मेरे पति का अफेयर चल रहा है, लेकिन मुझे अपनी बेटी के बारे में भी सोचना है

Deepak Kashyap
Woman-Thinking-about-Daughter

प्रश्न-
मैं 12 वर्षों से विवाहित हूँ ओर मेरी 6 साल की एक सुंदर सी बेटी है। हालांकि, 2012 से, मेरे पति और मेरी सहेली एक गुप्त संबंध में है। मैंने उनके मैसेज, फोन कॉल्स भी पकड़े हैं और मैं उनके एकांत में बिताए हुए समय के बारे में भी जानती हूँ। उन्होंने मेरी अनुपस्थिति में साथ में राते भी बिताई हैं। जब भी मैं अपने पति से प्रश्न करने की कोशिश करती हूँ, वह कहता है कि वे केवल अच्छे दोस्त हैं, उससे ज़्यादा कुछ भी नहीं और उनके बीच कोई शारीरिक संबंध नहीं है। यह बात हमेशा हमारे झगड़े पर आकर खत्म होती है और मेरे पति हमेशा उस स्त्री का ही पक्ष लेते हैं। मैंने उस स्त्री से भी बात करने की कोशिश की लेकिन क्योंकि वह जानती है कि मेरे पति पूरी तरह से उसका समर्थन करते हैं, उसकी तरफ से भी मैं असहाय हो जाती हूँ। मैं यह संबंध समाप्त करना नहीं चाहती, क्योंकि मुझे अपनी बेटी की भी चिंता है लेकिन साथ ही मैं अपने पति के प्रति सारा विश्वास और प्यार खो चुकी हूँ। मैंने दर्द झेला है और पिछले 5 सालों से संघर्ष कर रही हूँ। यहाँ तक कि आज भी मेरे पति उस स्त्री का साथ देते हैं। कृपया मुझे सलाह दें कि मुझे क्या करना चाहिए।

ये भी पढ़े: मेरे पति मुझे महत्त्वहीन महसूस करवाते हैं

दीपक कश्यप कहते हैं:

केवल आपकी बेटी के लिए एक असफल विवाह में दुख झेलते रहना बहुत अच्छा फैसला नहीं होगा। संभावना है कि आपकी बेटी एक प्रतिकूल माहौल में पले-बढ़े जहाँ वह अपने माता-पिता के बीच प्यार और विश्वास की कमी देखे, जिसके बारे में आप बात कर रही हैं। कभी-कभी ऐसा भी होता है कि हम विवाह तोड़ना नहीं चाहते क्योंकि हमारे सुरक्षा क्षेत्र से बाहर जाकर नए सिरे से जीवन बनाने का कार्य इस पीड़ा को सहन करने से भी ज़्यादा दर्दनाक प्रतीत होता है। इसके बावजूद, मैं समझता हूँ कि टूटे
हुए विश्वास को फिर से कायम करने में समय लगता है। तो यदि आप अपनी परिस्थिति का आकलन करने के लिए अलग रहने का प्रयास करना चाहती हैं, आपको उस पर गंभीरता से विचार करना चाहिए।

हालांकि, अगर आपको लगता है कि आप उसे माफ कर सकती हैं और पुनः भरोसा करने के लिए कार्य करना चाहती हैं, तो मैं आपको निश्चित रूप से विवाह सलाहकार की देखरेख में विश्वास कायम करने का अभ्यास करने की सलाह दूंगा। एक आदर्श विवाह और आदर्श साथी की हमारी परिभाषा कभी-कभी हमारी खुशियों के मार्ग में आ जाती हैं लेकिन कभी-कभी हमें अपमानजनक संबंधों से बचा भी लेती है। आपको आपकी प्राथमिकताएँ निर्धारित करने की और उसके अनुसार निर्णय लेने की आवश्यकता है। मैं आपके सर्वोत्तम की कामना करता हूँ।

मैं अत्याचारी पति से अलग हो चूकी हूँ लेकिन तलाक के लिए तैयार नहीं हो पा रही हूँ

यह एक परिकथा जैसा विवाह था जब तक …

You May Also Like

Leave a Comment

Login/Register

Be a part of bonobology for free and get access to marvelous stories and information.