मुझे शादी के बाहर इतने सारे भावनात्मक संपर्कों की ज़रूरत क्यों पड़ी?

chatting-with-friends

अगर मैं अपने विवाह के बाहर भावनात्मक संपर्क प्राप्त करती हूँ तो क्या मैं भटक गई हूँ? क्या आपका साथी आपकी हर आवश्यकता पूरी कर सकता है, एक दोस्त की, एक सबसे अच्छे दोस्त की, एक डांस पार्टनर की, एक जॉगिंग पार्टनर की, चिकित्सक की, एक जीवन साथी की, एक सोलमेट की? सच कहूं तो ‘सोल मेट’ को कुछ ज़्यादा ही तवज्जो दी जाती है और एक ही व्यक्ति हर ज़रूरत पूरी नहीं कर सकता, जब तक कि आपकी शादी किसी रोबोट से ना हुई हो जो विशेष रूप से आपसे आदेश लेने के लिए रचा गया हो।

जब भी मैं किसी नए दोस्त या पुराने बिछड़े दोस्त से चैट करती हूँ, जो सभी पुरूष हैं, तब मैं अपनी भावनात्मक निष्ठा पर संदेह करने लगती हूँ।

अविश्वसनीय रूप से, मैं अपने दोस्तों से उन मामलों के बारे में बात करने लगती हूँ जिनके बारे में बात करने के लिए मेरे पति के पास समय नहीं है, या फिर वह उस स्तर पर अनुपलब्ध है। ये लोग मेरे बहुत अच्छे दोस्त हैं ओर अधिकतर ऑनलाइन रहते हैं, इसलिए मैं कोई सीमा पार नहीं करती और मैं सुरक्षित महसूस करती हूँ, क्योंकि एक भौतिक दूरी हमेशा रहती है। मुझे इतने सारे भावनात्मक सहारों की आवश्यकता क्यों होती है और क्या इन विकल्पों की तलाश मैं अकेली कर रही हूँ?

ये भी पढ़े: क्या एक भावनात्मक अफेयर ‘चीटिंग’ है?

क्या एक भावनात्मक अफेयर ‘चीटिंग’ है?
क्या एक भावनात्मक अफेयर ‘चीटिंग’ है?

बड़े होते हुए, किताबों, फिल्मों और कहानियों ने मुझे एक ही व्यक्ति को जीवनभर के लिए प्यार करने और उसके साथ खुश रहने की घुट्टी पिलाई। लेकिन मेरा भ्रमित शहरी दिमाग पहले ही मेरे साथ खेल खेल रहा था। मैं अपनी भावनाएं किसी और को बताती थी, सफर किसी और के साथ करती थी और रोमांटिक तरीके से आकर्षित किसी और ही के साथ होती थी।

90 के दशक ने हमें चैट मित्र दिए। आप उनसे ऑनलाइन मिले और उन्हें ऑनलाइन ही रखा लेकिन कभी कभार किसी से मिल लिए। और अक्सर, कई लोग उनके साथ जीवन भी बिता लेते थे।

चैट रूम चलन में थे। एक ऐसे ही रूम में मुझे एक पुरूष मिला जिसकी आवाज़ और शैली बहुत अच्छी थी और वह अपने विवाह में सुखी था। समय के साथ हम बहुत अच्छे दोस्त बन गए और मैंने उसके साथ अपने जीवन के बहुत से विवारणों को साझा करना शुरू कर दिया। जब मेरी शादी हो गई, वह प्रेम जीवन और यौन जीवन में सलाह देने वाला व्यक्ति बन गया। वह मुझे एक अन्य जीवन का सोलमेट कहता था। खतरे की झंडी दिख रही थी लेकिन मैंने उसे देखने से इनकार कर दिया।

ये भी पढ़े: 10 संकेत की आपके पति का भावनात्मक प्रेम प्रसंग चल रहा है

हमने एक फंतासी संगीत समारोह में भाग लिया और वह एक प्रेमी के रूप में मेरी कल्पना करने लगा। मैंने उसका मन नहीं रखा बल्कि अपने ही किए पर शर्मिंदा हो गई और चैट रूम से बाहर चली गई और कभी उसमें वापस नहीं गई।

उसके बाद मैं एक पुराने सहकर्मी से चैट करने लगी। वह विश्व के दूसरे सिरे पर था। हममें बहुत कुछ मिलता जुलता था और हम अतीत की बातें करने लगे। जल्द ही वह मेरा नया सहारा बन गया और मैं उसकी सलाह सुनने लगी और मेरे जीवन की अच्छाई और बुराई के संबंध में बहुत अंतरंग बातें साझा करने लगी।

क्या एक भावनात्मक अफेयर ‘चीटिंग’ है?
क्या एक भावनात्मक अफेयर ‘चीटिंग’ है?

फिर से, सच्चाई से मेरा समाना हुआ जब अचानक से उसने मुझे बताया कि मैं कितनी सेक्सी थी। वह मेरे साथ छुट्टी पर जाने के बारे में हमेशा मेरे साथ मज़ाक करता था, और मुझे जो तवज्जो मिल रही थी वह मुझे बहुत पसंद आ रही थी। मैं इसे गलत नहीं मान रही थी क्योंकि वह बहुत अच्छा दोस्त था।

इसी बीच मैंने एक चिकित्सक से मिलना शुरू कर दिया। और फिर मुझे अहसास हुआ कि मुझे बस बात करने के लिए एक व्यक्ति की तलाश है, ऐसा कोई जिसे मैं अपनी सबसे गुप्त भावनाएं भी बता सकूं। मैं मार्गदर्शन प्राप्त करने और भावनात्मक सहारे की तलाश में थी। इस समय के दौरान मुझे जीवन में कुछ विवेक प्राप्त हुआ। कुछ भी नहीं जानने से लेकर, ‘मुझे लगता है मैं इसका पता लगा लूंगी’ तक मैंने बहुत लंबा सफर तय किया है।

साथ में हमने पता लगाया कि मैं चिंता और हल्के अवसाद से ग्रस्त थी। एकीकृत टॉक एंड बॉडी उपचार के माध्यम से, उसने शरीर और दिमाग के संपर्क पर काम किया; उसने मेरा परिचय ध्वनि और श्वास के कार्य से करवाया, जिसने मुझे मेरे विचारों में नहीं बल्कि मेरे शरीर में स्वयं को सहारा देने में मदद की।

हम में से अधिकांश लोग स्वयं को अपने विचारों से जोड़ते हैं और भूल जाते हैं कि हमारा एक शरीर भी है, जो बेहद बुद्धिमान है, जिसे हम कम आंकते हैं और अनदेखा करते हैं। यह उपचार के माध्यम से था कि मैंने अपने अंदर झांका और मैंने पाया की उत्तर मेरे भीतर ही थे।

जब मेरे चिकित्सक ने एक या दो वर्ष से अधिक तक मेरा स्वयं से परिचय करवाया, तब मेरे ऑनलाइन मित्रों की भूमिका गौण हो गई और मेरा दिमाग एक साफ स्लेट जितना स्पष्ट था। मैं पूरी तरह लगावों से मुक्त थी और अब चैटिंग करने की आदी नहीं थी। मैंने खुद को स्वयं के निर्णय और फैसले लेने में सक्षम पाया।

ये भी पढ़े: जब आप विवाह में सुखी हों और किसी और से प्यार हो जाए

जब आप विवाह में सुखी हों और किसी और से प्यार हो जाए
जब आप विवाह में सुखी हों और किसी और से प्यार हो जाए

मुझे हमेशा से मेरे विचारों को व्यक्त करने में कठिनाई महसूस होती थी और वे मेरे दिमाग में ही रहते थे। मेरे उपचार ने भावनाओं को व्यक्त करने में मेरी मदद की और अब मैं चीज़ों को व्यक्त करने में ज़्यादा सक्षम थी। मेरा पति मेरी इस यात्रा में एक चट्टान की तरह मेरे साथ खड़ा था। मेरे महंगे सत्रों के लिए भुगतान करने के साथ ही, उसने कभी प्रक्रिया की आलोचना नहीं की और उसपर सवाल नहीं उठाए। इसके विपरीत, वह बहुत ही विनोदी और सहायक था। वह धीरे-धीरे मेरा सबसे अच्छा दोस्त बन गया और अब भी है।

(जैसा मालिनी मिश्रा को बताया गया)

यह गलत है, मगर मेरा सम्बन्ध मेरी भाभी से है

मैं एक विवाहित पुरूष से प्यार करती हूँ जो तीन स्त्रियों को बराबरी से चाहता है। मैं उसे प्यार करना कैसे बंद करूं?

Spread the love
Tags:

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

This website uses cookies to ensure you get the best experience on our website.