Hindi

उसने सोशल मीडिया पर अपने एक्स को स्टॉक किया और वजह पूछने पर यह कहा…

उनका ब्रेकअप हो गया था लेकिन वह सोशल मीडिया द्वारा अपने एक्स पर निरंतर नज़र रखती थी। क्यों?
Woman stalking on Facebook

“पता है क्या? मुझे लगता है कि उसके जीवन में एक नई लड़की आ गई है,’’ मेरी सहेली ने फोन पर व्यग्रतापूर्वक कहा, उसकी आवाज़ में डर साफ झलक रहा था।

“तो?’’ मैंने सहजता से पूछा। भले ही यह कथन रैंडम लग रहा था, मैं तत्काल जान गई थी कि वह किसके बारे में बात कर रही थी।

ब्रेकअप करना ही बेहतर है

मैं रितिका को चार साल से ज़्यादा समय से जानती हूँ और हम काफी करीबी दोस्त थे। मैंने उसे दो साल लंबे रिश्ते के उतार चढावों को नेविगेट करते हुए देखा था, जो अंततः पिछले साल खत्म हो गया। और यह एक सुखद ब्रेकअप भी नहीं था। इसकी बजाय, यह मैसी था। उसने अपने एक्स को धोखा देते हुए पकड़ लिया था, और उसके बाद रोना-धोना, झगड़े, कन्फ्यूज़न और ब्रेकअप और पैचअप की एक श्रृंखला हुई। आखिरकार, काफी महीनों के दुख के बाद, उसने संबंध को तोड़ने का फैसला किया था, जो लगातार झूठ और विश्वासघात से ज़हरीला हो गया था।

ये भी पढ़े: मेरे प्रेमी ने किसी और से शादी कर ली है और मैं अवसादग्रस्त हूँ

रितिका, पिछले हफ्तों से लगातार किसी को डेट कर रही थी और खुश दिखती थी, और यही बात मुझे परेशान कर रही थी कि उसे अब भी अपने एक्स के जीवन में इतनी दिलचस्पी क्यों थी? उसे क्या फर्क पड़ता था कि उसका एक्स किसी को डेट कर रहा है या नहीं?

लगातार ओब्सेस हो रही थी

और यह पहली बार नहीं था। मैंने अक्सर उसे उसके एक्स की फेसबुक प्रोफाइल चैक करते हुए देखा था, वह ट्विटर पर दैनिक जीवन की जो भी छोटी-छोटी चीज़ें लिखता था उसपर विश्लेषण करते हुए देखा था, और यहां तक कि वह हर उस नए व्यक्ति की प्रोफाइल चैक करती थी जिससे वह दोस्ती करता था। यह लगभग पैथालॉजिकल जुनून बन चुका था। मैंने उसके साथ इस बारे में बात करने की कोशिश कई बार की थी, लेकिन वह बस अपना हाथ हिलाकर कह देती थी ‘‘यह सिर्फ मज़े के लिए है,’’ और टॉपिक चेंज कर दिया करती थी।

ये भी पढ़े: जिसने मुझे धोखा दिया उस प्रेमी के लिए एक पत्र

उसकी उंगलियां लगभग एक आवेग में उसकी प्रोफाइल तक पहुंच जाती थी और वह उसकी लेटेस्ट तस्वीरों और अपडेट्स को देखते हुए काफी समय बिताती थी। वह उन पर कमेंट नहीं करती थी लेकिन उसके जीवन में होने वाली घटनाओं से खुद को एक चौंकाने वाली अनियमितता के साथ जागरूक रखती थी, और यह लगभग चिंताजनक था।

“क्या तुम अब भी उससे प्यार करती हो?’’ मैंने पूछा।

“मैं नहीं जानती,’’ उसने एक पल सोचने के बाद कहा।

“क्या तुम वापस उसके साथ होना चाहती हो,’’ मैंने आगे पूछा।

“नहीं। मैं उसके बिना बहुत खुश हूँ,’’ उसने कहा। जिसने हम दोनों को फिर उसी प्रश्न पर लाकर छोड़ दिया -फिर क्यों?

क्या वह सिर्फ यह जानने के लिए उत्सुक थी कि उसके जीवन में क्या चल रहा है?

या फिर वह सोचती थी कि क्या उसका एक्स उसके बिना खुश है?

ये भी पढ़े: पचास की उम्र में तलाक

क्या वह अवचेतन रूप से उसके जीवन में आई नई लड़की से खुद की तुलना कर रही थी?

या फिर वह सिर्फ आदत की वजह से ऐसा कर रही थी, कनेक्शन का निशान ढूंढने के लिए, भले ही वे दोनों अब बात भी नहीं करते थे?

सभी व्यवहारिक मानकों से, रितिका उससे पूरी तरह दूर हो चुकी थी। लेकिन स्पष्ट रूप से, अब भी कुछ बाकी था। और यह निश्चित रूप से प्यार तो नहीं था। जहां से मैं देख रही थी कि उसने एक प्रकार का भावनात्मक अलगाव हासिल कर लिया था, लेकिन वह एक अस्वस्थ भावनात्मक व्यवहार के लूप में फंसी थी।

मेरी सहेली से पूछने के लिए मेरे पास बहुत से प्रश्न थे, और कहने के लिए भी उतनी ही चीज़ें थीं। लेकिन मैंने खुद को रोक लिया। मैं चाहती थी कि वह अच्छी तरह सोच विचार कर ले। मैं उसे ऐसा कुछ नया नहीं बता दूंगी जो वह पहले से नहीं जानती थी। वह इस सब की व्यर्थता के बारे में पहले से ही जानती थी – उसे बस एक धागा ही काटने की ज़रूरत थी। और यह सिर्फ वह खुद ही कर सकती थी। हालांकि, उसे देखकर, मुझे एक (या दो) अहसास हुए।

मेरा कुछ सामान

पीछे देखने पर, जीवन में उसके लिए इतना कुछ होने पर भी, शायद वह पीछे मुड़ कर रॉनित को नहीं देख रही थी – वह व्यक्ति जो अब उसके जीवन का हिस्सा नहीं था, बल्कि वह खुद के उन अंशों को देख रही थी जो वह उसके साथ छोड़ आई थी।

ये भी पढ़े: दो विवाह और दो तलाक से मैंने ये सबक सीखे

प्यार की कहानियां जो आपका मैं मोह ले

भले ही यह कितना भी मुश्किल और मोहक लगे, वह खुद के साथ उचित नहीं कर रही थी। जो खो चुका है उस पर चिपके रह कर, वह ना सिर्फ उसके भावनात्मक विकास से बल्कि विरक्ति की खुशी से भी इंकार कर रही थी। ऐसा करने में कोई बुराई नहीं है, लेकिन कभी ना कभी उसे यह छोड़ना होगा। वह अंश उसके एक्स के लिए ही थे। और उन्हें छोड़ देने से उसमें कोई कमी नहीं आ गई है।

पति का अफेयर मेरी सहेली से था, मगर हमारे तलाक का कारण कुछ और था

काश मैं जान पाता कि मेरी पत्नी ने दूसरे विवाहित पुरूष के लिए मुझे क्यों छोड़ दिया

विधवा होने के बाद, उसके माता-पिता भी उसे सामान्य और सुखी देखना नहीं चाहते थे

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also enjoy:

Yes No