Hindi

पोर्न आपके संबंध के लिए किस तरह अच्छा हो सकता है

एक चिकित्सक के तौर पर मुझसे मिलने आई पत्नियों/ गर्लफ्रेंड्स की सबसे आम शिकायत होती है कि उन्हें चिंता है कि उनका साथी पोर्न (अश्लील फिल्म) देखता है और उनके पास पूछने के लिए असंख्य प्रश्न हैं
Girl-Boy-Watching

क्या कहा?

शायद मेरा दिमाग खराब हो गया है, है ना? मैं जानती हूँ कि आपमें से अधिकांश ने मुंह बना लिया होगा और समझ लिया होगा कि यह बेहूदा लेख है लेकिन मैं यह भी जानती हूँ कि आप अत्यधिक उत्सुक भी हैं। तो क्यों ना पढ़ लिया जाए?

दंपति की चिकित्सक होने के नाते जोड़ों की अंतरंगता के मामले हर समय मेरे सामने आते हैं और सबसे आम शिकायत जो मुझे सुनने को मिलती है (विशेष रूप से उलझी हुई और क्रोधित पत्नियों और गर्लफ्रेंडस् से) वह है – ‘‘वह पोर्न देखता है” और उसके बाद पूछे जाने वाले आम प्रश्न हैं-

-क्या सभी पुरूष इस तरह अतिकामुक होते हैं?
– क्या मैं इतनी अच्छी नहीं हूँ?
– क्या वह हमारे सेक्स जीवन से संतुष्ट नहीं है जो उसे पोर्न देखने की आवश्यकता है?
– क्या इसका यह अर्थ है कि उसे दूसरी स्त्री की चाहत है?
– क्या इसका अर्थ है कि वह मुझे धोखा दे सकता है?
– क्या वह उम्मीद करता है कि मैं वही चीज़ें करूं जो वह देखता है?
– इसे स्वीकार करें, अगर आप उन स्त्रियों में से एक हैं जिन्होंने अपने ब्वायफ्रेंड/ पति को पोर्न देखते हुए पकड़ा है, इनमें से कम से कम एक प्रश्न ज़रूर आपके मन में आया होगा। तो मैंने सोचा कि अपने व्यवसायिक और शैक्षिक अनुभवों का उपयोग करते हुए इस चर्चा का हमेशा के लिए और सभी के लिए अंत करने का प्रयास करूं। पहले मैं आपको यह समझाने का प्रयास करती हूँ कि आपका साथी क्या सोचता है।

ये भी पढ़े: विवाह से बाहर किसी दोस्त में प्यार पाना

इसका आपसे कोई लेना-देना नहीं है। हाँ, यह बात हज़म करने में चाहे कितनी भी मुश्किल लगे, उसका पोर्न देखना बिल्कुल भी व्यक्तिगत नहीं है। यह आपके बारे में नहीं है। अगर उसके जीवन में आपकी जगह कोई अन्य स्त्री भी होती, तब भी उसने यह किया होता, क्योंकि यह किसी भावनात्मक या शारीरिक अंतरंगता के विषय में नहीं है। यह एक विशुद्ध और सरल मनोरंजन है, यद्यपि कामुक प्रकृति का। हम सभी, मनुष्य के तौर पर उत्तेजना, उत्साह और नवीनता की लालसा करते हैं। और वे वस्तुएं हमेशा आकर्षक लगती हैं जो वर्जित हैं, निषिद्ध हैं या बंद दरवाज़ों के पीछे छुपाई जाने योग्य हैं, और यही पोर्नाग्राफी का आकर्षण है। यदि आपको भी ऐसी सामग्री तक पहुंच प्राप्त होती, तो क्या आपको भी यह देखने की लालसा नहीं होती?

husband-watching-porn
Image Source

यह आनंद के बारे में है। पोर्नोग्राफिक वीडीयो और चित्रों के इतना आकर्षक दिखने का कारण यह है कि यह इतना आसान, प्रयोगात्मक और आनंदमय दिखता है – ठीक वैसा जैसे वास्तविक जीवन में इसे होना चाहिए लेकिन शायद ही कभी ऐसा होता है। यह आवश्यक नहीं है कि वह आप दोनों के मध्य की अंतरंगता से संतुष्ट नहीं है, लेकिन हो सकता है कि वह चाहता हो कि यह अधिक आनंदमय हो। हमेशा ज़रूरी नहीं कि ‘माहौल बनाने के लिए’ दस चरणों से गुज़रना हो या ‘‘सही समय” का इंतज़ार किया जाए”। इसे बस स्वाभाविक होना चाहिए और दोनों साथियों द्वारा समान रूप से वांछित होना चाहिए और वे वीडीयो उसे यही दिखाते हैं।

ये भी पढ़े: एक ‘हैप्पिली एवर आफ्टर’ विवाहेतर संबंध?

अंततः, वह यह आपके साथ चाहता है। यकीन मानिये, एक पुरूष अपनी जीवन साथी के साथ आनंदमय, अंतरंग, रोमांचक यौन संबंध से अधिक और कुछ नहीं चाहता। अगर वह यह पा सकता है, तो वह इसे बाहर पाने की लालसा नहीं करेगा। और केवल इसलिए कि वह दूसरी स्त्रियों को देखता है इसका अर्थ यह नहीं है कि वह यह उनके साथ करना चाहता है। किसी अच्छी दिखने वाली वस्तु को सराहनीय दृष्टि से देखने की यह केवल एक प्राकृतिक प्रवृत्ति है, आप भी ऐसा करती हैं, है ना?

couples-watching-porn
“उसकी इतनी हिम्मत” Image Source

तो, आप क्या करें कि पोर्न आपके संबंध के पक्ष में काम करें? यह केवल आपका नज़रीया बदलने के बारे में है, इतना ही। जो भी आपको बताया गया है, जो भी आप उस बारे में सोचती हैं उसे भूल जाइये और पूरी वस्तु को नए दृष्टिकोण से देखने का प्रयास कीजिए और आप देखेंगी कि यह आपके रिश्ते में कितना अंतर लाता है।

यह नज़रिये की बात है। यह पहला आधारभूत नियम है जिसे आपको याद रखने की आवश्यकता है। अधिकांश पत्नियां और गर्लफ्रेंड्स जो लंबी अवधि के संबंधों में रही हैं, अक्सर शिकायत करती हैं –

“क्या केवल यही बात मायने रखती है?’’

“क्या अंतरंगता कोई मायने नहीं रखती?’’

“उन रूमानी पलों का क्या जो हम साथ में बिताते हैं?’’

हां, वे सब उतना ही मायने रखते हैं जितना होना चाहिए, लेकिन यह भी बहुत मायने रखता है।

आपको दो बातें याद रखने की आवश्यकता है –

पहली, जैविक रूप से एक पुरूष और स्त्री की रचना पृथक की गई है और वे सेक्स को भिन्न दृष्टि से देखते हैं और

दूसरी, इसका अर्थ यह नहीं है कि वह आपको केवल एक वस्तु समझता है। पुरूषों के लिए सेक्स आपके करीब आने का, एक गहरा संपर्क महसूस करने का एक ज़रिया है। एक स्त्री के शरीर में स्वीकार किया जाना ही वह अंतिम अंतरंगता है जिसका अनुभव करने की वे इच्छा रखते हैं विशेष रूप से तब जब वे एक स्थिर, दीर्घकालिक जोड़ा रहे हों। जैसे आप एक स्त्री के रूप में आलिंगन और रोमांस की लालसा रखती हैं, वे शारीरिक अंतरंगता की लालसा रखते हैं। यह एक ही भावना की भिन्न अभिव्यक्तियां हैं, तो यह गलत कैसे हो सकती हैं?

ये भी पढ़े: मेरे प्रेमी की प्रिय पत्नी

इसे घटिया मानना बंद कर दें। अच्छा सेक्स विषयाश्रित (ऑब्जेक्टिफिकेशन) करने के बारे में नहीं है। यह एक दूसरे की अंतरंग इच्छाओं से सुर मिलाने और एक वेझिझक तरीके से आनंद का अनुभव करने के बारे में है। दुर्भाग्य से, मीडीया में जितनी भी कामुक घटनाएं प्रस्तुत की जाती हैं वे बुरी, अवांछित, और किसी ना किसी तरह आपराधिक कृत्यों से संबंधित होती है और हम उसे समान रूप से देखने लगे हैं। जहां वे सारे समाचार वास्तविक और निश्चित रूप से गलत हैं, हम कहीं ना कहीं भूल जाते हैं कि सेक्स का एक अच्छा पक्ष भी है – जो एक जोड़े को साथ लाता है; अंतरंगता को बढ़ाता है और मधुर एवं सुंदर है। यह बच्चे पैदा करने का एक साधन मात्र नहीं है। तो यदि आप स्वयं को, उसकी यौन माँगों को गंदी या घटिया मानते हुए और आपको ऑब्जेक्टिफाई करने कर ज़रिया मानता हुआ पाएं, तो स्वयं से पूछें कि क्या आप वाकई उसके बारे में सोच रही हैं या फिर आप सेक्स की उस विकृत छवि के वशीभूत हो रही हैं जो आपको प्रस्तुत की गई है और जो उसका केवल एकतरफा रूप दिखाती है?

दूसरी तरफ, पोर्न शायद एकमात्र स्थान है जहां सेक्स एक मज़ेदार कार्य प्रतीत होता है जैसा इसे होना चाहिए और शायद आपको भी इसे ऐसे ही देखना शुरू करने की आवश्यकता है।

woman-saw-husband-watching-porn
“यह हमेशा बुरा नहीं है” Image Source

हर पोर्न अत्यधिक और विकृत नहीं होता। हाँ, पोर्न के ऐसे संस्करण भी हैं जो अप्राकृतिक सेक्स और बोंडेज, एक साथ कई साथी, दर्द देकर खुशी पाना आदि प्रस्तुत करते हैं., लेकिन अगर आप अपनी पक्षतापूर्ण धारणा को एक तरफ रखें और अपना दिमाग खोलें, तो आप जानेंगी कि मुमकिन है आपका साथी मूलभूत, स्वच्छ, हेटरोसेक्सुअल पोर्न देखता हो जो वैसा ही हो जो आप पहले ही कर रहे हों।

विकृत यौन वरीयताएं आबादी के एक बहुत कम भाग से संबद्ध हैं और शायद यह आपकी उत्सुकता बढ़ा दे लेकिन हर कोई इसे नहीं करना चाहेगा। तो ऐसा महसूस नहीं करना चाहिए कि यह डरावनी या अपराधिक वस्तु है।

आत्म-छवि को बढ़ाएं। सच कहें- जब आप उसे किसी स्त्री को देखता हुआ पाती हैं तो आपके मन में पहली बात क्या आती है?

“क्या वह मुझसे ज़्यादा आकर्षक है?’’

और मनोवैज्ञानिक रूप से, आप उन स्त्रियों को और वे जो भी कर रही हों उसे तत्काल नापसंद करने लगती हैं और तत्काल उस विषय पर ध्यान देना बंद कर देती हैं। है ना? लेकिन क्या यही बात तब लागू नहीं होती जब आप मान लीजिए मिलिंद सोमन को दौड़ते हुए, या फिल्मों और म्यूज़िक वीडीयो में आकर्षक शरीर वाले पुरूषों को देखती हैं? आप उन्हें पसंद करने से स्वयं को रोक नहीं पाती, है ना? क्या आपने कभी सोचा है कि क्यों नहीं? ऐसा इसलिए है क्योंकि जब आप एक स्त्री को देखती हैं, तो आप एक तुलनात्मक और प्रतिरक्षात्मक मोड में चली जाती हैं। हम अनजाने में ही उन वस्तुओं की निंदा करने लगते हैं जिससे हम ईर्ष्या करते हैं क्योंकि उन्हें बुरा ठहराना आसान है बजाये इसके कि हम स्वीकार कर लें कि वह हमें असुरक्षित महसूस करवाती हैं। इसकी बजाये, आपको स्वयं पर और अपने शरीर के प्रति आत्मविश्वास रखने की आवश्यकता है। आप सेक्सी हैं, आप सुदंर हैं और आपको केवल यह सीखने की आवश्यकता है कि उसके सामने स्वयं को किस तरह प्रस्तुत करें और मेरा यकीन कीजिए, उसकी नज़रें केवल आपको देखेंगी।

ये भी पढ़े: आदर्श साथी किस तरह अलग हो जाते हैं

वह आपके शरीर की सभी विशिष्ट वस्तुओं के साथ आपसे प्यार करता है, और अगर आपको इस पर गर्व होगा तो वह और भी अधिक प्यार करेगा क्योंकि उस स्त्री से अधिक आकर्षक कुछ भी नहीं जो स्वयं के शरीर से प्यार करती हो।

couple_in_bed_watching_porn
‘अपने शरीर से प्यार करें क्योंकि वह भी करता है’ Image Source

भले ही धीरे-धीरे शुरू करें लेकिन शुरू करें। अगर आप देखना चाहती हैं कि पोर्न की कामुकता आपके रिश्ते में क्या चमत्कार डाल सकती है, बस अपनी आँखें बंद कर लीजिए (या उन्हें खोल लीजिए!), अपना मस्तिष्क खोल लीजिए और डुबकी मार ही लीजिए। आपको हार्डकोर वस्तुओं के साथ शुरू करने की आवश्यकता नहीं है। एक कामुक फिल्म लगा लें और उसके साथ उसे देखें। जब स्थिति उत्तेजक होने लगे, तो नज़रे हटाएं नहीं और दूर जाने की आवश्यकता महसूस ना करें (यह होगा और कोई बात नहीं – यह बरसों तक ऐसा सिखाए जाने का परिणाम है कि कामुक वस्तुएं लज्जाजनक होती हैं -आप इस अड़चन को पीछे छोड़ सकते हैं); अगर वह आपके पास आना चाहता है तो उसे आने दीजिए और एक बार के लिए, अपनी दीवारों को तोड़ दीजिए और संकोच करना बंद कर दीजिए। अधिक से अधिक बुरा क्या हो सकता है? आपको यह पसंद नहीं आएगा? देखिए जब तक आप कर के नहीं देखेंगी आपको पता नहीं चलेगा। लेकिन मन में यह अनुमान लेकर मत करना कि आपको पसंद नहीं आएगा। यह सोचिए ‘‘देखते हैं, यह कहाँ पहुँचता है” बस इतना ही।

couple-watch-porn-together
‘धीरे-धीरे शुरू कीजिए और देखिए यह कहाँ पहुँचता है!’ Image Source

दूसरे लोगों को सेक्स करते हुए देखने का विचार डरावना या दृश्यरतिक प्रतीत हो सकता है, लेकिन जोड़ों के लिए, विशेष रूप से लंबे समय से साथ रहे जोड़ों के लिए, कभी-कभी यह सशक्त अनुस्मारक के रूप में काम कर सकता है कि लोग वास्तव में इसका ही आनंद लेते हैं – वैसे ही जैसे अपने संबंध के प्रारंभिक चरणों में आपने किया था। उस समय, हमेशा स्पर्श करने की इच्छा या फिर यौन क्रिया के लिए एकांत पाने का अवसर ढूँढना घटिया नहीं लगता था, तो फिर यह घृणास्पद कैसे बन गया? और क्यों? क्योंकि आप जीवन में फंस गए और अचानक आपको लगने लगा कि आपके पास अधिक महत्त्वपूर्ण काम भी हैं क्योंकि सेक्स एक रोजमर्रा का काम बन गया? लेकिन जानते हैं क्या? अंतरंगता सबसे महत्त्वपूर्ण और पहली प्राथमिकता होनी चाहिए क्योंकि वही सब चीज़ों को बांधे रखती है और अगर आपको अपने जीवन में सेक्स और अंतरंगता वापस लाने के लिए दूसरों को अंतरंग होते हुए देखने की आवश्यकता है, तो क्यों नहीं?

यह लेख सबसे पहले hopenetwork.in पर प्रकाशित किया गया था।

क्या होता है जब एक शादीशुदा स्त्री को अपने बॉस से प्यार हो जाता है?

क्यों बंगाल में नवविवाहित जोड़े अपनी पहली रात साथ में नहीं बिता सकते

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also enjoy:

Yes No