Hindi

कैसे उसकी परफेक्ट शादी उसके “मोटापे” के तानों के नीचे दबने लगी

सबकी बातें सुन कर उसे यकीन होने लगा था की उसका बढ़ता वज़न उसके पति को दूर कर रहा है.
sad-overweight-woman

अपने वज़न को लेकर मैंकभी फिक्रमंद नहीं थी

मुझे आज भी याद है जब मेरी बेटी सत्रह साल की हुई थी, हमने एक शानदार पार्टी का आयोजन किया था. मैंने बहुत मेहनत से साड़ी यूँ पहनी की सारी चर्बी छुप जाए, फिर हल्का मेकअप किया और पार्टी के लिए मैं बिलकुल तैयार थी. “तुम्हारी माँ तो बम लग रही हैं,” बेटी के एक दोस्त ने धीरे से कहा. वैसे तो मुझे यकीन था की ये बात मेरी तारीफ़ में ही कही गई थी मगर कही ऐसा तो नहीं की बम से उसका मतलब सच में एक गोलमटोल खतरनाक बम ही हो. खैर, मैंने मन से ऐसे विचार फेंके और पार्टी में शामिल हो गई.

फोटो नहीं, प्लीज

सब कुछ बिलकुल मज़े से चल रहा था और फिर मुझे अचनाक अपने पति के साथ फोटो खींचने की बहुत लालसा हुई. बस एक नार्मल जोड़ों वाला पोज़ जिसमे एक दुसरे के कंधे पर हम दोनों के हाथ हो. उम्मीद थी की एक अच्छी सी फोटो खिचवाकर जल्दी ही फेसबुक पर अपलोड कर दूँगी. मेरे पति को मेरी फेसबुक पर अपलोड करने की आदत से बहुत चिढ़ है और मुझे फेसबुक से सच्चा वाला प्यार. तो जैसे ही हमने फोटो खींचने के लिए एक बढ़िया पोज़ बनाया,पति ने क्लिक के दबते ही कैमरे के लेंस को हाँथ से ढक दिया. बस फिर क्या था. मैं बुरी तरह से आहत हो गई और मैंने अपने पति से कहा, “अच्छा अब तुम मेरे साथ एक फोटो में नज़र भी नहीं आना चाहते.”

पति ने ऐसी कड़ी प्रतिक्रिया की उम्मीद नहीं की थी और वो बिलकुल सकपका ही गए. बड़ी मुश्किल से खुद को संभाला और बोले “बिलकुल! तुम इतनी सुन्दर लग रही हो. अगर कोई मेरी फोटो देख ले तो कहेगा,की लंगूर के मुँह में अंगूर.”

Please Register for further access. Takes just 20 seconds :)!


 

हमने दस साल, तीन शहर और एक टूटे रिश्ते के बाद एक दुसरे को पाया

क्या भारतीय अपने शरीर और सेक्स को लेकर अनजान हैं?

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also enjoy:

Yes No