकि मुझे पता था कि उनमें से किसी भी मुद्रा को करने के लिए मुझे बहुत ज़्यादा ताकत की आवश्यकता होगी। लेकिन मैंने कोशिश की, या यूं कहूं कि स्वयं में शक्ति भरी, और क्योंकि हमें अच्छी चुनौती पसंद है हमने सस्पैंडेड सिज़र्स से शुरू किया।

gill-in-bade
Image Source

‘एक उन्नत यौन मुद्रा’ के रूप में वर्णित, स्त्री बिस्तर पर लेटती है (वास्तव में मेरा सिर्फ हाथ ही बिस्तर पर था) और उसें शरीर को हवा में निलंबित रखा जाना होता है। मैं कहती हूँ रखा जाना होता है क्योंकि मैंने ऐसा सिर्फ लगभग 10 सेकंड के लिए किया। मेरे ब्वॉयफ्रैंड ने मुझे उपर पकड़ते हुए आगे बढ़कर टांगों के बीच प्रवेश करने की कोशिश की लेकिन कैंची के निर्देश को ज़्यादा देर तक बरकरार नहीं रखा जा सकता। काश मैंने जिम में पुशअप्स और साइड प्लैंक्स गंभीरता से किए होते।

ये भी पढ़े: पुरूष बताते हैं कि जब वे ही हमेशा सेक्स की शुरूआत करते हैं तो उन्हें कैसा महसूस होता है

जिम की बात करते हुए, मुझे पूरा यकीन था कि अगला कदम, दि इंडियन हैडस्टेंड भी एक कसरत बनने वाला था। लेकिन इसमें हाथ की ताकत की आवश्यकता कम होती है। यह एक खट्टा-मीठा अनुभव था क्योंकि मैं वास्तव में डॉगी स्टाइल का आनंद लेती हूँ और अगर मुझे लंबी अवधि के लिए हैडस्टेंड में ना रहना पड़े तो इसका रूपांतर बहुत ही रोमांचक हो सकता है। मैं अब भी नहीं जानती कि पीछे से आपको धक्का दिए जाने के दौरान रक्त आपके सिर की ओर बढ़ना अच्छी बात है या बुरी। आप स्वयं तय करें।

“सुपरहीरो मुद्राएं बहुत हो गईं,’’ मैंने अपने ब्वॉयफ्रैंड को कहा जब मैंने उसके लिंग और कामसूत्र के प्रति मेरे उत्साह को सिकुड़ते देखा। हमने अक्सर पोर्न में देखी गई प्रवेश की ज्ञात मुद्रा की ओर रूख कियाः दि क्लास्प। मैं झूठ नहीं कहूंगी, यह मेरे लिए अद्भुत था। मैंने अंततः अपनी स्त्री कामुकता को उड़ान भरते देखा (कामसूत्र का पहला वादा काफी पसीना बहाने का बाद पूरा हुआ)

यह कसरत के बाद मिठाई खाने जैसा हैः पूरी तरह दोष रहित।

निश्चित नहीं कि मेरे ब्वॉयफ्रैंड के लिए यह कैसा था क्योंकि वह मेरा 70 किलो का स्त्री वज़न पकड़े हुए था लेकिन जो आहें मैं सुन पा रही थी, मुझे लगता है कि उसे भी यह पसंद ही आया था।

ये भी पढ़े: मज़बूत यौन संबंध के लिए सेक्स टॉयज़ः हाँ या ना

कामसूत्र, चाहे आप इसे पसंद करें या नहीं, 20 प्रतिशत सेक्स और 80 प्रतिशत गुण है। अगर आपका स्वच्छ आहार और अनुशासित योगी शरीर नहीं है, तो ऐसा कोई रास्ता नहीं कि आपके जननांग उस तरह स्पर्श करेंगे जैसा उन्हें करना चाहिए। यह सेक्स ट्विस्टर तभी काम करता है और अपनी क्षमता को पूरा करता है जब आप पूरे पाठ का सम्मान करते हैं: जीवन के हर मार्ग पर अपने शरीर और आत्मा के प्रति विनीत रहें। वात्सयायन का रास्ता एक बेतरतीब रास्ता नहीं है, यह प्रबुद्ध रास्ता है। अगर आप कामसूत्र सेक्स फव्वारे को निगलना चाहते हैं, तो काम (सौंदर्य) जीवन जीएं

हमारे लेखकों में से एक, रामेन्द्र कुमार, को लगता है कि उन्हें उस तरह का रोमांच नहीं मिल रहा है, वहीं दूसरी, प्रिया छापेकार के पास उन लोगों के लिए सलाह है जो मसाले की तलाश में हैं। आमतौर पर, हालांकि, कोमल सोनी मानती हैं कि भारतीय समाज सेक्स के प्रति अपना नज़रिया बदल रहा है।

क्या हुआ जब उसके पति ने हमें सेक्सटिंग करते हुए पकड़ लिया

पोर्न आपके संबंध के लिए किस तरह अच्छा हो सकता है

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also enjoy:

Yes No