यह सुखी जोड़ा और उनका स्वतंत्र विवाह

by Biswadeep Ghosh
happy-couple
Spread the love

“कोई विवाह में सुखी होते हुए भी उसके बाहर संबंध रख सकता है,’’ ऋषि ने ज़ोर देकर कहा। वह मिलने आया था और मेरे घर की बैठक में बात करते हुए हम नाश्ता कर रहे थे।

“लेकिन क्या शादी अलंघनीय नहीं होती?’’ मैंने बोलते समय उसे घूरा।

“बेशक होती है। हालांकि, अलंघनीय के बारे में मेरी व्याख्या यह है कि किसी को अपने साथी से अपने विवाहेतर संबंध छुपाने नहीं चाहिए,’’ उसने मुस्कुराते हुए उत्तर दिया।

“मतलब की ….’’

ऋषि ने मेरी बात काट दी। ‘‘देखो, सीमा (पत्नी) और मैं हम दोनों बहुत पहले ही जानते थे की शादी के बाद हम स्वतंत्र विवाह में रहेंगे। इसलिए, हमें कोई समस्या नहीं है,’’ उसने कहा। वह कुछ देर के लिए रूका, और फिर उसने जोड़ा, ‘‘हम एक सुखी जोड़ा हैं।’’

हम अपने संबंधों के बारे में स्पष्ट हैं

बड़े होने के साथ कई सारे अनुभव आते हैं। मुझे अपने हिस्से के अनुभव मिल चुके थे; फिर भी, मैंने बहुविवाह के बारे में ऋषि से पहले किसी से बात नहीं की थी और उस दिन मैं उस बारे में बात करने लगा।
[restrict]
ये भी पढ़े: प्रेमी से कम, दोस्त से ज़्यादा

एक-एक करके, ऋषि अपने जीवन से कहानियां साझा करने लगा। मैं उस जोड़े को लगभग पांच वर्षों से जानता था, लेकिन यह पहली बार था जब पति बात कर रहा था।

सीमा और मैं हमारे संबंधों के बारे में बहुत स्पष्ट हैं। उदाहरण के लिए, वह पिछले कुछ महीनों से अपने कार्यस्थल से अपने एक सहकर्मी को डेट कर रही है। हाल ही में वो दोनों एक छोटी छुट्टियों के लिए मॉरीशस गए थे। योजना बनाने से पहले उसने मुझे सूचित कर दिया था। हमारे लिए यह इस तरह काम करता है,’’ उसने कहा।

एक असाधारण शादी

“क्या इस तरह के संबंध तुम्हें असहज नहीं बनाते? मेरा मतलब है तुम दोनों विवाहित हो….’’

ऋषि ने हस्तक्षेप किया। ‘‘असहज? नहीं ऐसा नहीं होता। मैं इनका अभ्यस्त हो चुका हूँ और सच कहूँ तो वह भी। मैंने ऐसे सहकर्मियों को डेट किया हे जो सुविदित रूप से लंबी अवधि के संबंध रखने के इच्छुक नहीं हैं। मेरी वर्तमान गर्लफ्रैंड एक प्यारी लड़की है जिसे सीमा भी अच्छे से जानती है और उसे कोई समस्या नहीं है जिस तरह मुझे उसके संबंध से कोई समस्या नहीं है।’’

ये भी पढ़े: यही कारण है कि पूर्वनिर्धारित और स्वाभाविक दोनों सत्र आवश्यक हैं

मैं यह समझने में असफल रहा की यह जोड़ा अपने विवाहेतर प्रेम प्रसंगों के बारे में इतना खुल केसे सकता है- और विवाहित होते हुए। मैं हैरान रह गया की किस तरह वे दोनों अपने एकमात्र बच्चे की देखभाल करते थे, बाहर पारीवारिक डिनर पर जाते थे और अपने-अपने प्रेमी के साथ समय बिताने के लिए एक-दूसरे के जीवन से दूर हो जाते थे।

मैं हैरान रह गया की किस तरह वे दोनों अपने एकमात्र बच्चे की देखभाल करते थे, बाहर पारीवारिक डिनर पर जाते थे और अपने-अपने प्रेमी के साथ समय बिताने के लिए एक-दूसरे के जीवन से दूर हो जाते थे।

मैं उसकी गर्लफ्रैंड से मिला

जैसे समय बीता, मैं उनके साथियों से मिला, जो उनके घर पर बेझिझक आते थे। एक बार, मैंने एक घंटे से ज़्यादा असहज समय बिताया जब ऋषि की गर्लफ्रैंड और मैं डिनर के लिए आमंत्रित थे। अनीता (यह उसका नाम था) ऋषि और उसकी प्रेमकहानी से छोटे छोटे किस्से सुनाती जा रही थी।

“यह इतना प्यारा है’’ वह नाटकीय ढंग से बुदबुदाई, ‘‘यह मेरा अधूरा काम खत्म करने में मेरी सहायता करता है ताकि हम दोनों फटाफट मेरे घर भाग सकें और थोड़े एकांत का आनंद ले सकें।’’

“ओह, जब हमारी शादी नहीं हुई थी तब यह मेरे लिए भी ऐसा करता था। अब, मुझे लगता है कि इसकी प्राथमिकताएं बदल गई हैं,’’ अपने मुस्कुराते हुए पति को आँख मारते हुए सीमा चहकी। भले ही उसे ईर्ष्या हो रही हो, उसने निश्चित रूप से यह दिखाया नहीं।

मेरी समस्या यह थी कि मुझे सीमा और ऋषि पसंद थे। आसानी से घुलने-मिलने वाले और मधुरभाषी, फिल्मों, किताबों और संगीत में उनकी पसंद बहुत अच्छी थी। वे सार्थक चर्चा में भाग ले सकते थे, और इसके अलावा, दोनों मज़ाकिया स्वभाव के थे। मैं उनके साथियों से मिलते समय यदा-कदा ही सहज होता था, जो वे दोनों समझते थे। लेकिन जिससे भी मेरी भेंट होती थी वे उससे मेरा परिचय करवाते थे, टाल-मटोल की जगह स्पष्टवादिता का चयन करते हुए।

और फिर मैं उसके ब्वॉयफ्रैंड से मिला

मुझे अब भी याद है आखिरी दिन जब मैं उनके घर गया था। ऋषि शहर से बाहर गया हुआ था, सीमा ने मुझे बताया। उसने मेरे लिए एक कप कॉफी बनाने की पेशकश की, जिसे मैंने उनके लिविंग रूम में बैठते हुए स्वीकार कर लिया।

कुछ देर बाद, एक युवा पुरूष घर के अंदर से आया और हमारे साथ बैठ गया। उसने ट्रैक सूट पहन रखा था और उसकी उम्र सीमा से काफी कम लग रही थी।

ये भी पढ़े: जब मुझे पता चला मेरी पत्नी लेस्बियन है
“रवि ना केवल मेरा सबसे प्रतिभाशाली सहकर्मी है, आजकल यह मेरे जीवन में सबसे खास पुरूष भी है,’’ सीमा ने उसका परिचय करवाया।

यह पहली बार हुआ था जब मैं सीमा से उसके ब्वॉयफ्रैंड के साथ मिला जब ऋषि वहां नहीं था। मैंने यहां वहां की बातें की और फिर कॉफी निगल गया और फटाफट उन्हें गुडबाय कह कर घर से निकल आया।

मैं इस जोड़े से मुंबई में मिला था। और, मुंबई वह शहर है जो मैं एक दशक से अधिक समय के लिए छोड़ चुका हूँ। काफी लंबे समय तक, मैं सोचता रहा कि ऋषि और सीमा ने विवाहेतर संबंध बनाए, साथी बदले, फिर भी समरसता के साथ रहे।

दस वर्षों बाद, मुझे उम्मीद है कि वे ठीक होंगे।
[/restrict]

पति और एक्स के सैक्स्ट पढ़ पत्नी ने लिया ये अनूठा कदम

क्षत विक्षत पासपोर्ट और एक सुदृढ़ विवाह

Leave a Comment

Related Articles