तलाक मेरी मर्ज़ी नहीं, मजबूरी थी

(जैसा यास्मीन को बताया गया) (पहचान छुपाने के लिए नाम बदले गए हैं) वो एक “परफेक्ट” दम्पति थे हमारी शादी आज से पंद्रह साल पहले हुई थी. हम दोनों की यूँ तो अरेंज्ड मैरिज थी मगर हमारे विचार, परिवार, परवरिश बहुत ही एक जैसी थी. तो जब हम दोनों विवाह के बंधन में बंधे तो … Continue reading तलाक मेरी मर्ज़ी नहीं, मजबूरी थी