ना बेवफाई, ना घरेलू हिंसा फिर भी मैं शादी से खुश नहीं

by Anamika Kumar
getting-divorce

हमने एक साल से कम समय तक डेटिंग की और फिर शादी कर ली। हम कुछ महीनों में विवाह के दस वर्ष पूर्ण कर लेंगे। 10 वर्षों में, जहां हमने बहुत सी अच्छी और बुरी चीज़ें देखी हैं – उसकी लगभग जानलेवा दुर्घटना, मेरी सर्जरी, मेरे पिता की मुत्यु, उसके पिता का खराब स्वास्थ्य, मेरी माँ की असुरक्षा, उसकी माँ की अधिकार की भावना, काम का तनाव, नौकरी बदलना, काम के लिए उसकी यात्रा, उसका सर्वोपरी जुनून जो उसकी पूर्णकालिक नौकरी बन गया, यात्राएं, पढ़ाई।, परीक्षाएं, जीवनशैली से संबंधित रोग, तनाव जो तब आता है जब आप अन्यथा स्वस्थ होते हैं लेकिन गर्भधारण नहीं कर सकते, जीवन के सभी उतार चढ़ाव। दस वर्ष जिनके दौरान उसके सभी दोस्त मेरे दोस्त बन गए और मेरे दोस्त उसके।

हमारी जिंदगी इतनी उलझ चुकी है कि मैं कल्पना भी नहीं कर सकती कि हमें कभी अहसास क्यों नहीं हुआ कि यह सब कब बिखर गया। शायद जिस दिन मेरी नौकरी पर मुझे अच्छी खबर मिली और पहला व्यक्ति जिसे मैंने फोन किया वह मेरा पति नहीं बल्कि मेरा सबसे अच्छा दोस्त था। या शायद जब हमें अहसास हुआ कि हमने लगभग तीन वर्षों से एक साथ छुट्टी नहीं ली है। या जब जो बात उसे खाए जा रही थी उसपर मुझसे चर्चा करने की बजाए उसने अपने दोस्त को बुलाया।

हम ऐसे दो लोग हैं जो एक ही घर में अपना अलग-अलग जीवन जी रहे हैं। जब हम बाहर जाते हैं, हमारी एक अनकही समझ होती है कि हम दुनिया को दिखाते हैं कि सब ठीक है, हम अब भी वही प्यारा जोड़ा हैं जो हम कभी हुआ करते थे – वह जो दूसरों के लिए संबंध के लक्ष्य तय किया करता था।

पिछले वर्ष के दौरान, हमने कुत्ते बिल्लियों की तरह झगड़ा किया है और महीनों तक एक दूसरे से रूठे हैं ऐसी छोटी-छोटी बातों के लिए जो पहले कुछ मायने नहीं रखती थीं। हम घर से बाहर तक चले गए हैं क्योंकि दूसरा व्यक्ति समझने को तैयार ही नहीं था। हमने गुस्से में आकर वाइन के नए गिलास तोड़े हैं। हमने सब कुछ ठीक करने के लिए एक दूसरे को गले लगाया है, ताकि हम वापस वहीं लौट जाएं जहां हम थे। दुनिया को अंदाज़ा भी नहीं है कि हम दिन भर घर पर किस तरह एक-दूसरे को अनदेखा करते रहते हैं।

प्यार की कहानियां जो आपका मैं मोह ले

ये भी पढ़े: जब दुःख एक जोड़े के संपर्क और अंतरंगता को खत्म कर देता है

2016 का अंतिम दिन हमने समस्या को स्वीकार करते हुए मनाया -की हमारे बीच एक साल से ज़्यादा समय से पति-पत्नी जैसा कोई संबंध नहीं है (जैसे मेरी माँ इसे घिसे-पिटे ढंग से संदर्भित करती है)। और शायद हमें आज़माने के लिए एक विलगाव करने की ज़रूरत है। मैंने कहा मैं अलग रहने चली जाऊंगी। उसने कहा कि घर इतना बड़ा है कि हम एक दूसरे की राह में आए बगैर अलग रह सकते हैं। वह इस हफ्ते काम के लिए यात्रा कर रहा है। हमने फोन पर बात नहीं की है और ना ही मैसेज का आदान-प्रदान किया है। मैं ‘फ्लैट्स और फ्लैटमेट्स’ पर फ्लैट देख रही हूँ।

हम जून 2006 से साथ हैं। ऐसा कोई दिन नहीं गुज़रा है जब हमने बात नहीं की हो या मैसेज ना किए हों या फिर यहां वहां की बातें ना की हों। मैं कोई गीत सुनकर उसके बोल उसे मैसेज में भेजा करती थी। वह मेरी पसंदीदा कविता में से एक अनुच्छेद मुझे मैसेज किया करता था। मैं पूरा दिन (एक हफ्ता तो दूर की बात है) उससे बात किए बिना कैसे रहूंगी? यह मुझे खाए जा रहा है। मैं कैसे उसी घर में रहूंगी, हमारे घरेलू काम और खर्च साझा करते हुए भी अलग रहूंगी? हमारी चीज़ें सब जगह हैं। उसका तौलिया लापरवाही से पड़ा हुआ है। मेरा बेल्ट, उसकी किताबें। मेरे पेंटब्रश। इस समय कोई फर्क नहीं पड़ता कि हम एक ही शयनकक्ष में सोए या अलग-अलग में, क्योंकि वहां कुछ हुआ ही नहीं है। बात हाथ से निकल चुकी है।

मैंने मेरी माँ को बता दिया है। वह समझ नहीं पा रही थी कि कथित तौर पर एक-दूसरे से प्यार करने वाला जोड़ा अलग क्यों होना चाहता है।

वह बेवफाई और घरेलू हिंसा के कारण विवाह समाप्त होने को समझ सकती हैं, लेकिन विवाह में अकेले होने की इस भावना को नहीं।

उसने अभी अपने माता-पिता को नहीं बताया है। वे कुछ हफ्तों के लिए देश से बाहर हैं।

ये भी पढ़े: 30 वर्ष की उम्र में मैंने प्यार के बारे में जाना….यह ओवर रेटेड है

हम अपने दोस्तों को क्या बताएं जिन्होंने हमें एक जोड़े के रूप में नए साल की शुभकामनाएं दी हैं? हम दोनों को दिए जाने वाले भोजन के निमंत्रण पर मैं क्या प्रतिक्रिया दूँ? मैं फेसबुक पर हर अमुक व्यक्ति को क्यों बताऊं कि कैसे मेरे दिल के टुकड़े हो रहे हैं? अगर एक प्रयोगात्मक विलगाव में एक व्यक्ति वापस आना चाहे और दूसरा नहीं, तो क्या होगा? क्या हो अगर मैं हार मान लूं और उसे फोन करूं केवल यह बताने के लिए कि उसकी पसंदीदा फिल्म आज रात स्टार सिलेक्ट मूवीज़ पर दिखाई जाने वाली है? अगर हम एक जोड़े के रूप में वापस आ जाते हैं, तो क्या आने वाले कुछ महीनों या वर्षों में हमारे सामने फिर वही समस्याएं आएंगी? क्या मुझे अंततः अपने घर से बाहर निकलना होगा, वह जिसे हम दोनों ने साथ में इतने प्यार से स्थापित किया था? मैं 33 साल की हूँ और मैं अपने आप को एक छोटी बच्ची, जो अभी-अभी बिज़नेस स्कूल से आई है, के साथ फ्लैट बांटते हुए नहीं देख सकती, लेकिन मैं एक खाली फ्लैट में भी नहीं रह सकती। हम अपना सामान कैसे बांटेंगे -हमारे सोफे, हमारी किताबें, हमारे तौलिए, हमारी रजाइयां?

हमने बस इस राह पर चलना शुरू ही किया है। यह आसान नहीं है। आगे और भी कठिन दिन आने वाले हैं। मुझे बस इस सब के दौरान मज़बूत रहने की आवश्यकता है। अकेले। उसके बिना। मुझे यह करना ही होगा।

अमेरिका पहुँचते ही वो शर्मीली लड़की अब बिलकुल बदल गई

विवाहित हूँ मगर सबको बताती हूँ की मैं सिंगल हूँ

1 comment

Pramila April 23, 2018 - 6:18 pm

Nice story

Reply

Leave a Comment

Related Articles