मज़बूत यौन संबंध के लिए सेक्स टॉयज़ः हाँ या ना

बत्तीस वषीर्य रैना पिछले पांच वर्षों से अपने बचपन के दोस्त हर्ष के साथ विवाहित है। उनके दोस्त उन्हें यह कह कर चिढ़ाते थे कि वे ‘एक-दूजे के लिए बने हैं’, वे सबसे साधारण काम भी साथ में करते थे। वह उसका व्यक्तिगत ट्रेनर था और वह उसकी स्पा चिकित्सक थी। वह खाना बनाती थी और वह सफाई करता था, वह उसे नौकरी से घर लेकर आता था और वह साप्ताहांत में उसकी पसंदीदा चोकलेट चिप कुकीज़ बनाया करती थी।

ये भी पढ़े: विवाहित लोगों द्वारा 11 कथन जो बताते हैं कि उन्होंने सेक्स करना क्यों समाप्त कर दिया

लेकिन हनीमून अवधि के रोमांच और उत्साह के फीके पड़ने के बाद, रैना को महसूस हुआ कि वह उससे दूर जा रही है -भावनात्मक रूप से भी और शारीरिक रूप से भी। उसे अचानक याद आया कि उन्होंने कई हफ्तों से रात में एक दूसरे के साथ लिपटना-चिपटना नहीं किया है या हॉट चॉकलेट के कप के लिए समीप के कैफे में नहीं गए हैं।

अक्सर वे एक ही कमरे में एक-दूसरे से बात किए बगैर घंटों तक बैठे रहते थे, भिन्न लोगों से बातें करते थे या कैंडी क्रश खेलते रहते थे। कई बार रैना को लगता था कि क्या हर्ष को कोई और मिल गया है, लेकिन वह तुरंत ही इस विचार को खारिज कर देती थी। वह जानती थी कि वे अब भी एक-दूसरे के ही थे। उन्हें बस वह जोश वापस लाना था।

अधिक निरंकुश और साहसी होने के नाते, रैना ने कमज़ोर पड़ती केमिस्ट्री पर नियंत्रण लेने का फैसला किया। उसने स्वयं से वादा किया कि वह नकली चरमोत्कर्ष का दिखावा अब और नहीं करेगी या सेक्स को एक दैनिक काम नहीं मानेगी। इसलिए एम्स्टरडैम के अपने एक व्यावसायिक दौरे पर, वह सीधे एक सेक्स टॉय की दुकान में जा पहुंची और अपने रोमांस को बचाने के लिए आवश्यक सभी चीज़ें ले ली।

ये भी पढ़े: तीन मुख्य कष्टप्रद बातें जो लोग सेक्स के बाद करते हैं

जहां रैना कल्पना की दुनिया में खोने के लिए बेहद उत्साहित थी, लेकिन वह सेक्स टॉय को सीधा बिस्तर में नहीं ले आई। उसने एक समय में एक कदम उठाया। यात्रा से घर लौटने के बाद, उसने हर्ष को एम्स्टरडैम में खिलौने की दुकान के अपने अनुभव के बारे में बताया, उसे पूरी चीज के बारे में असुरक्षित महसूस करवाए बिना। बिना उसके अहं को चोट पहुंचाए या उसे चिंतित किए बगैर मोमबत्तियों और ब्लाइंडफोल्ड से आगे का संसार दिखाया। सामान खोलने के बाद, हर्ष ने तुरंत इस विचार को खारिज कर दिया। ‘‘क्या मैं इतना बुरा हूँ कि हमें यौन सहायता की ज़रूरत है?’’ उसने एक चिंतित स्वर में पूछा। एक अच्छी पत्नी की तरह, रैना ने ज़ोर दिया कि वह इसे बिस्तर पर किसी भी अन्य यौन प्रयोग की तरह ले, किसी भी दबाव के बिना। उसने उसे आश्वस्त किया कि अगर वह सहज महसूस ना करे तो वे यह विचार पूरी तरह छोड़ सकते हैं। उसे हैरानी हुई कि उसे चरमोत्कर्ष तक पहुंचाने में हर्ष आनंद महसूस करने लगा। उन छोटी-छोटी शरारती चीज़ों ने ना केवल बिस्तर पर हर्ष का आत्मसम्मान बढ़ाया, बल्कि रोलप्ले के विचार के बारे में खुलने में भी उसकी मदद की, ऐसी चीज़ जो उसने कभी नहीं की थी।

क्या मैं इतना बुरा हूँ कि हमें यौन सहायता की ज़रूरत है
क्या मैं इतना बुरा हूँ कि हमें यौन सहायता की ज़रूरत है

पारंपरिक रूप से बिस्तर में भारतीय पुरूष हावी रहा है। सोशल मीडिया पर लाखों लेखों की बदौलत अब जाकर यह हुआ है कि स्त्री चरमोत्कर्ष के साथ सशक्त महसूस करने लगी है।

-डॉ श्याम मिथिया (एमडी, डीपीएम) मुंबई के सेवनहिल्स अस्पताल में एक प्रसिद्ध मनोचिकित्सक और सेक्सोलोजिस्ट हैं।

परंपरागत रूप से, एक सेक्स टॉय हमेशा उन स्त्रियों के लिए एक प्रेमी का विकल्प रहा है जो बिखर जाने की वजह से या फिर साथी के दूर होने की वजह से तन्हाई के दिन काट रही है। लेकिन कई लोगों को नहीं पता है कि अंतर्राष्ट्रीय बाज़ार जोड़ों पर आधारित उत्पादों से भरा पड़ा हैः छडियां जो मसाजर के साथ-साथ एक वाइब्रेटर का भी काम करती हैं, कॉक रिंग्स जो परस्पर चरमोत्कर्ष की संभावना को बढ़ा देते हैं। भारत में, 95 प्रतिशत जनसंख्या अभी भी, धार्मिक कारणों सहित कई कारणों से सेक्स टॉय का उपयोग करने में सहज नहीं है। 5 प्रतिशत वे हैं जिन्होंने विदेशों की यात्रा की है या पोर्न फिल्मों में यह सामान देखा है।


ये भी पढ़े: सहवास के दौरान लड़की ने कहा रूको, फिर लड़के ने क्या किया?

सेक्स टॉय रिश्ते को जीवित रखते हैं
सेक्स टॉय रिश्ते को जीवित रखते हैं और बिस्तर पर एकरसता को दूर करते हैं

क्या एक जोड़े को सेक्स टॉयज के साथ प्रयोग करना चाहिए? ऐसे विश्व में जहां हम लंबे काम के घंटों के बाद चरमोत्कर्ष के लिए तरसते हैं, सेक्स टॉय चमत्कार करते हैं। वे रिश्ते को जीवित रखते हैं और बिस्तर पर एकरसता को दूर करते हैं। इसके बावजूद, इन दोनों का उपयोग केवल तब ही किया जाना चाहिए जब दोनों साथी इस विचार के साथ सहज हों। जब एक साथी तैयार हो और दूसरा नहीं, तो जिस साथी को रूचि है वह बेहतर चरमोत्कर्ष प्राप्त करता है, जबकि दूसरा साथी उपेक्षित महसूस करता है। सहायक उपकरणों जैसे वैक्यूम पंप, कॉक रिंग्स और एनल बीड्स का उपयोग ठीक तरह से किया जाना चाहिए। उन्हें बहुत समय तक अंदर रखने या बाहर निकालना भूल जाने से रक्त आपूर्ति की समस्या उत्पन्न हो सकती है। सलाह दी जाती है कि शराब या नशीले पदार्थों के प्रभाव में उनका उपयोग ना करें। रैना और हर्ष ने एक सुरक्षित शब्द इस्तेमाल करने का निर्णय लिया, अगर दर्द असहनीय हो जाए तो। सेक्स टॉयज़ चरमोत्कर्ष तक पहुंचने की संभावना में नाटकीय रूप से वृद्धि करते हैं, खासतौर पर उन स्त्रियों के लिए जिन्हें चरमोत्कर्ष तक पहुंचने के लिए क्लिटोरल उत्तेजना की आवश्यकता होती है, और उन पुरूषों के लिए जो सोचते हैं कि पंद्रह मिनट बाद भी वह चरमोत्कर्ष तक क्यों नहीं पहुंची है। वे निस्संदेह आधुनिक विश्व के लिए सर्वश्रेष्ठ आविष्कारों में से एक है।

Spread the love
Tags:

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

This website uses cookies to ensure you get the best experience on our website.