उसने मुझे धोखा दिया लेकिन चाहता है कि मैं उसे वापस अपना लूँ

A-couple-with-relationship-problems-at-coffee-shop

(जैसा दुआ प्रयाग को बताया गया)

वह हमेशा मुझे एयरपोर्ट और रेलवे स्टेशनों पर लेने आया करता था। नहीं, मैं कभी नहीं चाहती थी कि वह मेरे बैग उठाए। मेरे सूटकेसों में पहिए थे, मैं उन्हें खींच सकती थी। मैंने महसूस नहीं किया कि वह मेरी जैसी सशक्त आत्मनिर्भर स्त्री से असहज होने लगा था। जब मैंने उसे मुझे धोखा देते हुए पकड़ा तभी मुझे पता चला कि उसमें क्या कमी थी। उसे काजल वाली आखें, साड़ी में लिपटी मोहिनी पसंद थी।

ये भी पढ़े: मैंने अपनी पत्नी को तलाक दे दिया, लेकिन मेरी गर्लफ्रेंड अपने पति को तलाक नहीं देगी

दो वर्ष हो चुके हैं, फिर भी जब हर बार मैं एक ट्रिप से लौटती हूँ, मैं अपने जीवन के नायक, जो पहले खलनायक था, के हॉलीवुड जैसी शैली में प्रवेश करने की कल्पना करती हूँ, स्टेशन पर गुलाब और क्षमा के साथ इंतज़ार करते हुए।

उसकी ओर से

वास्तविकता में हुआ यह कि मेरे पास एक फोन आया। उसकी माँ ने फोन किया था। जब हम साथ में थे तब उसकी माँ और मैं फोन कॉल्स द्वारा करीब आ गए थे। उन्होंने मुझे यह बताने के लिए फोन किया कि उनका बेटा अपनी गलती पर कितना शर्मिंदा है, ना केवल मुझे धोखा देने के लिए बल्कि फिर उस सुंदरी के साथ संबंध में रहने के लिए जिससे उसे तब प्यार हुआ था जब वह मुझसे शादी करने का वादा कर रहा था। उन्होंने मुझे बताया कि उनका बेटा अवसाद में है, और समझ नहीं पा रहा था कि कैसे मुझसे बात करे। उसे भी धोखा दिया गया है। यह कर्मो का फल है।

ये भी पढ़े: सहवास के दौरान लड़की ने कहा रूको, फिर लड़के ने क्या किया?

ऐसा कोई रास्ता नहीं था कि मैं उसकी बात और माफी को मानकर उसे एक दूसरा अवसर दे सकूँ।

जब मैंने उसे दो वर्ष पहले पकड़ा था, मैंने उसे हम दोनों को एक मौका देने का कहा था लेकिन उसने इनकार कर दिया था। तीन बार। मैं पूरे एक वर्ष तक बिखरी हुई थी। मैंने सोचा था मैं बच नहीं सकूंगी। मुझे मेरे जैसी स्त्रियों की ताकत का अंदाज़ा नहीं था जो अपने अधिकारों के लिए पूरी दुनिया से लड़ी थी। हम सब बच जाते हैं, और मैं भी जी सकी।

मैं उसे फिर से मिली

मैं कॉफी के लिए उससे सप्ताहांत पर मिलने के लिए सहमत हो गई। मैं उसे एक वर्ष बाद देख रही थी। एकमात्र पुरूष जिसके साथ मैं रही थी और जिसपर सबसे अधिक भरोसा किया था, वह पुरूष जिसने मुझे अकल्पनीय दर्द दिया, होटल के कमरे में रोने के लिए मुझे अकेला छोड़ दिया था यह कह कर कि वह हमारे छः वर्षों के साथ से बाहर निकल चुका था, वह पुरूष अपने झुके हुए सर के साथ मेरे सामने बैठा था। तबसे मैंने उसके बारे में कुछ अप्रिय नहीं मांगा, सिवाये इसके की उसे कर्मों का फल मिले।

ये भी पढ़े: तीन मुख्य कष्टप्रद बातें जो लोग सेक्स के बाद करते हैं

“क्या मैं तुम्हारा हाथ थाम सकता हूँ? मैं तुम्हारे साथ ज़िंदगी गुज़ारना चाहता हूँ। जब मैं कहता हूँ कि मैं तुम्हें सबसे ज़्यादा प्यार करता हूँ इसका मतलब है कि पूरी दुनिया में ऐसा कोई नहीं है जो मुझे तुम्हारी तरह महसूस करवाता है, जिसके साथ मैं मेरा पूरा जीवन बिताने, एक किताब पढ़ने और एक परिवार होने की कल्पना कर सकता हूँ। वह तुम और सिर्फ तुम हो,’’ उसने मुझे कहा। एक वर्ष बाद उसने कहा कि वे हाथ थामते रहे हैं और अक्सर गले लगते हैं लेकिन वह अपनी भावनाओं के बारे में भ्रमित है। एक वर्ष बाद उसने कहा कि मैं उसे उसकी नई प्रेमिका के साथ आगे बढ़ने दूँ और एक सम्मानजनक तरीके से अपने जीवन में आगे बढूँ। उस समय एक बेइमान द्वारा गरिमा के अनुरोध को गले से नीचे उतारना मेरे लिए मुश्किल था।

वह माफी चाहता है

कैफे में उसने बहुत माफी मांगी। उसने अपना कार्यस्थल छोड़ने का वादा किया। यही वह जगह है जहां उन दोनों का संबंध था। मुझे नहीं लगता कि यह आवश्यक था। किसी का विश्वास तोड़ने के लिए किसी को साथ में काम करना ज़रूरी नहीं है। उसने कहा कि वह चाहता है हम जल्द ही शादी कर लें। क्या मेरे पास उस पर विश्वास करने का कोई कारण है? मैंने सोचा मैं उन छः वर्षों के दौरान विवाहित ही थी। मुझे अपनी वफादारी साबित करने या इस संबंध में रहने के लिए किसी कानूनी ठ्प्पे वाले दस्तावेज़ की ज़रूरत नहीं थी। मेरे विचार बदले नहीं हैं।

ये भी पढ़े: 10 बातें जिससे हर देवर – भाभी इत्तेफाक रखेंगे!

हम बात कर रहे हैं। मैं फिर से उस पर भरोसा करने की कोशिश कर रही हूँ। यह आसान नहीं होगा। मैंने उसे प्यार करना कभी बंद नहीं किया, लेकिन मैं निश्चित हूँ कि उसे वह स्थान नहीं दूंगी जो मैंने उसे उन छः वर्षों के दौरान दिया था। अब मैं उसे अपने समक्ष नहीं रखूंगी। मैं कोशिश कर रही हूँ कि उसे उस दर्द की याद ना दिलांउ जो इन दो वर्षों में उसने मुझे दिए हैं। मैंने उससे बात करना शुरू कर दिया है, मेरे इस फैसले से भी मेरे दोस्त और परिवार वाले बहुत सावधान हैं। वह कहता है कि वह बदल गया है।

वास्तव में मुझे उसके बदलने की गति से ही डर लगता है।

मैं नहीं जानती कि उसके साथ मैं खुद को कहां देखती हूँ, लेकिन मैं नहीं जानती कि इसके अलावा और क्या करूँ!

मैं उसका गुप्त रहस्य नहीं बनना चाहती थी

मैं उसका गुप्त रहस्य नहीं बनना चाहती थी

मैं अत्याचारी पति से अलग हो चूकी हूँ लेकिन तलाक के लिए तैयार नहीं हो पा रही हूँ

Tags:

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

This website uses cookies to ensure you get the best experience on our website.