तुम्हीं मुझे सबसे ज़्यादा परिभाषित करती होः द्रौपदी के लिए कर्ण का प्रेम पत्र

यज्ञसेनी, एक पत्र जो मैं तुम्हें कभी नहीं भेजूंगा। लेकिन फिर भी यह मानना पसंद करूंगा कि तुम्हें इसके बारे में पता है। उस दिन जब एक सोशल नेटवर्किंग साइट ने मुझसे मेरा ‘रिलेशनशिप स्टेटस’ चुनने के लिए कहा तो मैं अचंभित रह गया। वह कौन सा संबंध है जो मुझे परिभाषित करता है, मेरी … Continue reading तुम्हीं मुझे सबसे ज़्यादा परिभाषित करती होः द्रौपदी के लिए कर्ण का प्रेम पत्र