Hindi

मेरे पति का अफेयर था लेकिन मैं इसे भूल नहीं पा रही हूँ

Woman sad because of husband's affair

यह ऐसे ही एक विषय पर एक कहानी है

यह कितने समय से चल रहा है? तुमने मुझे कहा था कि यह बस एक सामान्य दोस्ती है और मैंने तुमपर विश्वास कर लिया। मैं मूर्ख हूँ!

तुम कितनी बार उसके साथ सोए? पांच, दस…ज़्यादा? मुझे सही संख्या जाननी है!

क्या वह सेक्स में बहुत अच्छी है?

तुम दोनों मिले कहां? किसी होटल में? विवेक के घर पर? क्या तुम उसे यहां भी लाए थे? क्या तुमने हमारा बिस्तर इस्तेमाल किया था?

क्या तुम उससे प्यार करते हो? क्या वह मुझसे ज़्यादा सुंदर है?

ये भी पढ़े: शादीशुदा हूँ मगर सहारा और ख़ुशी मुझे सहकर्मी से मिलती है

तुम दोनों एक दूसरे को रोज़ कितने मैसेज करते हो? तुम किस बारे में बात करते हो?

क्या तुमने उसे यह कहा कि तुम उससे प्यार करते हो? क्या तुमने उसके साथ प्यार शब्द का प्रयोग किया!

एक साथी की यौन बेवफाई के बारे में जानने के साथ अक्सर विवाहेतर संबंध की प्रेरक, लॉजिस्टिकल और यौन, हर विवरण को जानने की एक तीव्र इच्छा भी आती है। अदला बदली की हर बारीकी को जानने की इच्छा – बातें, उपहार, अंतरंगता…..धोखा खाने वाला साथी कुछ कर नहीं सकता लेकिन विवरण जानने की मांग ज़रूर कर सकता है कि संबंध कैसे/कब/कहां शुरू हुआ। ऐसा लगता है कि धोखा खाने वाले साथी की स्वीकृति/ सुधार की प्रक्रिया के लिए होने वाली किसी भी बातचीत में यही प्रारंभिक बिंदु हो सकता है!

wife caught husband

जैसा कि मेरी सहेली एम ने मुझसे कहा था, ‘‘मुझे सब कुछ जानना था, हर छोटी चीज़ की उस लड़की ने शारीरिक और भावनात्मक रूप से उसे कहां छुआ था। मुझे जानना था कि वह उस लड़की के साथ कैसा था, उससे मिलने जाते समय वह कौन से कपड़े पहनता था, क्या उसकी आधी सफेद दाढ़ी के पीछे भी वही थी। मुझे जानना था कि क्या उसी लड़की के लिए उसने अपने सीने को शेव किया था! मुझे जानना था कि उस लड़की के बारे में सोचते समय वह क्या सोचता था! यह सब जानने की ज़रूरत असंतोषजनक थी।” उसका दर्द उसके माथे की नर्व्स में देखा जा सकता था। एक दिन या एक हफ्ते तक नहीं बल्कि महीनों तक।

ये भी पढ़े: मैंने अफेयर क्यों किया?

मनोचिकित्सक डॉ नीरू कंवर (पीएचडी मनोविज्ञान) इसके साथ 18 वर्षों से निपट रहे हैं, जो जोड़ों की पारस्परिक कठिनाइयों के मुद्दों में विशेषज्ञता रखते हैं।

मैंने उनसे पूछा कि क्या यह जानने की चाह वास्तव में आम है, और क्या इस तरह का साझाकरण रीकवरी की प्रक्रिया में मदद करता है (यह देखते हुए कि जोड़ा इस पर काम करना चाहता है)।

डॉ कंवर ने इस परेशान लेकिन अपरिहार्य इच्छा के पीछे के मनोविज्ञान की व्याख्या की।

“यह वनवे है,’’ उन्होंने कहा ‘‘कि जब वह कदम दर कदम संबंध का पता लगाता है तब धोखा खाने वाला साथी यह समझ ले कि यह कैसे हुआ। धोखा खाने वाली स्त्री के लिए यह भारी नुकसान है – सुरक्षा का नुकसान, उसके मन में पति की जो छवि थी उसका नुकसान, इस सपने का टूटना की उन दोनों के बीच कोई नहीं है। जैसा कि मेरी एक क्लाएंट ने कहा था ‘बचपन से ही मैं इस आदर्श को मानती थी कि हम दोनों पूरी तरह से एक दूसरे के होंगे….दूसरों से दूर’, वह आदर्श हमेशा के लिए जा चुका है।

“बेवफाई का पता लगने के बाद, उसे समझने की प्रक्रिया में, धोखा खाने वाले साथी को इस अपराध के बारे में बार-बार बात करने और उसकी शुरूआत, उसकी गहनता आदि को समझने की ज़रूरत महसूस हो सकती है। लेकिन यह बेहद पीड़ादायक है और इस प्रक्रिया में वह खुद को बहुत ज़्यादा और बार-बार यातना देती है।

ये भी पढ़े: एक साल हो गया है जब मैंने अपने साथी को धोखा देते हुए पकड़ा है और अब हम यहां हैं

“दूसरा कारण विश्वास के उल्लंघन से जुड़ा हुआ है। पति और पत्नी के बीच घनिष्ठता का खत्म होना है, पति दूसरी स्त्री के साथ समय और चीज़ें साझा करता रहा है और पत्नी एक बाहरी व्यक्ति रही है।”

तो पत्नी अपने पति के करीब होने की भावना को सुधारना चाहती है। और इसके लिए पति को उसे सबकुछ बताना ही होगा।”

मैंने डॉ कंवर से पूछा ‘‘क्या यह सबकुछ जानना आगे बढ़ने में मदद करता है?’’ वे इसे रिकमेंड नहीं करती। ‘‘ना सिर्फ यह धोखा खाने वाले साथी के लिए एक यातना है बल्कि अपने साथी को इतने दर्द में देखकर गलती करने वाला साथी भी रक्षात्मक मोड में आ जाता है। अधिकांश समय विवरण कुछ मदद नहीं करते।”

प्यार की कहानियां जो आपका मैं मोह ले

फिर से मेरी सहेली पर लौटते हुए, डी-डे को दो साल से ज़्यादा समय हो चुका है। वे सलाहकारों के पास गए हैं, लड़े हैं, एक दूसरे से नफरत की है लेकिन वे साथ हैं। मैंने उससे पूछा कि अगर वह अतीत में वापस जा सकती तो क्या वह कुछ अलग करती। एम स्पष्ट थी। ‘‘जितना ज़्यादा मैं पूछती थी और जितना ज़्यादा वह बताता था, मेरे दिमाग में उतने ही चित्र रिकॉर्ड होते जाते थे! अब उसकी प्रत्येक गलती के साथ एक स्थान जुड़ गया था। जिन होटलों में वह गया था मैं उनमें अब कदम भी नहीं रख पाती हूँ” उसने कहा। ‘‘मैंने उसकी वह शर्ट्स फैंक दी हैं जो उसने उस लड़की के साथ पहनी थी, लेकिन क्या मैं वे तस्वीरे मिटा सकती हूँ जिसमें उसने वे पहन रखी हैं?

ये भी पढ़े: मैं इस कम उम्र के पुरूष के प्रति आकर्षित क्यों होती हूँ जो मेरे पति के विपरीत है

जैकब्स क्रीक हमारी पसंदीदा थी, लेकिन उसने वह भी उसके साथ पी। अब हम व्हिस्की पीने लगे हैं।”

“उस समय यह जानना ज़रूरी लग रहा था। अब मैं इसे भूलना चाहती हूँ, लेकिन एक बार कोई बात जानने के बाद आप उसे भूल नहीं सकते हैं, है ना?’’

कई अकादमिक और विशेषज्ञ राय यही निष्कर्ष बताती हैं

– बेवफाई का पता लगने के कारण हुआ दर्द, धोखा खाए हुए व्यक्ति को हर जानकारी जानने के लिए गहरी खुदाई करने के लिए प्रेरित करता है

– अत्यधिक भावनात्मक माहौल की वजह से यह अनौपचारिक जानकारी स्मृति में बैठ जाती है।

– अब धोखा खाए व्यक्ति के मन में वास्तविक छवियां हैं जिसके साथ वह अफेयर को आभासी रूप से फिर से अनुभव कर सकता है।

– इसका मतलब है किसी भी तरह की क्षमा की ओर बढ़ना बहुत मुश्किल है

लेकिन जैसा कि एम ने कहा, क्या एक बार जानने के बाद हम उस चीज़ को भूल सकते हैं? माफ करना एक जटिल प्रक्रिया है।

उसके पति ने तर्क दिया, ‘‘किसी के जीवन में दूसरी औरत होना सफलता का हिस्सा है”

शादी के एक रात पहले उसने एक्स को कॉफ़ी के लिए फ़ोन किया

जब मेरी मित्र एक विवाहित पुरुष के प्यार में पड़ी

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also enjoy:

Yes No