वह एक वस्तु जो मैं चाहता हूँ, लेकिन वह नहीं

Ramendra Kumar
Man-in-Need

मेरी पत्नी रीया और मैं एक-दूजे के लिए बने हैं केवल एक क्षेत्र छोड़कर, जो मेरे लिए विवाहित जीवन का लगभग सबसे अहम भाग है और उसके लिए केवल एक अतिरिक्त कार्य है। हाँ, आपने सही पहचाना -सेक्स।

एक तेज़ उतार-चढ़ाव वाले रोमांस के बाद हमारा विवाह को गया। प्रारंभिक शारीरिक समागम आनंदमय थे। हमने वासना का लगभग परम भागफल प्राप्त कर लिया था और मैं 69वें आसमान, माफ करना 7वें आसमान पर था।

ये भी पढ़े: क्यों बंगाल में नवविवाहित जोड़े अपनी पहली रात साथ में नहीं बिता सकते

हमारे विलंबित हनीमून के दौरान मैंने पहली समस्या पर गौर किया। हम गुलमर्ग में थे, सुबह का समय था और मौसम वार्मअप के लिए बिल्कुल सही था। जैसे ही मैं उसके पास पहुँचा, उसने बात काट दी, ‘‘यह हम घर पर भी कर सकते हैं। हम यहाँ पर सुहाने दृश्य देखने आए हैं। हमें समय बर्बाद ना करते हुए बाहर जाकर आनंद लेना चाहिए।”

“समय बर्बाद!’’ मैं स्तंभित रह गया था। कोई प्रेम करने को समय की बर्बादी कैसे कह सकता है? क्या कोई बात इससे अधिक अपवित्र हो सकती है?’’

खैर, हम दो बार ‘समय बर्बाद’ करने के बाद वापस ज़मीन पर लौट आए।

पुरूष मंगल ग्रह से होते हैं और महिलाएँ शुक्र से। हमारे मामले में हम दोनों आवृत्तियों और विविधता के आधार पर भिन्न आकाशगंगाओं से थे। जहाँ मैं हमेशा अपनी ‘‘दैनिक खुराख” चाहता हूँ वहीं वह महीने में एक बार के राशन के साथ खुश रहती है।

और जब भी मैं इस कार्य को थोड़ा मसालेदार बनाने को कहूँगा, वह बरस पड़ेगी। वह मिशनरी पद की ऐसी भक्त थी कि कभी-कभी मैं सोच में पड़ जाता था कि उसकी संरक्षक संत कहीं मदर टैरेसा तो नहीं थी।

ये भी पढ़े: जब मेरे पति ‘मूड’ में होते हैं

जब पहली बार मैंने उसके सामने 69 का उल्लेख किया तब उसे समझ नहीं आया। और जब मैंने इशारों का सहारा लेकर समझाने की कोशिश की तो वह बिफर पड़ी। और अगले छह दिनों और नौ घंटो तक मुझे मिशनरी तक के दर्शन नही मिले।

मैं कभी सेक्स में उसकी अरूची का कारण पूरी तरह समझ नहीं पाया। वह सुंदर है, मुझे पागलों की तरह प्यार करती है, एक-दूसरे के साथ हमारी बहुत ज़्यादा पटती है, लेकिन बारी जब सेक्स की आती है तो हमारे विचार एक-दूसरे के साथ बिल्कुल मेल नहीं खाते!

wife-refusing-sex (1)

हम अब भी इसके लिए झगड़ते हैं Image Source

हर बड़ा झगड़ा जो हमारे बीच हुआ वह सेक्स को लेकर था और विवाह के इतने वर्षों बाद भी यही एकमात्र ऐसा मुद्दा है जिसपर हम आपस में सहमत नहीं होते।

रिया के समक्ष मेरी निरंतर प्रार्थना और आग्रह है (क्षमा करना जॉन वेसले):

“मेक ऑल दि लव यू कैन। इन ऑल दी वेज़ यू कैन। इन ऑल दी प्लेसेस यू कैन। एट ऑल दी टाइम्स यू कैन….’’

(जैसा रविंदर कुमार को बताया गया)

पुरूष पहली ‘डेट’ में स्त्री के बारे में क्या नोटिस करते हैं

क्या एक विवाहित स्त्री को डेट करना गलत है?

You May Also Like

Leave a Comment

Login/Register

Be a part of bonobology for free and get access to marvelous stories and information.