Hindi

एक विवाहेतर संबंध के दो पहलू

निष्टा का सिक्का उछालना
People-on-Bench

“या तो आप प्यार में हो सकते हैं या बुद्धिमान हो सकते हैं” बॉब डायलान

एक फिल्म से राजकपुर का डायलॉग याद करें, ‘‘प्यार में बड़े से बड़ा आदमी भी बच्चा बन जाता है जी,’’। और फिर हमारे पास ‘अंधे प्यार’ का वाक्यांश है। और हम जानते हैं कि अपनी प्रेयसी के पास जाने की कोशिश में कालिदास सांप को रस्सी समझकर उसके सहारे उपर चढ़ गया था! यह कोई रहस्य नहीं है कि प्रेम, भले ही कितना भी आकर्षक और मादक क्यों ना हो, वह हमें बेवकूफ, तर्कहीन और मूर्ख बना देता है। जब यह छुप कर आता है, तो हम बिल्कुल बेफिक्र हो जाते हैं और नतीजों की परवाह नहीं करते, हमारे प्रेमी से ज़्यादा महत्त्वपूर्ण और कुछ नहीं होता। स्पेक्ट्रम के दूसरे छोर पर, जब प्यार एकतरफा हो तो यह हमें आत्महत्या करने को आतुर अवसादग्रस्त पागलों में बदल सकता है, या इसके विपरीत एक ऐसे पागल व्यक्ति में बदल सकता है जो पूरी दुनिया से गुस्सा है। लेकिन अक्सर, यह प्यार ही है जो उदासीन हो चुके व्यक्ति के उद्धारकर्ता के रूप में आता है। प्यार अकेले ही हमारे जीवन में अर्थ और योग्यता ला सकता है और हमारे दिन तथा रातों को भौतिक रूप से साथ और आराम से भर सकता है।

ये भी पढ़े: उसने अपने पति को धोखा दिया और अब डरती है कि कहीं उसका भी कोई संबंध ना हो

cheating-signs
Representative Image Image Source

अब, कल्पना करो की यह अनिवार्य विश्वास, जिसकी हिफाज़त बहुत लगन से की गई हो, उस पर ठप्पा लगाकर सील बंद किया हो, लेकिन उसमें छेद हो जाएं। और फिर वैक्यूम बंद डिब्बे लीक होने लगते हैं…और यह जानने से बदतर क्या हो सकता है कि हाड मांस का शरीर जिसपर सिर्फ हमारा अधिपत्य था, वह किसी और की बाहों में सूकून पा रहा है? हर अन्य शब्द को फीका करते हुए जो शब्द उभरता है वह है धोखा! हम अपना आपा खो देते हैं! यदि एक वैध प्यार हमें तर्कहीन, बेवकूफ और मूर्ख बना सकता है, तो क्या आप कल्पना कर सकते हैं कि इस प्यार का विश्वासघात हमारे लिए क्या कर सकता है? खासकर जब उस प्रेम पर बहुत सारी चीज़ें निर्भर होती हैं हम, बच्चे, परिवार, घर, काम। हमें अपने दिमाग और लगाव को खोना होता है। हम झूठ बोलने पर क्रोधित होते हैं, असहाय महसूस करते हैं और इस तरह निराश और प्रतिकूल महसूस करते हैं, अपमानित होने पर दर्द महसूस करते हैं, हम धोखा दिए जाने पर स्वयं पर दया खाने लगते हैं, और हम भावनात्मक दर्द और शक से भरे भविष्य में झुलस जाते हैं -क्योंकि हम ऐसे साथी पर कैसे भरोसा कर सकते हैं जिसने इस तरह का मौलिक विश्वासघात किया है!
[restrict]
ये भी पढ़े: जब प्रेमिका ने शादी से पहले सम्बन्ध को मना किया तो मैं बहक गया

जब हमें अपने साथी के संबंध के बारे में पता चलता है तो हम पहला प्रश्न पूछते हैं ‘क्यों’? और हम निष्कर्ष निकाल लेते हैं कि कुछ बहुत गड़बड़ है। इनमें से एक के साथ –

साथी के साथ -यह कि पत्नी एक वेश्या है और पति एक पुरूष वेश्या है। यह कि वह अब और प्यार नहीं करता, अगर उसने कभी प्यार किया हो तो। यह कि वह ऐसी नहीं निकली जैसा पति ने सोचा था, अब तक वह उसके बारे में जो भी जानता था वह एक बड़ा झूठ था। इस तरह के आदमी के साथ अब कोई भविष्य नहीं हो सकता -क्योंकि जो एक बार धोखा देता है वह हमेशा धोखा देता है। और यह उल्लंघन दशकों तक चली साझी याद की तुलना में बड़ा हो जाता है।

पितृसत्तात्मक रीति-रिवाज़ों का मानना है कि जब कोई पुरूष चक्कर चलाता है तो पत्नी में कोई कमी होगी, नारीवादी सिद्धांत आश्वस्त करते हैं कि अगर एक पुरूष यहां वहां मूंह मार रहा है तो वह नीच है। कई बार धोखा देने वाला साथी जानबूझ कर/अवचेतन मन से यह दोष अपने साथी के मत्थे मढ़ देता है कि उसने ऐसी स्थितियां उत्पन्न की जिसने उसे विवाहेतर संबंध बनाने के लिए प्रेरित किया। पुरूषों द्वारा उद्धत सबसे आम कारण उनके साथी की सेक्स में अरूचि है; स्त्रियों के लिए, यह पुरूष की भावनात्मक रूप से अनुपलब्धता है।

ये भी पढ़े: एक्स्ट्रामैरिटल अफेयर के शुरू और खत्म होने का रहस्य

EMOTIONALLY-UNAVAILABLE
Image Source

आपके साथ – आपका कद छोटा है इसलिए आप अपने पति के प्यार के योग्य नहीं हैं। इसलिए आपके साथी को उस चीज़ को पाने के लिए बाहर जाना पड़ा जो आपके पास नहीं थी।

भले ही हम अपने धोखा देने वाले साथियों के सामने खुले तौर पर सहमत नहीं हो सकते, लेकिन गहरे स्तर पर अपनी असफलताओं को उनके किए का दोषी मानेंगे। हमारे साथी के विचारों में स्वयं का प्रतिबिंब देखने की इच्छा हमारे अवचेतन मन में गहराई से मौजूद होती है। ये छिपी हुई अचेतन शक्तियां बताती हैं कि सभी सफल और शक्तिशाली लोग अपने प्रेम संबंधों में उतने ही कमज़ोर क्यों होते हैं। क्रॉस एंड मैडसन, 1997; मार्टिन एंड रूबल 1997, के अनुसार यह प्रवृत्ति इस तथ्य से भी संबंधित प्रतीत होती है कि स्त्रियों की आत्म अवधारणा पुरूषों की तुलना में कहीं अधिक होती है, दूसरों के साथ उनके संबंधों के संदर्भ में, और स्त्रियाँ अपर्याप्त महसूस करती हैं जब उनके प्रतिद्वंदी से उनसे आगे निकलने की उम्मीद की जाती है। इसके अलावा, साथी के व्यभिचार के साथ सामना होने पर स्वयं को दोष देने की स्त्रियों की मज़बूत प्रवृत्ति, पुरूषों की तुलना में ज़्यादा निर्भर होने के कारण हो सकती है (वूड एंड इगली 2000)।

ये भी पढ़े: विवाह से बाहर किसी दोस्त में प्यार पाना

दीर्घकालीन संबंधों में, हम अपनी भूमिका में स्थिर हो जाते हैं, एक दोहराव के फंदे में फंस जाते हैं। सब कुछ उबाऊ रूप से दोहराया गया लगता है। एक संबंध एक साफ स्लेट और एक ताज़ा अप्रत्याशितता, एक नवीनता प्रदान करता है। जब हम इनमें लिप्त होते हैं, तब हम प्रसन्न होते हैं, चकित होते हैं, सूकून या रोमांचित महसूस करते हैं क्योंकि इस संबंध में हम अपने विवाहित रूप से बहुत अलग व्यक्ति प्रतीत होते हैं। हम ज़्यादा मजे़दार, ज़्यादा कामुक, ज़्यादा स्मार्ट, ज़्यादा सहानुभूतिशील, बुद्धिमान, दयालु, अधिक अद्भुत, अधिक संतुष्ट और स्वयं से प्रसन्न होते हैं! आखिरकार यह एक या दो घंटे के लिए होता है, कभी-कभी यह यहां-वहां एक छिटपुट सप्ताहांत होता है। भ्रम बनाए रखना आसान होता है, स्वयं के बारे में भी। रोमांस हवा जैसा है अगर गुप्त रूप से किया जाए, छोटी-छोटी मुलाकतों में जहां वास्तविक जीवन द्वारा हस्तक्षेप किए जाने की संभावना ना हों। और यह एक ऐसा स्थान है जहां हमने स्वयं का पूरा वास्तविक स्वरूप भी साझा नहीं किया होता। आपने स्वयं का सर्वश्रेष्ठ रूप दिखाया होता है और सामने वाले ने भी। यह रोमांस का पहला चरण है और यह पूरी तरह आदर्श है! यह इच्छित और इच्छित होने एवं आकर्षक और आकर्षित होने की चाह में लिपटा आपका ही रूप है। आपको विशेष माना जाता है। आपको सुना जाता है, समझा जाता है, प्रशंसा की जाती है और आपकी इच्छा की जाती है। यह एक आत्मविश्वास निर्माता है। आप एक अलग अर्थ में मान्य महसूस करते हैं। आपको दिलचस्प और यौन रूप से आकर्षक माना जाता है। आपको सेक्स के लिए भीख नहीं मांगनी पड़ती या इसे खैरात में नहीं बांटना पड़ता। इस गुप्त दुनिया में, आप आदर्श होते हैं, आपका प्रेमी आदर्श होता है और दुनिया आदर्श होती है। कितने सारे उपहार! आपका अपना गुप्त आदर्श संसार। एक ऐसा विश्व जिसमें ज़िम्मेदारियां, अपेक्षाएं, ईएमआई, बिल, बच्चे, हाउसकीपिंग या नियम शामिल नहीं हैं। व्यभिचार की उच्च कला छोटे आदर्श पल चुराने के बारे में है। आप जानते हैं कि आप जो कर रहे हैं वह गलत है, लेकिन यह इतना सही लगता है। यह आपका रहस्य है और यह रोमांचक है।

cheating-on-your-spouse
Representative Image Image Source

एक ऐसे संबंध में होना जिसमें आप वांछित और मूल्यवान हैं, हद से ज़्यादा स्वादभरा हो सकता है! शोधकर्ताओं के मुताबिक, संबंधों में गोपनीयता वास्तव में जुनून की आग भड़काती है। वेगनेर, लेन और दिमित्री ने प्रस्तावित किया था रोमांटिक गोपनीयता रोमांटिक संबंधों के आकर्षण को बढ़ाती है। मस्तिष्क वास्तव में हमें उन चीज़ों के बारे में सोचने पर मजबूर करता है जिन्हें हम भूलने की कोशिश करते हैं। हम चालाकी से बनाए गए संबंधों के बारे में सोचते रहते हैं।

ये भी पढ़े: मेरे प्रेमी की प्रिय पत्नी, मैं तुम्हारा घर तोड़ने के लिए खुद को दोषी नहीं मानती

साइबर संबंधों की जिस दुनिया में हम रहते हैं, उसमें गुप्त आदर्श संसार बनाना बहुत आसान हैं दोनों एक दूसरे में फंतासी और आभासी दुनिया की आवश्यकता को बढ़ाते हैं। अपनी डेस्क पर बैठे-बैठे या फिर घर पर या काम करते हुए, या फिर यात्रा करते या लांज, सैलून या क्लिनिक में इंतज़ार करते हज़ारों लोग इस छोटे से प्रेमालाप का इंतज़ार करते हैं और उसकी चाह रखते हैं। बिस्तर पर लेटना भी इस हद तक सहज हो सकता है।

संबंध नाटकीयता, जोखिम और उत्तेजना की लालसा को पूरा करते हैं। और यह एक प्रणाली के खिलाफ एक विद्रोह है। यह वास्तव में ‘निषेध फल’ खाना है!

संबंध आपकी जिज्ञासा को पूरा करते हैं। यह देखने के लिए कि कैसे। दूसरे के साथ सेक्स कैसे हो सकता है? आपका शरीर कैसी प्रतिक्रिया देगा? क्या आपकी कामेच्छा बढ़ जाएगी? क्या आपके शरीर को उसकी चाह है?

आप कभी अकेले नहीं होते। मैसेज भेजना, उन्हें प्राप्त करना, मेल चैक करना, फोन कॉल, एक मुलाकात करना, मुलाकात के बारे में सोचना, उसके लिए तैयारी करना। और जब इसमें से कुछ भी नहीं होता तो आप अपने प्रेमी के बारे में जागती आंखों से सपने देखते हैं। आप वास्तव में कभी अकेले नहीं होते!

ये भी पढ़े: एक ‘हैप्पिली एवर आफ्टर’ विवाहेतर संबंध?

और फिर यह संवाद के बारे में है। आपके पास ऐसा कोई है जो आपके अन्यथा नीरस जीवन के बारे में हर छोटी चीज़ साझा करने को तैयार है।

और फिर यह जानकारी आनंददायक हो सकती है कि आपके पास अब भी किसी को लुभाने की क्षमता है।

त्रासदी, बिमारी या क्षति के मामले में, संबंध एड्रेनालाइन का एक शॉट प्रदान कर सकता है जो किसी के खोए उत्साह को पुनः प्राप्त करने में मदद कर सकता है। आखिरकार, यह सेक्स नहीं है जो व्यभिचारपूर्ण संबंधों को कायम रखता है बल्कि सेक्स के बारे में बात करना और स्वयं के बारे में हमारे विचार को बदलने की शक्ति इसे कायम रखती है।
[/restrict]

जब आपको सच्चा प्यार मिलेगा तब आपको कैसे पता चलेगा?

मैं अपने विवाह में सुखी थी और फिर भी मैंने अपने एक्स के साथ संबंध बना लिया।

  • Facebook Comments

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    You may also enjoy: