मेरी बीवी गुस्से में मुझ पर हाथ उठती है

Sad-man-covering-face-with-hands

प्रश्न:
मेरी पत्नी बहुत ही गर्म मिज़ाज़ के व्यक्तित्व की स्वामी है. जब भी हमारे बीच किसी भी बात को लेकर मतभेद होता है, वो मुझ पर हाथ उठा देती है. मैं उसके हाथ चलाने या किक करने के जवाब में कभी पलट कर उसे कोई शारीरिक नुक्सान नहीं पहुंचता,मगर उसका ये व्यवहार बिलकुल असहनीय होता जा रहा है. गुस्से में वो बहुत ही कष्टदायक बातें कह देती है. जैसे कभी कहती है, “तुमने मुझ से शादी ही क्यों की?” या फिर, “तुम मुझे किसी तरह से भी संतुष्ट नहीं कर सकते.” शुरूशुरू में न उसकी बातें इतनी कड़वी लगती थी और न वो यूँ हाँथ उठाती थी मगर अब चीज़ें बदसेबदतर होती जा रही हैं. मैं तो सोच रहा था की समय और उम्र के साथ उसमे समझदारी आएगी और वो शायद इस तरह गुस्से में हिंसा नहीं करेगी मगर अब मझे उसके बर्ताव से डर लगने लगा है. यह भी बताना चाहूंगा की बाकी समय वो अधिकतर शांत ही रहती है मगर उस शांत माहौल में मुझे यह बात उठाने की हिम्मत ही नहीं होती. किसी और से इस समस्या को साझा भी नहीं कर सकता क्योंकि मैं जानता हूँ की सब मेरी ही खिल्ली उड़ाएंगे. इसके अलावा कोई यह मान भी नहीं पायेगा की गुस्से में मेरी पत्नी का रूप किस तरह बदल जाता होगा. कृपया मेरी मदद करें और मुझे सही सलाह दें.

डॉ मनु तिवारी कहते हैं:

एक ऐसा साथी जो आपका निरंतर शारीरिक और मानसिक उत्पीड़न कर रहा हो, उसका साथ आपके लिए बहुत हानिकारक और कष्टप्रद हो सकता है.

ये भी पढ़े: क्या मुझे अपने प्रताड़ित करने वाले पति को तलाक दे देना चाहिए?

इस चक्र से निकलने का एक ही तरीका है की आप अपनी पत्नी से बात करे. हो सकता है कि बातचीत से लड़ाई हो जाये. मगर उसके गुस्से और हिंसक बर्ताव की तह तक जाना बहुत ज़रूरी है. कई कारण हो सकते हैं जिनके कारण उनका गुस्सा इस कदर बढ़ जाता है. हो सकता है उनका बचपन कष्टप्रद रहा हो, या उनका मानसिक स्वास्थ ठीक नहीं हो जिसके कारण आपकी पत्नी का व्यवहार इतना हिंसाप्रद है. खैर, कारण कुछ भी हो, आपको उनके गुस्से को सहने की और उनसे डरने की ज़रुरत नहीं है.

आपका परिवार और आपके दोस्त ही आपके सपोर्ट सिस्टम हैं और ये ज़रूरी है की आप उन्ही में से किसी से अपने दिल की बात शेयर करें. साथ ही साथ इस बात का भी ध्यान देना होगा की आप किसी को भी इतनी निजी बातें न बताएं जिससे परिवार आपकी पत्नी की तरफ आसक्त न हो जाये. परिवार से अगर अलगाव हो गया, तो उनका गुस्सा और बुरा हो जायेगा.

कृपया इस बात को गाँठ बाँध लें की गर्म मिज़ाज़ और शोषण दो बिलकुल अलग चीज़ें हैं. आप दोनों से बात किये बिना आपकी मुश्किल को हल करना मुमकिन नहीं होगा. मैं आपको यही सलाह देना चाहूंगा की आप किसी मैरिज सलाहकारसे मिलें और अपनी समस्या बेझिझक उन्हें बताएं. अगर सही लगे तो अलग अलग भी किसी कौंसलर से मिलें और अपनी व्यक्तिगत परेशानियां उनके सामने रखें. उम्मीद है आपकी समस्या का हल जल्दी ही हो जायेगा.

हमारा परिवार एक आदर्श परिवार था और फिर सेक्स, झूठ और ड्रग्स ने हमें बर्बाद कर दिया

मैं उसका गुप्त रहस्य नहीं बनना चाहती थी

Spread the love
Tags:

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

This website uses cookies to ensure you get the best experience on our website.