उसके क्रश ने किसी और को चुना, और उसने नई सेक्सुआलिटी को जाना

White Sparrow
A loser man

1998 में यह ठंडी सर्दियों की दोपहर थी – जब चीजें अलग थीं और कुछ-कुछ होता है को एक बड़ी फिल्म माना जाता था। मैं अपनी आठवीं कक्षा में था और मेरी दादी के जाने के बाद अभी-अभी मुझे अपना खुद का कमरा मिला था। कुछ ज़्यादा ही खुश लग रहा है ना? देखिए, 23 सदस्यों के संयुक्त परिवार में, अपना कमरा प्राप्त करना मेरे माता-पिता के कमरे के कोने में मेरे छोटे बिस्तर में गुप्त रूप से मास्टरबेट करने से एक बड़ी छलांग थी।

मेरा क्रश

मैं ऑस्कर वाइल्ड और कोक से घिरा अपनी दुनिया में बढ़ा हो रहा था और रिजेक्शन और दिल टूटने के बारे में बेकार कविता लिखा करता था। मुझे इस लड़की पर बड़ा क्रश था। (और अभी भी है)। मैं यह भी गिना करता था कि वह एक दिन में मुझे लगभग कितनी बार देखती है।

ये भी पढ़े: जब मुझे पता चला मेरी पत्नी लेस्बियन है

वह लड़का जो मेरा प्रतिद्वंद्वी था

फिर एक लड़का भी था। मेरी तुलना में बहुत बेहतर दिखता था (या मेरे जितना ही अच्छा दिखता था, कोई प्रतिस्पर्धा नहीं) और अधिक आत्मविश्वासी था। वाह, जिस तरह से वह बात करता था! मैं अब उससे कहीं बेहतर बात करता हूँ (वह बेवकूफ आईटी इंजीनियर है जो एक एमएनसी के लिए काम कर रहा है, दुनिया भर की यात्रा कर रहा है … जबकि मैं अभी भी एक हारा हुआ बकवास व्यक्ति, जो बेहतर अंग्रेजी बोलता है और साहित्य पढ़ता है) … लेकिन यह तब की बात थी। 1998 का सुनहरा समय!

ये भी पढ़े: माँ ने समलैंगिक बेटे को अपना लिया लेकिन पिता ने नहीं

तो, जो होना लिखा था…वह हो गया था। वे दोनों एक कपल बन गए और मेरा दिल टूट गया, जिस पर किसी ने ध्यान नहीं दिया। अलग कमरा काम करता था, क्योंकि अब किसी के द्वारा ताक-झाँक किए बिना मैं अपने दुखों को छिपा सकता था। मैं छत को घूरा करता था और सोचता था कि अगर मैं एक लड़की होता तो यह बेहतर होता।

अगर मैं एक लड़की होता तो?

मुझमें यह अजीब फीलिंग आने लगी। मेरे रोंगटे खड़े हो जाते थे क्योंकि मैंने कल्पना करना शुरू कर दिया कि अगर मैं एक लड़की होता तो चीजें कैसे होती। मैंने कुछ नाम लिखे। लड़कियों जैसी आवाजें निकाली और हँसा।

फिर यह हुआ। स्कूल के बाथरूम में उस ठंडी सर्दी की दोपहर में। मैंने एक सीनियर को थोड़ा विचित्र रूप से खुद को घूरते हुए देखा। मैंने सोचा कि वह क्लास में वापस जाने के इरादे के बिना, बस इधर-उधर घूम रहा था।

इस लड़के ने अपना कदम बढ़ाया

इसलिए, जैसे ही मैं बाहर निकलने की कोशिश कर रहा था, उसने मुझे बाँह से पकड़ लिया। बाकी इतिहास है। हालांकि दस्तावेजी इतिहास नहीं है… शुक्र है 😉

उसने कहा कि मेरे होंठ, आंखें और पैर सेक्सी हैं। तब तक की सबसे अच्छी तारीफ! स्कूल निबंध प्रतियोगिता जीतने से काफी बेहतर। इसके बारे में कौन परवाह करता है? मेरी ड्रीम गर्ल को उससे कोई फर्क नहीं पड़ा था! उसने और हैंडसम लड़के ने मुझे नजरअंदाज कर दिया था, मुझे अवांछित महसूस कराया था और भले ही मुझमें दोनों के लिए फीलिंग्स थीं, फिर भी वे एक-दूसरे के साथ प्यार में पड़ गए। लेकिन उस सीनियर लड़के के साथ पहली बार मुझे वांछित महसूस हुआ।

ये भी पढ़े: मेरे माता-पिता ने मेरे समलैंगिक भाई को मरने के लिए मज़बूर कर दिया

ये भी पढ़े: तलाकशुदा माताओं के लिए वित्तीय सहायता

तो, मैं इसके बजाय एक लड़की बन गया। मैंने बंद दरवाजों के पीछे और गुप्त बैठकों के दौरान एक लड़की की तरह अभिनय करना और बात करना शुरू कर दिया। मैंने उससे छोटी अंधेरी जगहों पर मिलना शुरू कर दिया और वह मजबूत, मर्दाना, बदसूरत और लंबा था – मेरा सबसे वांछनीय कॉम्बो। वह मुझे तवज्जो देता था और फिर मुझे कभी बदसूरत महसूस नहीं हुआ।

बात कुछ महीनों तक चली। फिर कुछ और हुआ। लेकिन यह जानने के लिए, आपको व्हाइट स्पैरो की कहानी पढ़ना जारी रखना होगा। (जल्द ही इस जगह पर आ रहा है …)

7 बॉलिवुड फिल्में जिन्होंने एलजीबीटी समुदाय को संवेदनशील रूप से चित्रित किया है

आज की द्रौपदी… जिसने दो पुरुषों को एक साथ प्यार किया!

शादीशुदा हूँ मगर सहारा और ख़ुशी मुझे सहकर्मी से मिलती है

You May Also Like

Leave a Comment

Login/Register

Be a part of bonobology for free and get access to marvelous stories and information.