मेरे पति मुझसे से काम करने को कहते हैं। दुर्भाग्य से, इनमें से एक भी कामुक नहीं है!

shy-woman

जब भी मैं अपनी आँखों में प्यार लिए अपने पति के पास बैठती हूँ, और उनका हाथ पकड़ने लगती हूँ जैसा कि विरासत फिल्म में अनिल कपूर ने तब्बू के साथ किया था (हमारा रिश्ता थोड़ा उल्टा है), मेरे पति कहते हैं ‘‘बेबी, ज़रा मेरा चश्मा ढूँढ दो, शायद मैंने उसे गुम कर दिया है!’’

मैं आँह भरती हूँ और उनका चश्मा ढूँढने के लिए उठ जाती हूँ। मैं पलंग के नीचे, तकिए की खोल के अंदर देखती हूँ, यह सब करते हुए मुझे मोच भी आ जाती है और फिर एक खेदहीन आवाज़ सुनाई देती है, ‘‘माफ करना बेबी, मैंने वह पहना हुआ है।”

ये भी पढ़े: संतान होने के बाद आकर्षण बरकरार रखने की कला

और जब मैं दो पल सांस लेने के लिए रूकती हूँ, तो वह कहते हैं, ‘‘बेबी, मुझे एक ग्लास पानी देना। मेरी डायबिटीज़ गड़बड़ कर रही है। मैं ग्लूकॉन डी पीना चाहता हूँ।”

बंद करो!

अंत में मैं उनके पास बैठ जाती हूँ और वह कहते हैं, ‘‘यह तबाही है, तबाही” जैसे कि कोई ज्योतिषी विनाश की भविष्यवाणी कर रहा हो! ‘‘क्या हुआ?’’ मैंने चिंतित होते हुए पूछा। या तो शेयर मार्केट में बर्बादी हुई होगी या क्रिकेट में कुछ विनाश हुआ होगा। मुझे महसूस हुआ कि मैं उनकी आवाज़ सुन रही हूँ ‘तबाही!’ वह विनाश का दिन आने ही वाला है और शायद मैं डिज़ाइनर कपड़ों में ही मर जाउंगी।

Man with his laptop
मेरे पति मुझसे से काम करने को कहते हैं।

और फिर उनकी आवाज़ आती है, जो मेरे शरीर को जला देती है, ‘‘बेबी, कुछ समय तक मेरा क्रेडिट कार्ड मत इस्तेमाल करना। बैंक के साथ मेरी कुछ समस्या चल रही है।” “हद है यार” मैंने सोचा, ‘‘मैं शायद उस बदरंग नाइटी में ही मर जाउंगी जिसे मैं फाड़ कर पोछा बनाने का सोच रही थी।”

जो कष्ट मैं तुम्हारे लिए उठाती हूँ

एक दिन रात के भोजन के लिए हमारे घर कुछ महमान आये थे। फिर मेरे पति ने शराब पीना शुरू किया और अन्य लोगों को भी पिलाई। हमारे घर में चार अटारी हैं। उनकी वजह से मुझे उन चारों अटारियों पर चढ़ना पड़ा।

“डार्लिंग, क्या तुम जापानी व्हिस्की 1921 ला सकती हो।”

“दूसरी बोतल, 1930’’

“एक और बोतल, 1940’’

हमारा नौकर उस अस्थायी जर्जर सीढी पकड़ कर खड़ा था जब मैं ‘‘ओम नमः शिवाए” कह कर उस पर चढ़ रही थी।” मुझे अपनी चरमराती बूढ़ी हड्डियों की बहुत चिंता थी। भगवान की दया से मेरी कोई हड्डी नहीं टूटी। कहने की आवश्यकता नहीं कि सबने बहुत मज़ा किया, सिवाए मेरे जो उस अस्थायी सीढ़ी पर चढ़ कर थक चुकी थी। मैंने अपनी सीढ़ियों की रीड़िंग देखने के लिए फिटबिट देखा। उसने कहा ‘20’। मैंने हांफते हुए कहा, ‘‘इसीलिए मैं इतनी थकी हुई हूँ, आमतौर पर मैं दो से ज़्यादा नहीं करती!’’

याद है मेरी माँ ने तुम्हें जो उपहार दिया था?

फिर हमारे घर अन्य महमान आए जो व्यवसायिक महमान थे।

“बेबी, मैं उन्हें पारंपरिक पंजाबी भोजन परोसना चाहता हूँ। याद हैं वो रेसिपी की किताबें जो मेरी माँ ने मरने से पहले तुम्हारे नाम कर दी थीं, क्या तुम उनमें से कुछ पका सकती हो?’’

ये भी पढ़े: ससुरालपक्ष मेरे पिता का आर्थिक उत्पीड़न कर रहे हैं

मैंने खुद से कहा, ‘‘उस नकली सोने के हार के बारे में क्या जो उन्होंने मेरे नाम किया था?’’ मैंने उसे बेचने की कोशिश की थी लेकिन सुनार ने कहा कि वह चांदी का है जिसपर सोने की परत है। मैंने अपने पति को उसके नकली होने के बारे में नहीं बताया, लेकिन मैंने उन्हें भर्राई हुई आवाज़ में बिल्कुल उपयुक्त भावना के साथ कहा (जैसे कि मैं उन आसूओं को छुपा रही हूँ जो कभी उमड़ेंगे ही नहीं) कि यह पारिवारिक विरासत है और मैं इसे मरते दम तक संभाल कर रखुंगी।

Angry woman
‘‘उस नकली सोने के हार के बारे में क्या जो उन्होंने मेरे नाम किया था?’’

मैंने रसोइये को बुलाया और कहा, ‘‘इन विधियों को पढ़ लो और ऐसा खाना बनाओ।” मैंने उसे धमकी दी कि अगर उसने ऐसा नहीं किया, तो मैं उसका वेतन काट लूंगी और उसकी पत्नी को उन चांदी की पायल के बारे में बता दूंगी जो उसने नौकरानी को दी थी। रसोइए ने बहुत बढ़िया खाना बनाया, लेकिन चूंकि वह गुजराती था इसलिए वह खाने में चीनी डालने से खुद को रोक ना सका। लेकिन मेरे पति के गोरे महमानों को वह अच्छा लगा। उन्होंने कहा कि उसका स्वाद खट्टी-मीठी सब्जियों जैसा था। मेरे पति समझ नहीं पा रहे थे कि गुस्सा करे या खुशी मनाएं, लेकिन क्योंकि उन्हें आर्डर मिल गया था इसलिए वह खुश थे। अंत भला तो सब भला!

क्या तुम वह कॉल उठा सकती हो प्लीज़?

मेरे पति के पास उन ग्राहकों के ढेर सारे फोन आते हैं जिन्हें वह समय पर डिलिवरी नहीं दे सके थे। अधिकांश समय जब वे घर पर होते हैं, तब वे मुझे फोन उठाने को और यह बोलने को कहते हैं कि, ‘‘साहब आपको बाद में फोन करेंगे, वे टॉयलेट में हैं” एक क्रोधित ग्राहक ने मुझसे कहा, ‘‘वह हमेशा टॉयलेट में क्यों रहता है? उसे लोपामाइड दे दो।” मैं खिलखिला उठी और मेरे क्रोधित और शर्मिंदा पति ने कहा, ‘‘मेरे ग्राहकों से इज़्ज़त के साथ पेश आया करो!’’ लेकिन मैंने अपने आप से कहा, ‘‘जब वह ऐसा नहीं करता तो मैं क्यों करूँ?’’

ये भी पढ़े: सेक्स ना करने के लिए पत्नियां ये 10 अद्भुत बहाने बनाती हैं

लेकिन सबसे बुरा वह कॉल था और उन्होंने कहा, ‘‘फोन उठाओ।” यह फोन उनके नाई का था।

“आप उसकी उपेक्षा क्यों रहे हैं?’’ मैंने पूछा।

“क्योंकि वह उधार मांग रहा है।”

“तुम मना क्यों नहीं कर सकते?’’

“मैं उसे दुखी करना नहीं चाहता। तुम मना कर दो!’’

“मैं मना करूँ और फिर खडूस औरत कहलाऊँ? मैं नहीं करूँगी।”

“प्लीज़” उन्होंने आग्रह किया, लेकिन फोन बजना बंद हो गया और मैं दूसरे कमरे में चली गई।

“बेबी!’’ वह बहुत ज़ोर से चिल्लाए।

ये भी पढ़े: 5 तरह से विवाह मेरी कल्पना के विपरीत निकला

मैं भागी चली आई। ‘‘क्या हुआ?’’ मैंने उनसे पूछा।

वह पलंग पर खड़े थे। उन्होंने एक कोकरोच देख लिया था।

चलो मैं उसे मार देती हूँ

मैंने कोकरोच देखा और फिर उसपर चप्पल दे मारी। मेरा निशाना बिल्कुल सही था। मैंने कोकरोच को मारा, जो पूरी तरह मरने से पहले थोड़ा कंपकपाया। मैंने मुर्दा कोकरोच को उठाया और अपने पति के चेहरे के सामने हिलाया।

वह डर कर चिल्ला उठे। उन्हें कोकरोच से डर लगता है।

“इसे फैंक दो” उन्होंने कहा “खिड़की के बाहर।”

मैंने वह किया, लेकिन उससे पहले फिर से उनके सामने उसे थोड़ा हिलाया। अंत में, मैं उनके पास बैठी और उनका हाथ पकड़ लिया। इस बार उन्होंने हाथ नहीं हटाया।

Surprised man
‘‘क्या हुआ?’’

यह बिल्कुल विरासत फिल्म जैसा था, फर्क सिर्फ इतना था कि वह तब्बू थे और मैं अनिल कपूर, लेकिन ज़ाहिर है कि मैं और अधिक विवरण नहीं देना चाहूँगी।

7 जीआईएफ जो हर सास की सलाह पर सबसे सही प्रतिक्रिया है!

भारत में वैवाहिक बलात्कार की गंभीर सच्चाई

Spread the love
Tags:

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

This website uses cookies to ensure you get the best experience on our website.