सहवास के दौरान लड़की ने कहा रूको, फिर लड़के ने क्या किया?

romantic kiss

हम एक गद्दे पर साथ में लेटे थे। वह मेरे बालों में अपने हाथ घुमा रही थी और मेरे हाथ उसके टी-शर्ट में थे। जब हम अक्रामक तरीके से प्यार कर रहे थे तब मैं उसके शरीर को महसूस कर रहा था। घीरे-धीरे हमने एक-दूसरे के कान पर काटना शुरू किया और मैंने अपना हाथ उसकी पैंटी में डाल दिया। वह भीनी थी। और फिर वह खड़ी हो गई और मुझसे रूकने को कहा। हम कुछ ज़्यादा ही जल्दबाज़ी कर रहे हैं, उसने कहा। उसके बाद हमने थोड़े चुंबनों का आदान प्रदान किया लेकिन संभोग नहीं किया। मैंने उसे मुख्य रोड़ पर छोड़ दिया और जब वह ऑटोरिक्शा में बैठ गई तब उसे गुडबाय कह दिया। उसके ना कहने पर मैंने यही किया।

ये भी पढ़े: क्वोरा पर 10 मूर्खतापूर्ण प्रश्न जिसे देखकर आप कहेंगे, ‘‘वाकई?!’’

तय करने का अधिकार उसका है

एक स्त्री को हमेशा अपनी इच्छा प्रकट करने का अधिकार है। जब वह एक आदमी के साथ सोने से मना करती है, वह तुरंत इसे अपने अहं पर झटका समझ लेता है और उसे प्रभावित करने पर अधिक ध्यान केंद्रित करता है।

understand your body

अगर वह आपके साथ नहीं सोने का मन पहले ही बना चुकी है तो चाहे फोरप्ले की मात्रा कितनी भी हो, वह आपके साथ संभोग नहीं करेगी।

वह अपने मासिक धर्म में हो सकती है। पिछली बार जब उसने वन नाइट स्टैंड किया था तब वह बहुत तुच्छ महसूस कर रही थी। वह केवल तभी संभोग करती है जब वह किसी संबंध में है। शायद वह आप पर इतना भरोसा नहीं करती कि आपके लिए अपने पैर खोले। महत्त्वपूर्ण यह नहीं है कि वह मना क्यों करती है, बल्कि यह कि उसकी ना को स्वीकृत और सम्मानित किया जाना चाहिए।


अगर एक स्त्री ने आपके साथ सोने का मन बना लिया है, वह आपको बताएगी। या तो गतिविधियों द्वारा या बोल कर आपको बताएगी। सिर्फ इसलिए कि आप दोनों बंद दरवाज़ों वाले अंधेरे कमरे में एक फिल्म देख रहे हैं, इसका मतलब यह नहीं है कि वह यह चाहती है। यह कल्पना कर लेना कि एक स्त्री क्या चाहती है, उसे कोमलता से नियंत्रित करने की कोशिश है। देखभाल करने वाले पुरूष ऐसा नहीं करते हैं। अगर वह सच में यह चाहती है, तो यह होगा। तब आपको इस बारे में सोचने की आवश्यकता नहीं कि आप जानते हैं वह क्या चाहती है।

ये भी पढ़े: 5 तरह से विवाह मेरी कल्पना के विपरीत निकला

जो समय मैंने स्त्रियों के साथ बिताया है, उससे मुझे समझ में आ गया कि वे पुरूष में एक देखभाल की प्रकृति चाहती हैं। मैं एक स्त्री को जगह देकर और उसके और हमारे संबंध के लिए गए उसके निर्णयों पर भरोसा कर के अपनी परवाह दर्शाता हूँ।

रिश्ते बनाना मुश्किल है, उन्हें बनाए रखना और भी मुश्किल

विकृत ना बनें

ऐसे कुछ पुरूष हैं जो एक स्त्री के ना कहने पर बुरा महसूस करते हैं। उनमें से कुछ तेजाब फेंकते हैं। कुछ लड़की को मार डालते हैं। अन्य लोग लड़की का पीछा करते हैं और विकृत एकतरीफा प्रेमी बन जाते हैं।

ये सभी व्यवहार बहुत गहरी जड़ों वाली मनोवैज्ञानिक असुरक्षाओं से और एक स्त्री की इच्छाओं और निर्णयों पर स्वामित्व की भावना से आते हैं।


अगर वह इतनी परिपक्व है कि आपके साथ सेक्स कर सके, तो स्पष्ट रूप से वह इतनी समझदार है कि वह आपको बता सके कि वह वह कब करेगी और कब नहीं। जिस पितृसत्तात्मक विश्व में हम रहते हैं, पुरूष उन लड़कियों का पीछा करने के लिए उत्साहित होते हैं जो उन्हें ना कहती है। अगर वह ना कहे, तो बस इतना ही। कहानी का अंत। उसे अकेला छोड़ दो। उसे आप इतने आकर्षक नहीं लगते हैं और उसे मनाने की कोशिश करने का और यह दिखाने का कि आप कितने मूल्यवान है, कोई औचित्य नहीं है। ऐसे किसी को ढूंढे जो आपको स्वीकार करे और प्रेम करे और उन स्त्रियों के जीवन में परेशानी उत्पन्न ना करें जो पहले ही आपको ना कह चुकी हैं।

ये भी पढ़े: मैं अपनी पत्नी से प्रेम करता हूँ क्योंकि वह भिन्न है

सेक्स का अर्थ है कोई स्वार्थ नहीं

मेरे दोस्त का एक रूम मेट था जिसने एक लड़की से सिर्फ इसलिए बात करना बंद कर दिया क्योंकि उनके पहले चुंबन के बाद लड़की ने उसके साथ सोने से मना कर दिया था। सेक्स करने के उसके स्वार्थ और लड़की के फैसले के प्रति उसकी असंवेदनशीलता ने मुझे सोच में डाल दिया। अगर आप सेक्स करना चाहते हैं तो अपने साथी के साथ एक ही राह पर होना बहुत महत्त्वपूर्ण है, मैंने उसे बताया। मैं अपने जीवन में यही मानता हूँ और इसका पालन करता हूँ।

जब उस लड़की ने इनकार किया, तो मुझे थोड़ा बुरा लगा। उस यौन संबंध का क्या अर्थ जो संभोग तक नहीं पहुंचा? उस समय उसके निर्णय का साथ देना ही एकमात्र उचित बात थी। शारीरिक अंतरंगता साझा करने के लिए होती है ना कि जबरदस्ती करने के लिए। यह एक ऐसा उपहार है जो हम अन्य मनुष्यों को देते हैं जो खुशी से इसे स्वीकार करने को तैयार हैं। उसके जाने के बाद, मैं चाय-सुट्टे में अपनी इच्छाओं को दफ्न करने चला गया। जीवन अन्य लोगों को जगह देने के बारे में है और यह तभी होगा जब हम उन्हें यह बताना बंद कर दें कि उन्हें क्या करना चाहिए।

उसने ना कहा और मैंने इसे स्वीकार किया।

जब मेरी पत्नी ने मुझे धोखा दिया, मैंने ज़्यादा प्यार जताने का फैसला किया

आप यह जानकर हैरान रह जाएंगे कि पिंकी दो साल के लिए गायब क्यों हो गई थी

जब एक गृहणी निकली प्यार की तलाश में

Spread the love
Tags:

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

This website uses cookies to ensure you get the best experience on our website.