Hindi

जब प्रेमिका ने शादी से पहले सम्बन्ध को मना किया तो मैं बहक गया

वह शादी से पहले यौन सम्बन्ध को तैयार नहीं थी तो प्रेमी ने दोस्त की पत्नी से सम्बन्ध बनाये.
cheating-husband

(पात्रों के नाम उनकी पहचान छुपाने के लिए बदले गए हैं)

ये भी पढ़े: एक्स्ट्रामैरिटल अफेयर के शुरू और खत्म होने का रहस्य

प्रेम विस्तृत होता है, सीमाओं से कहीं परे. मगर हमने उसमे सीमाएं और दायरे लगा दिए है. ख़ास कर यौन सम्बन्धी दायरे. सेक्स हमारे समाज में एक शारीरिक सम्बन्ध से कहीं ऊपर है. यूं तो कई क्रांतिकारी विचारधाराएं है जो हमारे समाज में दिखती है जैसे लिव-इन सम्बन्ध, बहुविवाह (पॉलीगामी) मगर फिर भी दो प्यार करने वाले लोग अक्सर सेक्सुअल वफादारी को बहुत तवज्जो देते हैं. तो अगर किसी रिश्ते में प्यार तो हो मगर कोई शारीरिक संतुष्टि न हो, तो वो दम्पति क्या करे? यहाँ तक की सुप्रीम कोर्ट ने भी यह कहा है की अगर पति या पत्नी अपने साथी से शारीरिक तौर पर संतुष्ट नहीं है और उसकी शिकायत का कोई ठोस कारण प्रमाणित होता है, तो उन्हें तलाक़ का पूरा हक़ है. यहाँ तक की शादी के झूठे वादे करके किसी से शारीरिक सम्बन्ध बनाना अपने आप में एक अपराध है, बलात्कार जितना ही संगीन अपराध.
[restrict]
अच्छी लगी_ हमारे पास ऐसी हिंदी कहानियों का भण्डार है. पढ़िए और साझा करिये

अपने पति या पत्नी की सेक्सुअल उमीदें पूरी करना ही एक बहुत पेचीदा काम है और अगर बात शादी से पहले होने वाली शारीरिक उम्मीदों की हो तो फिर सब कुछ और उलझ जाता है. मान लो अगर शादी के पहले एक साथी सेक्स के लिए तैयार नहीं है, तो क्या उसके साथी को कहीं बाहर अपनी इच्छाएं पूरी करने का हक़ है? और देखा जाए तो कब प्यार काफी नहीं होता एक युगल दम्पति के लिए, जो अभी शादी के बंधन में नहीं बंधे मगर प्यार में हैं. यह और ऐसे कई सवाल मेरे मन में आये जब मैंने पहली बार यह कहानी सुनी. और जब मैं अपने बचपन के शहर कोलकाता गयी तो बहुत सारे जवाबों से रूबरू होने का भी मौका मिला.

ये भी पढ़े: मेरे पति का अफेयर है, लेकिन मुझे बेटी के बारे में भी सोचना है

शादी अभी नहीं, मगर सेक्स?

अमन ने यह सवाल कई बार खुद से पुछा था. उसका अफेयर पिछले तीन सालों से चल रहा था. दोनों एक दुसरे को प्यार भी करते थे और शारीरिक समिपियाँ भी थी. सब कुछ सही था और फिर एक दिन उसने पूछ लिया, “आगे का क्या सोचा है?” अमन शादी के लिए बिलकुल तैयार नहीं था मगर उसकी प्रेमिका के ऊपर उसके परिवार का काफी दबाव था. ऐसा नहीं था की अमन शादी नहीं करना चाहता था, बस उसे समय चाहिए था. “मेरा परिवार इतना संपन्न नहीं की मेरी शादी करवा सके. किसी दूसरी जाती की लड़की से शादी करना चाहता हूँ, तो पहले मुझे अपने पैरों पर सशक्त खड़ा होना होगा,” यह अमन की सोच थी.

couple-talking-seriously-in-room
Image Source

अंततः उनका सम्बन्ध टूट गया मगर उसके बाद के कई महीने अमन की ज़िन्दगी के सबसे मुश्किल महीने थे. सम्बन्ध टूटने के कुछ ही महीनो में अमन को साफ़ समझ आने लगा था की उस लड़की के बिना उसका जीना बहुत मुश्किल होगा. वह बहुत विचलित था और फिर वो एक दिन उसके पास वापस गया और उसकी सारी शर्तें मान ली और दोनों फिर साथ हो गए.

ये भी पढ़े: जब पत्नी के एक फ़ोन ने मुझे अपनी हरकतों पर शर्मिंदा किया

मगर अब एक अंतर था. अमन की प्रेमिका ने शर्त रख दी थी की शादी के पहले कोई शारीरिक सम्बन्ध नहीं होंगे. अमन की सोच में ज़्यादा अंतर नहीं आया था और जब भी उसकी प्रेमिका शादी की बाद छेड़ती, वह किसी न किसी तरह उसे टाल देता था. सब कुछ ठीक ही चल रहा था सिवाय उस “शारीरिक सम्बन्ध के रूल” के. “जब शुरू में उसने यह शर्त रखी थी तो मैंने उसे ज़्यादा तवज्जो नहीं दी थी. मुझे लगा था कि धीरे धीरे चीज़ें ठीक हो ही जाएँगी. मगर जब हम एक ही घर में रहने लगे और वह अपनी शर्त से टस से मस नहीं हुई, तब मैं बहुत व्याकुल हो गया. धीरे धीरे मैं पूरे दिन यही सोच कर दुखी रहता था की मेरी ज़िन्दगी में एक बहुत बड़ी कमी है.”

दोस्तों की सीख ने बदले मिजाज़

अमन की हर समय की शिकायत से तंग आ कर उसके दोस्त अब उसे उकसाने लगे.

“तू उससे शादी करना चाहता है?”

“हाँ.”

“तो फिर तू आगे बढ़ और कर जो…”

“मगर यह गलत तो..”

“बिलकुल गलत नहीं होगा. तुझे सेक्स से वंचित रखा जा रहा है और यह तेरा पूरा हक़ है कि तू अपने रिश्ते के बाहर वह ढूंढे, तो तुझे तेरा रिश्ता देने में असमर्थ है. इसमें कुछ गलत नहीं है.

ये भी पढ़े: मेरे सम्बन्ध मुझसे अधेड़ विवाहित महिला से है, मगर क्या यह प्यार है?

अमन को बात काफी सटीक लगी. और तक़दीर ने कुछ ऐसे खेल खेले की सब कुछ अपने आप होता चला गया. “यह सब तब शुरू हुआ जब मेरे दोस्त की पत्नी ने एक रात दरवाज़ा खटखटाया और हमारी पार्टी में शामिल हो गई. दोस्त शहर के बाहर गया था और उसका ही घर हम अपनी पार्टी का अड्डा हुआ करता था. उस रात पार्टी के बाद धीरे धीरे सभी दोस्त चले गए मगर मैं रुका रहा. उस रात से ही हमारा सिलसिला शुरू हो गया. मेरी उसके पति से गहरी दोस्ती तो नहीं थी मगर मुझे डर था की कहीं यह राज़ खुल न जाए. यह भी डर था की कहीं मेरी प्रेमिका को इसकी भनक न लग जाए. आखिर उसका उठना बैठना भी तो था मेरे दोस्तों में. खैर हमारा यह सम्बन्ध कुछ महीनों तक चला.”

marriage
Image Source

ये भी पढ़े: मेरे पति का अफेयर है, लेकिन मुझे बेटी के बारे में भी सोचना है

और उनकी शादी हो गयी

एक साल पहले अमन और उसकी प्रेयसी विवाह के बंधन में बंध गए. बहुत ही साधारण सी दिखने वाली शादी थी वो मगर किस किताब में लिखा है की परीकथाओं सी शादी हमेशा चमचमाती आलिशान ही होनी चाहिए. आज उनके विवाहित जीवन में बेसुमार प्यार, और उम्मीद है, की बेशुमार शारीरिक आत्मीयता भी होगी. उस सम्बन्ध का क्या हुआ जो आपके और आपके मित्र की पत्नी के बीच थे?” मैंने अमन से पुछा. “उसके पति को कुछ शक होने लगा और सच कहूँ तो मुझे भी महसूस होने लगा कि मैं एक खतरनाक दलदल में खुद को झोंक रहा था. और घर के हालात भी सुधर ही रहे थे तो मैंने सही समय देख कर शादी का फैसला ले लिया,” अमन ने कहा.

मैंने थोड़ा झिझकते हुए उससे पुछा, “क्या तुम्हे नहीं लगता कि तुम्हारी पत्नी को तुम्हारा यह अतीत जानने का हक़ है?” डर था कि यह सवाल सुन कर शायद अमन इंटरव्यू छोड़ कर उठ जाए, मगर उसने कहा, ” सच कहूँ तो मुझे अपराधबोध नहीं महसूस होता. मैं एक ऐसी परिस्तिथि में था कि मुझे अपनी कुछ ज़रूरतें पूरी करने के लिए ऐसे कदम उठाने पड़े. और अब वो सब बहुत पीछे छुड़ गया है और मुझे कोई ज़रुरत महसूस नहीं होती गड़े मुर्दे उखाड़ने की. अब मेरी पूरी कोशिश है की मैं अपना भविष्य बेहतर करूँ और एक अच्छा पति और पिता बनने का प्रयास करूँ”.

तभी उस भावी पिता के मोबाइल की घंटी बजी. एक बहुत खुश बीवी अपने पति से उसके आने का समय पूछ रही थी.

मैं चुपचाप कैफ़े से बाहर निकल गयी.
[/restrict]

जब एक गृहणी निकली प्यार की तलाश में

जब पत्नी के एक फ़ोन ने मुझे अपनी हरकतों पर शर्मिंदा किया

  • Facebook Comments

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    You may also enjoy: